55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन - Khushboo Shayari


 55+ खुशबू Shayari का  बेहतरीन कलेक्शन - Khushboo Shayari


दोस्तों आज के हिंदी शायरी के इस आर्टिकल में पढ़ सकते हैं खुशबू shayari का मजेदार कलेक्शन साथ ही पढ़ सकते हैं Khushboo Shayari 2 lines, Khushabu Status, khushboo Whatsapp Status

Khushabu-Shayari
 55+ खुशबू Shayari का  बेहतरीन कलेक्शन - Khushboo Shayari

तो देर कैसी आईये पढ़ते Khushboo Shayari 2 lines के इस पोस्ट को और शेयर करते हैं इसे फेसबुक और व्हात्सप्प पर  

खुशबू Shayari 

💐 1
बडी खामोशी से भेजा था गुलाब उसको.
पर खुशबू ने शहर भर में तमाशा कर दिया.

Badi Khamoshi Se Bheja Tha Gulaab Usako,
Par Khushabu Ne Shahar Bhar Me Tamaasha Kar Diya.

💐 2
इश्क के फूल खिलते हैं तेरी खूबसूरत आंखों में,
जहां देखे तू एक नजर वहां खुशबू बिखर जाए.

Ishk Ke Fool Khilate Hai Teri Khubsurat Ankho Me,
Janha Dekhe Tu Ek Nazar Waha Khushabu Bikhar Jaaye.

💐 3
गुलाब की खुशबू भी फीकी लगती है,
कौन सी खूशबू मुझमें बसा गई हो तुम,

जिंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा,
ये कैसा ख्वाब आंखों में दिखा गई हो तुम.

Gulaab Ki Khushabu Bhi Fiki Lagati Hai,
Kain Si Khushabu Mujhame Basaa Hayi Ho Tum,

Zindagi Hai Kya Teri Chahat Ke Siwa,
Ye Kaisa Khwaab Ankho Me Dikha Gayi Tum.

💐 4
वक्त के मोड़ पे ये कैसा वक्त आया है
जख्म दिल का जुबाँ पर आया है,

न रोते थे कभी कांटो की चुभन से
आज न जाने क्यो फूलो की खुशबू से रोना आया है.

Waqt Ke Mod Pe Ye Kaisa Waqt Aaya Hai
Zakhm Dil Ka Jiba Par Aaya Hai,

Na Rote The Kabhi Kanto Ki Chubhan Se
Aaj Naa Jaane Kyu Foolo Ki Khushabu Se Rona Aaya Hain.

💐 5
किनारे बैठी हूँ तेरी यादों के सहारे
हर लहर इक एहसास जगाती है
मुझे हवा से भी  तेरी ही खुशबू आती है.

Kinaare Baithi Hun Teri Yaado Ke Sahaare
Har Lahar Ek Ehasaas Jagaati Hai
Mujhe Hawa Se Bhi Teri Hi Khushbu Aati Hai.



💐 6
खुशबू की तरह आया वो तेज हवाओं में,
माँगा था जिसे हमने दिन-रात दुआओं में.

Khushabu Ki Tarah Aaya Wo Tez Hawaaon Me
Manga Tha Jise Hmane Din-Raat Duaaon Me.



💐 7
बड़ी ख़ामोशी से भेजा था गुलाब उसको,
पर ख़ुशबू ने शहर भर में तमाशा कर दिया.

Badi Khamoshi Se Bheja Tha Gulaab Ka Pool Usako
Par Khushbu Ne Shahar Bhar Me Tamaasha Kar Diya.



💐 8
ख़ुशबू तेरी प्यार की मुझे महका जाती हैं,
तेरी हर बात मुझे बहका जाती हैं,

साँस तो बहुत देर लेती है आने में
हर साँस से पहले तेरी याद आती हैं.

Khushabu Teri Pyaar Ki Mujhe Mahaka Jaati Hai
Teri Har Baat Mujhe Bahaka Jaati Hai,

Sans To Bahut Der Leti Hai Aane Me,
Har Sans Se Pahale Teri Yaad Aati Hai.



💐 9
तन्हाई मेरे दिल में समाती चली गयी,
किस्मत भी अपना खेल दिखाती चली गयी,

महकती फिज़ा की ख़ुशबू में जो देखा प्यार को,
बस याद उनकी आई और रूलाती चली गयी.

Tanhaayi MERE Dil Me Samati Chali Gayi,
Kismat Bhi Apana Khel Dikhati Chali Gayi,

Mahakati Fija Ki Khushbu Me Jo Dekha Pyaar Ko
Bas Yaad Unaki Aayi Aur Rulaati Chali Gayi.



💐 10
हमसे दूर जाओगे कैसे,
दिल से हमें भुलाओगे कैसे,

हम वो ख़ुशबू है जो साँसों में बसते है
खुद की साँसों को रोक पाओगे कैसे.

Hamase Dur Jaaoge Kaise
Dil Se Hame Bhulaoge Kaise?

Ham Wo Khushbu Hai Jo Sanson Me Basate Hai
Khud Ki Sanson Ko Rok Paoge Kaise?




💐 11
तेरी यादों की ख़ुशबू से हम महकते रहते है,
जब-जब तुझको सोचते है, बहकते रहते हैं.

Teri Yaadon Ki Khushbu Se Ham Mahakate Rahate Hai,
Jab-Jab Tujhako Sochate Hai, Bahakate Rhaate Hai.



💐 12
इक फूल है फूल किधर जायेगी,
बात खुशबुओं का है जो हवाओं में बिखर जायेगी.

Ek Phool  Hai Phool Kidhar Jayegi
Baat Khushbuon Ka Hai Jo Hawaaon Me Bikhar Jayegi.



💐 13
सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,

हजारों फूल देखे हैं इस गुलशन में मगर,
खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो.

Safar Wahi Tak Hai Janha Tak Tum Ho
Nazar Wahi Tak Hai Janha Tak Tum Ho

Hazaaro Phool Dekhe Hai Is Gulashan Me Magar
Khushbu Wahi Tak Hai Janha Tak Tum Ho.



💐 14
ख़ुशबू-सी बेटियाँ जब गले लगती हैं,
तो रूह तक महक उठती हैं.

Khushabu Si Betiyan Jab Gale Lagati Haim
To Ruh Tak Mahak Uthati Hai.



💐 15
 आपके प्यार के सुरूर में मैं कुछ ऐसा कर जाऊँगा,
बनकर ख़ुशबू हवा में फ़ैल जाऊँगा,

गर भूलना चाहोगे मुझे तो भूल ना पाओगे,
सांस लोगे तो मैं आपके दिल में उतर जाऊँगा.

Aapke Pyaar Ke Sarur Me Main Kuchh Esa Kar Jaunga,
Bankar Khushbu Hawa Me Fail Jaunga,

Gar Bhulana Chahoge Mujhe To Bhul Naa Paoge,
Sans Loge To Mai Aapke Dil Me Utar Jaunga



💐 16
दो दिन की जिन्दगी है, इसे दो उसूलों से जियो
रहो तो फूलों की तरह और बिखरों तो ख़ुशबू की तरह.

Do Din Ki Zindagi Hai, Ise Do Usulon Se Jiyo
Raho To Fool Ki Tarh Aur Bikharo To Khushabu Ki Tarah.

खुशबू Shayari 




💐 17
हवाँए हड़ताल पर है शायद,
आज तुम्हारी खुशबू नहीं आई.

Hawaayen Hadtaal Par Hai Shayad,
Aaj Tumhaari Khushbu Nahi Aayi.



💐 18
उगता हुआ सूरज दुआ दे आपको,
खिलता हुआ फूल खुशबू दे आपको,

हम तो कुछ देने के काबिल नहीं है,
देने वाला हज़ार खुशिया दे आपको.

Ugata Hua Suraj Duaa De Aapko,
Khilata Hua PhOOL Khushabu De Aapko.

Ham To Kuchh Dene Ke Kabil Nahi Hai,
Dene Wala Hazaar Khushiyan De Aapko.



💐 19
सिर्फ खुशबू रही, गुलाब नहीं,
तेरी यादों का भी जवाब नहीं.

Sirf Khushabu Rahi Gulaab Nahi
Teri Yaadon Ka Jawaab Nahi. 



💐 20
जब जब में लेता हूँ साँस तू याद आती है,
मेरी हर एक साँस मे तेरी खुशबू बस जाती है,

कैसे कहूँ तेरे बिना मैं ज़िंदा हूँ,
क्यूंकी हर साँस से पहले तेरी खुशबू आती है.

Jab-Jab Me Leta Hun Sans Tu Yaad Aati Hai,
Meri Har Ek Sans Me Teri Khushabu Bas Jati Hai,

Kaise Kahu Tere Bina Mai Zinda Hun
Kyuki Har Sans Se Phale Teri Khushbu Aati Hai

💐 21
तेरी सूरत भी अब खुशबू सी है,
दिखती तो नही पर महसूस करता हु.

Teri Surat Ab Khushabu Si Hai
Dikhati To Nahi Par Masus Karata Hun.

💐 22
सदाकत खुद-ब-खुद करती है शोहरत इस जमाने में..
कभी खुशबू भी कहती है,मुझे तुम सूंघ कर देखो
-
बड़ी ही खूबसूरत शाम हुआ करती थी वो तेरे साथ की
अब तक खुशबू नही गई, मेरी कलाई से तेरे हाथ की

Sadakat Khud-B-Khud Karati Hai Shoharat Is Zamaane Me,
Kabhi Khushabu Bhi Kahati Hai, Mujhe Tum Sungh Kar dekho

Badi Hi Khubsurat Sham Hua Karati Thi Wo Tere Sath Ki
AB Khushabu Nahi Gayi Meri Kalayi Se Tere Hath Ki.

💐 23
शायद कायनात भी है गुलाम तुम्हारी,
तभी तो हर बदलता मौसम लिए आता है खुशबू तुम्हारी

Shayad Kayanaat Bhi Hai Gulaam Tumhaari
Tabhi To Har Balata Mausam Liye Aata Hai Khushbu Tumhaari

💐 24
ख़ुशबू की तरह आस-पास बिखर जायेंगे,
सुकून बनकर दिल में उतर जायेंगे,

महसूस करने की कोशिश कीजिये,
दूर होकर भी आपके पास नजर आयेंगे.

Khushbu Ki Tarah Aas-Paas Bikhar Jayenge
Sukun Banakar Dil Me Utar Jayenge,

Mahasus Karane Ki Koshish Kijiye
Dur Hokar Bhi Aapke Paas Nazar Ayenge.


💐 25
ख़ुशबू ने फूल को एक अहसास बनाया,
फूल ने बाग़ को कुछ ख़ास बनाया,

चाहत ने मोहब्बत को एक प्यास बनाया,
और इस मोहब्बत ने एक और देवदास बनाया.

Khushbu Ne Fool Ko Ek Ahasaas Banaya
Phool Ne Baag Ko Kuchh Khas Banaaya,

Chahat Ne Mohabbat Ko Ek Pyaas Banaya
Aur Is Mohabbat Ne Ek Aur Devdaas Banaya.

💐 26
महसूस तो करते है मगर छू नहीं सकते,
तुम फूल नहीं, फूल की खुशबू की तरह हो.

Mahasus To Karate Hai Magar Chhu Nahi Sakate,
Tum Phool Nahi Phool Ki Khushabu Ki Tarah Ho.

💐 27
तेरे हुनर में खिलावत -ऐ -खुशबू सही मगर 
काँटों को उम्र भर की चुभन कौन दे गया 

"मोहसिन" वो कायनात -ऐ -ग़ज़ल है उससे भी देख 
मुझ से न पूछ मुझ को यह फन कौन दे गया.

TeRE Hunar Me Khilavat-E-Khushabu Sahi Magar
Kanton Ko Umr Bhar Ki Chubhan Kaun De Gaya

"Mohasin" Wo Kaayanaat-E-Ghazal Hai Usase Bhi Dekh
Mujh Se Na Puchh Mujh Ko Yah Fan Kaun De Gaya.

💐 28
राख से भी आयेगी खुशबू मोहब्बत की,
मेरे ख़त को तुम यूँ सरेआम जलाया न करो.

Raakh Se Bhi Aayegi Khushbu Mohabbat Ki
Mere Khat Ko Tum Yun SareAam Jalaya Na karo. 

💐 29
अपने किरदार को मौसम से बचाए रखना,
लौट कर फूलों में वापस नहीं आती खुशबू.

Apane Kirdaar Ko Mausam Se Bachaye Rakhana,
Laut Kar Phoolo Me Wapas Nahi Aati Khushabu.

💐 30
हम तो फूलों की तरह अपनी आदत से बेबस हैं
तोड़ने वाले को भी खुशबू की सजा देते है

Ham To Phoolon Ki Tarah Apani Aadat Se Bebas Hai
Todane Wale Ko Bhi Khushabu Ki Saza Dete Hai. 

💐 31
खुशबू बनकर गुलों से उड़ा करते हैं,
धुआं बनकर पर्वतों से उड़ा करते हैं,

ये कैंचियाँ खाक हमें उड़ने से रोकेगी,
हम परों से नहीं हौसलों से उड़ा करते हैं.

