Sunday, 12 November 2017

50+ कसम पर शायरी Kasam Status For Whatsapp & Facebook In Hindi

50+ कसम पर शायरी  Kasam Status For Whatsapp & Facebook In Hindi 

कसम खाना और उसे तोड़ना आज की दुनिया  में एक रिवाज़ सा बन गया. जहा देखो वहा हर कोई कसम खाता  फिरता हैं. कोई कसम निभाता हैं तो कोई कसम तोड़ता है. 

Kasam-Status-For-Whatsapp-Facebook-Hindi

50+ कसम पर शायरी


दोस्तों आज की यह पोस्ट ख़ास आपके लिए हैं और इस पोस्ट का विषय "कसम" हैं इस पोस्ट में आप पढ़ सकते हैं एक से बढ़ कर एक कसम पर बनी शायरियाँ जिसे जिसे अलग अलग सोशल मिडिया के प्रचलित शायरी पोस्टो से लिया गया हैं  और उसका सम्पूर्ण संग्रह यहाँ प्रस्तुत कर रहा हूँ. 

तो आईये पढ़ते हैं "कसम पर बनी शायरी" को और अपनी पसंद के  शायरी (Status) को   शेयर करते हैं Whatsapp Facebook और तमाम सोशल मिडिया से जुड़े दोस्तों को.. 


50+ कसम पर शायरी  Kasam Status For Whatsapp & Facebook In Hindi 


तो इस पोस्ट की शुरुआत करते हैं K.M.आरिफ जी द्वारा लिखे  गये  और गुलाम अली जी द्वारा  गाये  गये  ग़ज़ल की एक लाइन से ...

कौन है जिसने मय नहीं चक्खी, कौन झूठी क़सम उठाता है, मयकदे से जो बच निकलता है, तेरी आँखों में डूब जाता है..


1= मिर्ज़ा ग़ालिब
   तू ने कसम मय-कशी की खाई है ‘ग़ालिब’
   तेरी कसम का कुछ एतिबार नही है..
 2= 
  पीनेकी आदत थी मुझे, 
  उसने अपनी कसम देकर छुड़ा दी,