Khushabu Banakar Gulo Se Uda Karate Hai,
Dhuwa Banakar Parwaton Se Uda Karate Hai,

Ye Kaichiyan Khak Hame Udane Se Rokegi
Ham Paro Se Nahi Hausalo Se Uda Karate Hai.

Khushboo Shayari

💐 32
तन्हाईयां जाने लगी जिंदगी मुस्कुराने लगी,
ना दिन का पता है ना रात का पता.

आप की दोस्ती की खुशबू हमे महकाने लगी,
एक पल तो करीब आ जाओ धड़कन भी आवाज़ लगाने लगी..

Tanhayiyan Jane Lagi Zindagi Muskurane Lagi,
Na Din Ka Pata Hai Naa Raat Ka Pata,

Aap Dosti Ki Khushbu Hame Mahakaane Lagi
Ek Pal To Kareeb Aa Jao Dhadakan Bhi Aawaz Lagaane Lagi..

💐 33
खुशबू कैसे ना आये मेरी बातों से यारों,
मैंने बरसों से एक ही फूल से मोहब्बत की है.

💐 34
खुशबू की तरह आया वो तेज़ हवाओं में 
माँगा था जिसे हमने दिन रात दुआओं में.

Khushbu Ki Tarah Aaya Wo Tez Hawaon Me
Manga Tha Jise Hamane Din Raat Duaawo Me

💐 35
अपनी यादों की ख़ुशबू भी हम से छीन लोगे क्या?
किताब-ए-दिल में अब ये सूखा गुलाब तो रहने दो.

Apani Yaado Ki Khushabu Bhi Ham Se Chhin Loge Kya?
Kitaab-E-Dil Me Ab Ye Sukha Gulaab To Rahane Do.


💐 36
मुझ में खुशबू बसी उस की हैं,
जैसे कि ये जिन्दगी उस की हैं.

Mujh Me Khushbu Basi Us Ki Hai,
Jaise Ki Ye Zindagi Us Ki Hai.

💐 37
आपके याद की खुशबू मेरे दामन से लिपटी है,
बड़ा ही अच्छा-सा लगता है तुम्हें सोचते रहना.

Aapke Yaad Ki Khushbu Mere Daaman Se Lipati Hai,
Bada Achchha Sa Lagata Hai Tumhe Sochate Rahana.

💐 38

इत्र से कपड़ो का महक ना  बड़ी बात नही.
मजा तो तब है जब मेरे किरदार से खुशबू आए.

Itra Se Kapado Ka Mahak Na Badi Baat Nahi
Maza To Tab Hai Jab Mere Kitdaar Se Khushbu Aaye.

💐 39
फूलो कि खुशबू सिर्फ़ हवाओ मे है,
मेरे प्यार कि खुशबू चारो दिशाओं मे हैं.

Phoolo Ki Khushbu Sirf Hawaaon Me Hai
Mere Pyaar Ki Khushbu Charo Dishaon Me Hai.

💐 40
साँस लेने से भी तेरी याद आती है,
हर साँस में तेरी खुशबू बस जाती है,

कैसे कहु की साँस से मैं जिन्दा हूँ,
जब की साँस से पहले तेरी याद आती है..

Sans Lene Se Bhi Teri Yaad Aati Hai
Har Sans Me Teri Khushbu Bas Jati Hai,

Kaise Kahu Ki Sans Se Main ZInda Hun
Jab Ki Sans Se Pahale Teri Yaad Aati hai.

💐 41
राख से भी आएगी खुशबू मोहब्बत की,
मेरे खत तुम सरेआम जलाया ना करो.

Rakh Se Bhi Aayegi Khushbu Mohabbat Ki,
Mere Khat Tum Sareaam Jalaaya Na Karo.

💐 42
नजरें 👀 तुम 👰 को ही देखना 👀 चाहें 
तो☝ मेरी आँखों 👀 का क्या कसूर  है ✔

खुशबू 👃 तुम्हारी 👰 ही आए ✔
तो मेरी  साँसो का क्या कसूर 😲 है.

Nazare Tum Ko Hi Dekhana Chahe
To Meri Ankhon Ka Kya Kasur Hai,

Khushbu Tumhaari Hi Aye
To Meri Sanso Ka Kya Kasur Hai 

💐 43
क्षमा"उन फूलों के समान है, 
जो पाँव-तले कुचले जाने पर भी खुशबू 
देना नहीं भूलते.

Kshama Un Foolo Ke Samaan Hai,
Jo Panv-Tale Kuchale Jane Par Bhi Khushbu
Dena Nahi Bhulate.

💐 44 
दिलों में प्यार भर के भी क्या फायदा..
अगर सामने वाले के दिल तक उसकी 
खुश्बू पहुंच ही ना पाए.

Dilo Me Pyaar Bhar Ke Bhi Kya Fayada,
Agar Saamane Wale Ke Dil Tak Usaki
Khushbu Pahunch Hi Naa Paaye.

💐 45
सफर  वहीं तक है जहाँ तक  तुम हो,
नजर 👀 वहीं  तक  है. जहाँ तक तुम हो,

हजारों फूल 🌹 देखे हैं इस गुलशन 💐 में मगर,
खुशबू  वहीं तक है जहाँ तक तुम हो.

Safar Wahi Tak Hai Janha Tak Tum Ho
Nazar Wahi Tak Hai Janha Tak Tum Ho

Hazaaro Fool Dekhe Hai Is Gulshan Me Magar
Khushabu Wahi Tak Hai Janha Tak Tum Ho.

Khushboo Shayari

💐 46
अपनो की यादें
खुशबू की तरह होती हैं
चाहे कितनी भी
खिड़की दरवाजे बन्द कर लो
हवा के झोंके के साथ
अन्दर आ ही जाती है.

Apano Ki Yaade Khushbu Ki Tarah Hoti Hai.
Chahe Kitani Bhi Khidaki Darwaze Band Kar Lo
Hawa Ke Jhoke Ke Sath Andar Aa Hi Jati Hai.

💐 47
हमे क्या जरूरत खुशबू 💐 लगाने की
तेरी मोहब्बत में महक कर 🌹 गुलाब हुए है

Hame Kya Jarurat Khushabu Lagane Ki
Teri Mohabbat Me Mahak Kar Gulab Huye Hai.

💐 48
तेरी चाहत मेरी आँखों में है 
तेरी खुशबू मेरी सांसो में है 

मेरे दिल को जो घायल कर जाए 
ऐसी अदा सिर्फ तेरी बातो में है.

Teri Chahat Meri Ankho Me Hai
Teri Khushabu Meri Sanso Me Hai

Mere Dil Ko Jo Ghayal Kar Jaaye
Esi Ada Sirf Teri Baato Me Hai.

💐 49
किसी लिबास की खुशबू जो उड़ के आती है
तेरे बदन की जुदाई बहुत सताती है

मेरे बगैर तुझे चैन कैसे पड़ता है
तेरे बगैर मुझे नीद कैसे आती है.

Kisi Libas Ki Khushabu Jo Ud Ke Jati Hai,
tere Badan Ki Judayi Bahut Satati Hai.

Mere Bagair Tujhe Chain Padata Hai,
Tere Bagair Mujhe Neend Kaise Aati Hai.

💐 50
खुशबू की तरह मेरी हर साँस में, 
प्यार अपना बसाने का वादा करो, 

रंग जितने तुम्हारी मोहब्बत के हैं, 
मेरे दिल में सजाने का वादा करो.

Khushbu Ki Tarah Meri Har Sans Me,
Pyaar Apana Basaane Ka Waada Karo,

Rang Jitane Tumhaari Mohabbat Ke Hai,
Mere Dil Me Sajaane Ka Wada Karo.

💐 51
खुशबु बनकर आपके पास बिखर जायेंगे,
हवा बनकर आपके सांसो मे समा जायेंगे,
धड़कन बनकर आपके दिल मे उतर जायेंगे,
जरा महसूस करने की कोशिश तो कीजिए,
दूर रहकर भी पास नजर आएंगे.

Khushabu Bankar Aapke Paas Bikhar Jayenge
Hawa Bankar Aapke Sanso Me Sama Jaayenge
Dhadakan Bankar Aapke Dil Me Utar Jayenge
Jara Mahasus Karane Ki Koshish To Kijiye
Dur Rahakar Bhi Paas Nazar Aayenge

💐 52
तू धरती पर चाहे जहाँ भी रहेगी
तुझे तेरी खुशबू से पहचान लूंगा

अगर बन्द हो जाएगी मेरी आँखें
तुझे तेरी खुशबू से पहचान लूंगा

Tu Dharati Par Chahe Janha Bhi Rahegi
TuJHE Teri Dhadakan Se Pahachaan Lunga

Agar Band Ho Jayegi Meri Ankhe
Tujhe Teri Khushabu Se Pahachan Lunga.


इन्हें भी पढ़े:-

No comments