  शाम को यारो की महफ़िल में बैठा तो, 
   यारो ने उसकी कसम देकर पीला दी.. 
Kasam Whatsapp Facebook Status
 3= 
   वही सर्द रातें वही फिर जुदाई सूना समां ऒर घेरे तनहाई
  कसम हॆ तुम्हें आज फिर ना न कहना सपनों में मेरे तुम देना दिखाई..
 4= 
   तुम अपना रंज-ओ-ग़म, अपनी परेशानी मुझे दे दो ,
  तुम्हें ग़म की क़सम, इस दिल की वीरानी मुझे दे दो..
 5= 
   तुम बात करने का मौका तो दो ,कसम से ,
  रूला देंगे तुम्हें तुम्हारे ही सितम गिनाते गिनाते..
 6= 
   दिल तुड़वाकर देखो कसम से लिखना क्या
‪   महफ़िल को रुलाना भी सीख जाओगे..
50+ कसम पर शायरी
  7= 
   तुझे जिंदगी भर याद रखने की कसम तो नहीं ली,
   पर एक पल के लिए तुझे भुल जाना भी मुश्किल है..
 8= 
   हर रोज़ खा जाते थे वो कसम मेरे नाम की,
  आज पता चला की जिंदगी धीरे धीरे ख़त्म क्यूँ हो रही..
 9= 
   मौसम को मौसम की बहारों ने लूटा,
   हमे कश्ती ने नहीं किनारों ने लूटा..
 10= 
   देखते है अब किस की जान जायेगी;
  उसने मेरी और मैंने उसकी कसम खाई हैं..
Kasam Facebook Status
11= 
 मुश्किल हो रहा है जीना मेरा…
 तुझे कसम है मेरी, दे दे वापस दिल मेरा..
 12= 
   हमको कसम तुम्हारी कुछ यकीन कर,
  हम भी न उफ़ करेंगे चाहे कोई सता ले.. 
 13= 
   आइने में लगी, बिंदियों की कसम,
  हूँ मैं ज़िंदा अभी तक, सिर्फ तेरे ही लिए सनम..  
 14= 
   खातिर से या लिहाज़ से, मैं मान तो गयी,
   झूठी कसम से तेरा ईमान तो गया..  
 15= 
   प्यार ,एहसान ,नफरत ,दुश्मनी जो चाहो वो मुजसे करलो,
  आप की कसम वही दुगुना मीलेगा..
16= 
   हाथ टूटे मैंने गर छेडी हो जुल्फें आप की,
  आप के सर की कसम बादेसबा थी मै न था..
 17= 
   जिसे अंजाम तुम समझते हो,
  इब्तिदा है किसी कहानी की..
"Kasam Whatsapp Facebook Status"
 18= 
   कसम इस आग और पानी की,
  मौत अच्छी है बस जवानी की..
 19= 
   उनकी महफिल में नसीर उनके तबस्सुम की कसम
  देखते रह गए हम हाथ से जाना दिल का..
20= 
   मयकदे से जो बच निकलता है
  तेरी आँखों में डूब जाता है..
50+ कसम पर शायरी
21= 
 ज़हर मिलता ही नहीं मुझको सितमगर वर्ना
  क्या क़सम है तेरे मिलने की कि खा भी न सकूँ..
22= साहिर
   तू कहीं भी हो तेरे फूल से आरिज़ की क़सम
  तेरी पलकें मेरी आंखों पे झुकी रहती हैं..
 23= 
   तेरी महफ़िल सजाने की कसम खाके बैठें हैं,
   इसलिए अश्कों को छुपा के बैठें हैं..
Kasam Whatsapp Facebook Status
 24= कृष्ण बिहारी नूर
   खाये न जागने की क़सम वो तो क्या करे
  जिसको हर एक ख़्वाब अधूरा दिखाई दे..
 25= 
   मोहब्बत की कसम, वो ऐसी नही थी,
  वो मेरी थी मगर कहती नही थी..
 26= 
   जिनका मिलना नहीं होता किस्मत में,
  उनकी यादें कसम से कमाल की होती हैं..
Kasam Facebook Status
  27= 
   अगर तेरे बिना जीना आसान होता तो,
   कसम मुहब्बत की तुझे याद करना भी गुनाह समझते..
 28= 
   एक बेबफा के जख्मो पे मरहम लगाने हम गए..
  मरहम की कसम मरहम न मिला मरहम की जगह मर हम गए..
 29= 
   आप तो डर गये मेरी एक ही कसम से,
  आपकी कसम देकर हमें तो हज़ारों ने लूटा..
 30= 
   मेरे दिल में एक धड़कन तेरी है,
  उस धड़कन की कसम तू जिंदगी मेरी है..
31= 
  सुनो आँखों के पास नहीं तो न सही,
  कसम से दिल के बोहत पास हो तुम..
 32= 
   बेताब मै ही नही "दर्द ए जुदाई" की कसम,
  रोते तुम भी होंगे करवट बदल बदलकर..  
 33= 
   वो तेरा शरमा के मुझसे यूँ लिपट जाना
  कसम से हर महीने में सावन सा अहसास देता था..  
50+ कसम पर शायरी
 34= 
   साथ गुज़ारे हुए उन लम्हों की क़सम,
  वल्लाह हूर से भी बेहतर है मेरी सनम..
 35= 
   बे-इरादा टकरा गए थे लेहरों से हम,
  समन्दर ने कसम खा ली हमे डुबोने की..
 36= 
   सुना था कसम झूठी हो तो लोग मर जाते हैं,
  ना जाने कौन सी कसम निभा रहा है, 
  वो के अब तक ज़िंदा हूँ मैं..
  37= 
   फिर उसी राह पे निकल पड़े हैं,
  कल जहाँ ना जाने की कसम खा बैठे थे..
 38= 
   काश वो भी आकर हम से कह दे , मैं भी तन्हाँ हूँ ,
  तेरे बिन, तेरी तरह , तेरी कसम , तेरे लिए..
 39= 
   कसम से तुझे पाने की ख्वाहिश तो बहुत थी,
  मगर मुझे तुझसे दुर करने की दुआ करने वाले ज्यादा निकले..
 40= 
   इश्क का रोग है जाता नहीं कसम से,
  गले में डालकर सारे ताबीज देखे मैंने..
Kasam Whatsapp Facebook Status
41= 
  जनाजा उठा है आज कसमों का मेरी
  एक कन्धा तो तेरे वादों का भी बनता है..
 42= 
   जब वो मुहँ मे क्लिप दबा कर,
  अपने खुले बालो को समेटती है.
  खुदा कसम ज़िन्दगी रुक सी जाती है.. 
 43= 
   अगर कसमें सच्ची होतीं,
  तो सबसे पहले खुदा मरता..
50+ कसम पर शायरी
 44= 
   एक बार भूल से ही कहा होता की हम किसी और के भी है,
  खुदा कसम हम तेरे साये से भी दूर रहते..
 45= 
   तुम तो डर गए एक ही कसम से, 
   हमे तो तुम्हारी कसम देकर हजारो ने लुटा है..
 46= 
   सौ बार समझाया इस दिल को हमने, सौ बार दिल टूट गया,
  सौ बार उसे भूलने की कसम खायी हमने, 
   सौ बार हर कसम दिल भूल गया..
  47= 
   अगर पता होता कि इतना तड़पाती है मोहब्बत,
  तो कसम से दिल लगाने से पहले हाथ जोड़ लेते..
 48= 
   बना लो उसे अपना जो दिल से तुम्हे चाहता है 
  खुदा की कसम ये चाहने वाले बड़ी मुश्किल से मिलते है..
Kasam Facebook Status
 49= 
   ऐ दिल सो जा कसम से कोई नहीं कोई नहीं कोई नहीं,
  दरवाजा सिर्फ तेज हवा से खुला है..
 50= 
   मौत बख्शी है जिसने उस मोहब्बतकी कसम
  अब भी करता हूँ इंतज़ार बैठकर मजार मे..

50+ कसम पर शायरी, कसम खाने पर शायरी, Kasam Facebook Status, Kasam Whatsapp Facebook Status, Kasam Whatsapp Status, Kasam Status, 

Previous Post
Next Post

About Author

नमस्कार दोस्तों Wahh Hindi Blog की और से आप सभी को धन्यवाद देता हु, की आप सभी ने इस ब्लॉग को अपना समझा. साथ ही अपना प्यार और सहयोग दिया.

0 comments: