Saturday, 24 February 2018

20+ ख़ता पर शायरी - Khata Par Shayari In Hindi

लाज़वाब  ख़ता-खता  पर शायरी - Khata Shayari In Hindi

शुरुआत करते हैं "Khata Par Shayariके इस  आर्टिकल की  जोकि "शब्दों के जालसे लिया गया हैं. जहा आप पा सकते हैं अपने मन पसंद शब्द "ख़ता शायरी"  का विशाल संग्रह. 

आज का यह आर्टिकल  ख़ता शब्द से लिया गया हैं और इस पोस्ट में आप पा सकते हैं ढेरो  ख़ता पर शायरियों का बेजोड़ कलेक्शन. जोकि आप सभी शायरी के कद्रदानो को बेहद ही पसंद आएगा. 
 Khata-Par-Shayari-Hindi

तो देर कैसी आईये पढ़ते हैं "Khata Par Shayari" और अपने मनपसंद शायरी को शेयर करते हैं अपने दोस्तों और चाहने वालो को व्हात्सप्प और फेसबुक तथा अन्य सोशल मिडिया पर. 

बेहतरीन ख़ता पर शायरी के इस कलेक्शन को पढ़ने से पहले गुनगुनाते हैं  एक प्यारा से नगमे की प्यारी सी  लाइन को.

 तुम्हारी नज़र क्यों खफा हो गई, ख़ता बख़्श दो गर ख़ता हो गई. हमारा इरादा तो कुछ भी ना था, तुम्हारी ख़ता खुद सज़ा हो गई.
20+ ख़ता पर शायरी - Khata Par Shayari In Hindi
 1= 
 आँख भर कर देख लेना कुछ ✒ खता ऐसी न थी,
 क्या खबर क्यूँ उनको मुझ पर इतना गुस्सा ना गया.  

 2= Best  Khata Shayari
 ✒ खता हो गयी तो फिर सजा सुना दो,
 दिल में इतना दर्द है वजह बता दो,

 देर हो गयी है याद करने में जरुर,
 लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो.  
इन्हें भी पढ़े:- आईना पर शायरी - Aaina Shayari  
3= 
 तवारीखों में कुछ ऐसे भी मंजर हमने देखे हैं,
 के लम्हों ने ✒ खता की थी और सदियों ने सजा पायी.
4= Khata whatsapp status in hindi
 जब कभी मैं ने ये पूछा कि ✒ ख़ता किस की है,
 बे-धड़क बोल उठे तेरे सिवा किस की है.  
5= 
 ✒ खता उनकी भी नही यारो वो भी क्या करते,
 बहुत चाहने वाले थे किस किस से वफ़ा करते.
 6= 
 सज़ा ये है कि नींदें छीन ली दोनों की आँखों से,
 ✒ खता ये है कि हम दोनों ने मिलकर ख्वाब देखा था.
इन्हें भी पढ़े:- बेवफाई पर शायरी - Bewfayi Shayari
7= 
 ✒ खता उसकी भी नही यारो वो भी क्या करती,
 हजारो चाहने वाले थे किस किस से वफ़ा करती. 
8= ख़ता-खता पर शायरी, 
 हमसे कोई ✒ खता हो जाये तो माफ़ करना,
 हम याद न कर पायें तो माफ़ करना,

 दिल से तो हम आपको कभी भुलाते नहीं,
 पर यह दिल ही रुक जाये तो माफ़ करना. 

9= ख़ता-खता हिंदी शायरी,
 हम बेक़सूर लोग भी बड़े दिलचस्प होते हैं,
 शर्मिंदा हो जाते हैं ✒ खता  के बग़ैर भी.
10= 
 तू छोड़ रहा है ,तो ✒ ख़ता इसमें मेरी क्या,
 हर शख्स मेरा साथ निभा भी नहीं सकता. 
इन्हें भी पढ़े:- बरस पर शायरी - Baras Shayari 
 11= Best  Khata Shayari
 ✒ खता इतनी की उनको पाने की कोशिश की,
 अगर छीनने की कोशिश करते तो आज वो हमारे होते.  
 12= 
 तुम को चाहा तो ✒ खता क्या है बता दो मुझको,
 दूसरा कोई तो अपना सा दिखा दो मुझको.  
13= Khata whatsapp status in hindi
 सजा ये है कि नींदे छीन ली दोनों की आँखों से,
 ✒ खता ये है कि हम दोनों ने मिलकर ख्वाब देखा था.
14= 
 रोक लो गर ग़लत चले कोई,
 बख़्श दो गर ✒ ख़ता करे कोई. 
15= 
 हुस्न वालों ने क्या कभी की ✒ खता कुछ भी,
 ये तो हम हैं सर इल्ज़ाम लिए फिरते हैं.
इन्हें भी पढ़े:- बस्ती पर शायरी - Basti Shayari
 16= 
 इतनी वफादारी ना कर किसी से यूँ मदहोश होकर...
 दुनिया वाले एक ✒ ख़ता के बदले सारी वफाँए भुला देते हैं.
17= 
 अभी तुम दिल पे बस लिख लो, ज़रा ये दासताँ मेरी, 
 मिले फुरसत तो पढ़ कर देखना, मेरी ✒ खता क्या थी?  

18= 
 मिली सज़ा जो मुझे वो किसी ✒ खता पे नहीं "फराज़"
 मुझ पे जुर्म साबित हुआ जो वफा का था. 
19= Best  Khata Shayari
 मुझ पर करो सितम तो तरस मत खाना,
 क्योंकि ✒ खता मेरी है मोहब्बत मैंने की है.  
इन्हें भी पढ़े:- अरमान पर शायरी - Armaan Shayari 
20= 
   

Best  Khata Shayari,   Khata Hindi Shayari, 2 Line  Khata Shayari In Hindi,  Khata Facebook status,  Khata hindi Status, Hindi Shayari on  Khata,  Khata whatsapp status in hindi, Large collection of   Khata Shayari Status in Hindi, ख़ता-खता हिंदी शायरी, ख़ता-खता स्टेटस, ख़ता-खता व्हाट्स अप स्टेटस, ख़ता-खता पर शायरी, ख़ता-खता पर शेर, 


Wednesday, 21 February 2018

132+ खुदा पर शायरी - Khuda Par Shayari In Hindi

बेहतरीन खुदा पर शायरी - Kahani Shayari In Hindi

शुरुआत करते हैं "Khuda Par Shayari" के इस  आर्टिकल की  जोकि "शब्दों के जाल" से लिया गया हैं. जहा आप पा सकते हैं अपने मन पसंद शब्द "खुदा शायरी"  का विशाल संग्रह. 

Khuda-Par-Shayari-In-Hindi

132+ खुदा पर शायरी - Khuda Par Shayari In Hindi

आज का यह आर्टिकल  खुदा शब्द से लिया गया हैं और इस पोस्ट में आप पा सकते हैं ढेरो  खुदा पर शायरियों का बेजोड़ कलेक्शन. जोकि आप सभी शायरी के कद्रदानो को बेहद ही पसंद आएगा. 

तो देर कैसी आईये पढ़ते हैं "Khuda Par Shayari" और अपने मनपसंद शायरी को शेयर करते हैं अपने दोस्तों और चाहने वालो को व्हात्सप्प और फेसबुक तथा अन्य सोशल मिडिया पर. 

बेहतरीन खुदा पर शायरी के इस कलेक्शन को पढ़ने से पहले गुनगुनाते हैं  एक प्यारा से नगमे की प्यारी सी  लाइन को.

खुदा करे के मोहब्बत मे वो मकाम आये, मेरे लबो पे हमेशा सनम का नाम आये.

127+ खुदा पर शायरी - Khuda Par Shayari In Hindi

 1= 
 दोस्ती खुशी है दोस्ती दुआ है,
 दोस्ती अहसास है दोस्ती ✒ खुदा है.  
इन्हें भी पढ़े:- 101+अच्छा पर शायरी -  Achchha Shayari   
Khuda Shayari,
 इतना आसान नहीं ✒ खुदा की इबादत करना,
 दिल से गुरुर जायेगा तभी तो नूर आयेगा.  
3= Khuda Hindi Shayari,
 मुझे भी बना दे ऐ ✒ खुदा -दिल तोड़ने वाला,
 कब-तक वफा करूँगा  बेवफाओ के शहर मे.

4= खुदा पर शेर, 
 कुछ तुम,कुछ तुम्हारा अंदाज़ ए गुफ्तगू,
 मुझे तबाह कौन करेगा, ✒ खुदा ही जाने.  
5= 
 उदास बच्चे के आंसू में रह गया खोकर,
 जो कह रहा था मुझको  ✒ खुदा नहीं मिलता.
 6=  खुदा स्टेटस,
 जो लोग मौत को ज़ालिम करार देते हैं,
 ✒ खुदा मिलाये उन्हें ज़िन्दगी के मारो से.
7= खुदा हिंदी शायरी, 
  हर जगह जाके झुकाया नही है सर हमने,
 जो खुदा है उसे ही हमने  ✒ खुदा रक्खा है.  
8= 
 ज़रा ये धूप ढल जाए तो उनका हाल पूछेंगे,
 यहाँ कुछ साए अपने आपको ✒ खुदा बताते हैं.
इन्हें भी पढ़े:- 55+ अदा पर शायरी - Ada Shayari  
9= 
 गिरते रहे सजदों में हम अपनी ही हसरतों की खातिर
 अगर इश्क़-ऐ ✒ खुदा में गिरे होते तो कोई हसरत अधूरी ना होती.
10=  Khuda Facebook status,
 ✒ खुदा के पास देने के तो हजार तरीके है,
 मांगने वाले तू देख तुझ में कितने सलीके है.  
 11= 
 12= 
 ज़रुरत भर का तो ✒ खुदा, सबको देता है,
 परेशां है लोग इस वास्ते कि, बेपनाह मिले.  
13= 
 उदास बच्चे के आंसू में रह गया खोकर,
 जो कह रहा था मुझको  ✒ खुदा नहीं मिलता.
14= 
 बस ये कहकर टाँके लगा दिये उस हकीम ने कि,
 जो अंदर बिखरा है उसे  ✒ खुदा भी नहीं समेट सकता.  
15= 
 आइना कोई ऐसा बना दे ऐ  ✒ खुदा जो, 
 इंसान का चेहरा नहीं किरदार दिखा दे. 
 16= 
 एक बार भूल से ही कहा होता की हम किसी और के भी है,
 ✒ खुदा कसम हम तेरे साये से भी दूर रहते. 
17= 
 ✒ खुदा ने बङे अजीब से दिल के रिश्ते बनायें हैं,
 सबसे ज्यादा वही रोया जिसने ईमानदारी से निभाये है. 
18= 
 पुछेगा अगर ✒ खुदा तो कहूँगी, हाँ हूई थी मोहब्बत,
 मगर जिसके साथ हूई वो उसके काबिल ना था. 
19= 
 दामन पे मेरे, सैकड़ों पैबंद हैं ज़रूर,
 लेकिन  ✒ खुदा का शुक्र है,धब्बा कोई नहीं.
20= 
 देता सब कुछ है  ✒ खुदा हमें,
 पर जिसे चाहो उसे छोड़कर. 
इन्हें भी पढ़े:- 51+ अजनबी पर शायरी - Ajnabi Shayari 
 21= 
 उस वक़्त तो  ✒ खुदा भी सोच में पड़ गया,
 जब मैंने इश्क़ और सुकून दोनों साथ में माँग लिया.  
 22= 
 क्या बताये मेरे लिए क्या हो तुम,
 ✒ खुदा का डर है वर्ना खुदा हो तुम.
23= 
 ज़रा ये धूप ढल जाए तो उन का हाल पूछेंगे,
 यहाँ कुछ साए अपने आप को ✒ खुदा बताते हैं.
24= Khuda whatsapp status in hindi,
 मत सोचना मेरी जान से जुदा है तू,
 हकीकत में मेरे दिल का  ✒ खुदा है तू. 
25= 
 ✒ खुदा जाने, प्यार का दस्तूर क्या होता है
 जिन्हें अपना बनाया वो न जाने क्यों दूर होता है. 
 26= 
 मशरूफ थे सब अपनी जिंदगी की उलझनों में,
 ऐ दोस्त ज़रा सी जमींन क्या हिली 
 सबको  ✒ खुदा याद आ गया. 
27= 
 माँ ने रख दी आखिरी रोटी भी मेरी थाली मे
 मैं पागल फिर भी  ✒ खुदा की तलाश करता हूँ . 
28= 
 तु नाराज न रहा कर तुझे  ✒ खुदा का वास्ता, 
 इक तेरा चेहरा देखकर ही हम अपना गम भुलाते है. 
29= 
 ✒ खुदा जाने कि दुनिया कह रही है हम ही मुजरिम है,
 हमारे साँस लेने से मशालें बुझ गईं उनकी. 

30= 
 तुम मिल गई तो  ✒ खुदा भी नाराज हैं मुझसे.,
 कहता है कि अब तु कुछ माँगता नहीं.
 31= 
 मैं अपनी इबादत खुद ही कर लूँ तो क्या बुरा है?
 किसी फकीर से सुना था मुझमें भी ✒ खुदा रहता है. 
 32= 
 वादा-ए-वफ़ा करो तो फिर खुद को फ़ना करो,
 वरना  ✒ खुदा के लिए किसी की ज़िंदगी ना तबाह करो.  
33= 
 लोगो ने कुछ दिया, तो सुनाया भी बहुत कुछ
 ऐ  ✒ खुदा एक तेरा ही दर है, जहा कभी ताना नहीं मिला.
इन्हें भी पढ़े:- 50+ आँखों पर शायरी -  Aankhon Par Shayari 
34= 
 झूठ, लालच और फरेब से परे है,
 ✒ खुदा का शुक्र है, आइने आज भी खरे है.  
35= Best  Khuda Shayari,
 जहर पीने से कहाँ मौत आती है,
 मर्जी  ✒ खुदा की भी चाहिए मौत के लिए? 
 36= 
 इश्क़ इनायत है  ✒ खुदा की,
 तो मैं गुनाहगार कैसे.
37= 
 मंदिर - मस्जिद सब नाम के हैं,
 ✒ खुदा से रूबरू होना है तो इश्क़ कर.  
38= 
 सारे ही काम ज़रूरी थे ज़िन्दगी में और होते भी गए,
 एक  ✒ खुदा तेरी इबादत ही थी जो हर बार टलती गयी. 
39= Khuda whatsapp status in hindi,
 तुम थक तो नहीं जाओगे इन्तजार में तब तक,
 मैं माँग के आऊँ  ✒ खुदा से तुमको जब तक.  
40= 
 मुझसा ही आलसी मेरा ✒ खुदा है,
 ना मै कुछ मांगती हूँ, ना वो कुछ देता है.  
 41= 
 साक़ी शराब देना तो मस्जिद से दूर दूर,
 बोतल तो एक है कहीं  ✒ खुदा न मांग ले.
 42=  खुदा स्टेटस,
 पलट दूँगा सारी दुनिया मैं ए  ✒ खुदा 
 बस रजाई में से निकलने की ताकत दे दे. 
43= Khuda Hindi Shayari,
 तू मांग तो सही अपनी दुआओ मे बददुआ मेरे लिए
 मै हंसकर  ✒ खुदा से आमीन कह दूँगा.
44= खुदा पर शेर
 मैं  ✒ खुदा के दर पर भी गुनहगार होती हूँ,
 वो शख्श जो मुझे सजदों में भी याद आता है. 
45= खुदा हिंदी शायरी, 
 ये रात कितनी तमन्ना साथ लायी है,
 गज़ब  ✒ खुदा का सितमगर को नीँद आयी है.
इन्हें भी पढ़े:- 101+ बेवफा शायरी - Bewafa Shayari 
 46= 
 सलीका ही नही शायद उसे महसूस करने का
 जो कहता है   ✒ खुदा  है   तो नज़र आना ज़रूरी है . 
47=  Khuda Facebook status,
 करनी है  ✒ खुदा से गुजारिश तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले, 
 हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा या फिर कभी जिंदगी न मिले.  
48= "Best Khuda Shayari"
 तेरी रहमत भी मोहताज़ है मेरे गुनाहों की,
 मेरे बिना तू भी  ✒ खुदा हो नहीं सकता. 
49= 
 निगाहें नाज़ करती है फ़लक के आशियाने से,
 ✒ खुदा भी रूठ जाता है किसी का दिल दुखाने से.  
50= 
 वो दुआएं काश मैने दीवारों से मांगी होती,
 ऐ  ✒ खुदा.. सुना है कि उनके तो कान होते है.

 51= 
 सारे फैसले ✒ खुदा के,
 फिर गलतियाँ मेरी कैसे. 
 52= 
 मिल के भी तुम ना मिले,बिछड़े भी तो जुदा ना हुए,
 हम भी इंसा ही रहे,तुम भी तो  ✒ खुदा न हुए.  
53= 
 फितूर होता है हर उम्र में जुदा-जुदा,
 खिलौना, इश्क़, पैसा, ख्याति फिर  ✒  खुदा-खुदा.
इन्हें भी पढ़े:- 85+  बेवफाई पर शायरी - Bewfayi Shayari
54= 
 कितने अंदाज से किया उसने नज़र अंदाज
 ए  ✒ खुदा उसके इस अंदाज को नज़र ना लगे.
55= 
 मैं तुझसे अब कुछ नहीं मांगूगा ए  ✒ खुदा,
 तेरी देकर छीन लेने की आदत मुझे पसंद नही. 
 56= 
 अब तो है इश्क़-ए-बुताँ में ज़िंदगानी का मज़ा
 जब ✒ ख़ुदा का सामना होगा तो देखा जाएगा
 अकबर इलाहाबादी 
57= 
 ऐ  ✒ खुदा लाखो हसीनायें तेरे दर पर फरियाद करती है,
सलामत रखना उनके प्यार को जो फौजियो से प्यार करती है. 
58= 
 आशिक़ी से मिलेगा ऐ ज़ाहिद
 बंदगी से  ✒ ख़ुदा नहीं मिलता
 दाग़ देहलवी
59= 
 कि मोहब्बत हो और महबूब पास न हो ,
 ऐ   ✒ खुदा ये जुल्म कभी किसी के साथ न हो.
60= 
 आता है जो तूफ़ाँ आने दे कश्ती का  ✒ ख़ुदा ख़ुद हाफ़िज़ है
 मुमकिन है कि उठती लहरों में बहता हुआ साहिल आ जाए
 बहज़ाद लखनवी 
 61= 
 वो जो दूसरो के लिए, दुआ करता है,
 दुआएँ खुद उसकी, ✒ खुदा करता है.
 62= 
 मेरा झुकना और तेरा ✒ खुदा हो जाना,
 अच्छा नही इतना बड़ा हो जाना.
63= 
 जोड़ी भी खूब बनाई थी उस  ✒ खुदा ने,
 वो मासूम सी लड़की और मैं शायर बदनाम.
64= 
 अगर इसी रफ़्तार से मानेंगे सब खुद को  ✒ खुदा,
 तो एक दिन दुनिया में बन्दों की कमी हो जाएगी.  
65= 
 जब सब तेरी मर्जी से होता है  तो ऐ  ✒ खुदा,
 ये बन्दा गुनहगार कैसे हो गया .
 66= 
 भींगी पलकों से छुप छुप के बिदाई  दी हैं
 उफ्  ✒ खुदा ... कैसी तुमने यह जुदाई दी हैं.
67= 
 हर किसी को नही देता वो मोहब्बत का हुनर,
 ✒ खुदा नही चाहता हर किसी का खुदा होना. 
68= 
 वो साल तो बीत गया आँसुओं के साथ
 इस साल तो  ✒ खुदा करे खुशियाँ मिले मुझे. 
इन्हें भी पढ़े:- 42+ बचपन पर शायरी -  Bachpan Shayari
69= 
 किसका वास्ता देकर मैं रोकता उसे,
 ✒ खुदा तक तो मेरा बन चूका था वो.
70= 
 मुझ में नही  ✒ खुदा में भी फर्क है
 एक रास्ते पे रखा है एक महंगे पत्थरो में दर्ज है.  
 71= 
 तुझमे और  ✒ खुदा में एक बात मिलती है,
 वो भी नहीं मिलता है ,तू भी नहीं मिलती है.  
 72= 
 ए  ✒ खुदा अगर तेरे पेन की श्याही खत्म है,
तो मेरा लहू लेले, यू कहानिया अधूरी न लिखा कर.  
73= 
 यंकी का कोई अलग से ✒ खुदा नही होता,
 झूठ के लिए रियायते भी लड़ जाती है.
74= 
 मजहबी इबारतें आती नहीँ मुझको,
 आज भी इंसानीयत ही मेरा ✒ खुदा हुआ है.  
75= 
 वो बुढ़ापे मे रिक्शा खींच रहा था,
 और ✒ खुदा औलाद देकर शर्मिंदा हो रहा था.
 76= 
 नहीं मांगता ऐ  ✒ खुदा की जिंदगी सौ साल की दे, 
 दे भले चंद लम्हों की लेकिन कमाल की दे. 
77= 
 ✒ खुदा अबके जो मेरी कहानी लिखना,
 बचपन में ही मर जाऊ ऐसी जिंदगानी लिखना.  
78= 
 फर्क होता है  ✒ खुदा और फ़क़ीर में,
 फर्क होता है किस्मत और लकीर में.

 अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना,
 कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में.

79= 
 बेहिसाब झूठ कहा तो  ✒ खुदा मान बैठे,
 जरा सा सच बोल दिया बुरा मान बैठे. 
80= 
 नीचे आ गिरती है हर बार दुआ मेरी,
 पता नहीं कितनी ऊचाई पर ✒ खुदा रहता हैं.

 81= 
 ऐ  ✒ खुदा मुसीबत मैं डाल दे मुझे, 
 किसी ने बुरे वक़्त मैं आने का वादा किया है.
 82= 
 किसी की खातिर मोहब्बत की इन्तेहाँ कर दो, 
 लेकिन इतना भी नहीं कि उसको  ✒ खुदा कर दो, 

 मत चाहो किसी को टूट कर इस कदर इतना, 
 कि अपनी वफाओं से उसको बेवफा कर दो. 
83= Khuda whatsapp status in hindi,
 ज्यादा फर्क नही रखा  ✒ खुदा ने हम दोनों के बीच.
 तुझे चाहने वाले बहुत है तो मुझे ठुकराने वाले बहुत.
84= खुदा स्टेटस,
 ✒ खुदा जाने तुमने किस अन्दाजे-नजर से देखा है
 कि मुझको जिन्दगी अब जिन्दगी मालूम होती है. 
85= 
 मैंने अपने आप को हँमेशा बादशाह समझा,
 पर तुझे  ✒ खुदा से माँगा अकसर फकीरों की तरह.
 86= 
 मत कर इतना ग़रूर अपने आप पर,
 पता नहीं  ✒ खुदा ने तेरे जैसे कितने बना कर मिटा दिए. 
87= 
 नजर , नमाज , नजरिया , सब कुछ बदल गया, 
 एक रोज इश्क़ हुआ , और  ✒ खुदा बदल गया.
88= 
 जुबानी इबादत ही काफी नहीं,
 ✒ खुदा' सुन रहा है खयालात भी.
89= 
 कुछ लोग सारी जिंदगी इंसान नही बन पाते,
 और कुछ लोग मयखाने से  ✒ खुदा बनकर निकलते हैं. 
इन्हें भी पढ़े:- 45+  बहाने पर शायरी -  Bahane  Shayari 
90= 
 सुनकर ज़माने की बातें, तू अपनी अदा मत बदल,
 यकीं रख अपने  ✒ खुदा पर, यूँ बार बार खुदा मत बदल.

 91= 
 कभी जो मुझे हक मिला अपनी तकदीर लिखने का,
 कसम  ✒ खुदा की तेरा नाम लिखूंगा और कलम तोड दूंगा.  
 92= 
 ✒ खुदा ने लिखा ही नहीं तुझको मेरी क़िस्मत में शायद,
 वरना खोया तो बहुत कुछ था एक तुझे पाने के लिए.
93= 
 दिलों में नज़दीकियाँ हो तो,
 रिश्तों मैं  ✒ खुदा बसता हैं.
94= 
 तेरा ज़िक्र..तेरी फ़िक्र..तेरा एहसास..तेरा ख्याल,
 तू  ✒ खुदा तो नहीं..फिर हर जगह क्यों है.
95= 
 रजामंदी मे भी खिलाफत जरा सी बाकी है,
 तुम्हारे  ✒ खुदा से मेरा कुछ हिसाब बाकी है.
 96= 
 मत करवाना इश्क़ ए दस्तूर हर किसी को ए  ✒ खुदा,
हर किसी में जीते जी मरने की ताक़त नही होती.
97= 
 ऐ सनम जिस ने तुझे चाँद सी सूरत दी है
 उसी  ✒ खुदा   ने मुझ को भी मोहब्बत दी है
 हैदर अली आतिश
98= 
 तेरा जिक्र, तेरी फ़िक्र, तेरा एहसास,
 तू  ✒ खुदा तो नहीं फिर भी हर जगह हैं.
99= 
 में वो काम नहीं करता हूँ जिसमे  ✒ खुदा मिले,
 में बस वो करता हूँ जिसमे दुनिया की दुआ मिले.  
100= 
 सर गिरे सजदे में दिल में दग़ा-बाज़ी हो,
 ऐसे सजदों से भला कैसे  ✒ खुदा राज़ी हो. 

 101= 
 मेरी आँखों में मत ढूंढा करो खुद को,
 पता है ना दिल में रहते हो  ✒ खुदा की तरह.  
 102= 
 ✒ खुदा ने पूछा क्या सजा दूँ उस बेफ़वा को,
 दिल से आवाज़ आई मोहब्बत हो जाये उसे भी.  
103= 
 ✒ खुदा ने सब्र करने की तौफ़ीक़ हमें बख्शी है
 अरे जी भर के तड़पाओ शिकायत कौन करता है.
104= 
 मेरे सजदों में कमी तो ना थी ऐ  ✒ खुदा,
 क्या मुझसे भी ज्यादा किसी ने माँगा था उसे.  
105= 
 अगर कसमें सच्ची होतीं तो
 सबसे पहले  ✒ खुदा मरता. 
 106= Best  Khuda Shayari,
 ✒ खुदा के पास तो देने को हजार तरीके हैं, 
 माँगने वाले तू देख तुझमें कितने सलीके हैं.
107= 
 कभी  ✒ खुदा तो कभी क़ातिल बना देता है
 ये वक़्त है जनाब जो हर रंग दिखा देता है.
108= 
 इश्क 'महसूस' करना भी इबादत से कम नहीं,
 ज़रा बताइये छू कर'  ✒ खुदा को किसने देखा है?
109= 
 कमियों की गिनती जिस तरह करते है वो,
 इंसान हो कर भी आप  ✒ खुदा बन बैठे हो जैसे.
110= 
 मसरूफ़ थे सब अपनी ज़िन्दगी की उलझनों में,
 जरा सी ज़मीन हिली, सबको  ✒ खुदा याद आने लगा. 
 111= 
 बेटियाँ  ये वो झरोखे हैं साहेब
जहाँ से  ✒ खुदा हमे देखता है.
 112= 
 कमाल का हौसला दिया है, ✒  खुदा ने हम इंसानोँ को,
 वाकिफ़ हम अगले पल से नहीँ, और वादेँ जन्मोँ के कर लेते है.  
113= 
 मेरा दर्द तो सिर्फ मेरा  ✒ खुदा जानता हैं, 
 तुमने तो सिर्फ मेरी मुस्कान देखी है.
114= 
 मिसाल उसकी क्या देगा ज़माना,
 जिसे  ✒ खुदा भी खुद लाजवाब कहता है.  
115= 
 मुझे सिर्फ ज़रूरतों में याद मत किया करो,
 ग़लतफहमी हो जाती है, कहीं मैं  ✒ खुदा तो नहीं . 
 116= 
 तेरी मुहब्बत के साए में जिंदा हैं हम तो 
तुझे  ✒ खुदा का दीया हुआ तावीज मानते हैं. 
117= 
 मशगुल थे सब अपनी ज़िन्दगी में, 
 ज़रा सी जमीन क्या हिली सबको  ✒ खुदा याद आ गया.  

118= 
 जाने कितनी परियों ने मिल, अर्जिया दी थी,
 तब ✒ खुदा ने दुनिया को ये बेटियाँ दी थी. 
119= 
 इंतज़ार तो हम सारी उम्र कर लेंगे,
 बस ✒ खुदा करे ,वो बेवफा ना निकले.  
120= 
 साजिशे उस  ✒ खुदा की देखो तो जरा,
 मुझे खुश देखकर "मोहब्बत" में फसा दिया.
 121= खुदा पर शेर
 इतनी शिद्दत से तो वो ✒ खुदा भी नही ढूंढता,
 जितनी शिद्दत इंसान दूसरे में एब ढूंढता है.  
 122= 
 ना  तू  ✒ खुदा न मेरी बंदगी वैसी,
सबकी कहानी है तेरे - मेरे जैसी. 
123= 
 ✒ खुदा करे, सलामत रहें दोनों हमेशा,
 एक तुम और दूसरा मुस्कुराना तुम्हारा.
इन्हें भी पढ़े:- 90+  बात पर शायरी - Baat Par Shayari 
124= 
 आँसू वो खामोश दुआ है,
 जो सिर्फ़ ✒ खुदा ही सुन सकता है. 
125= 
 ज्यादा ख्वाब मत बुनिये...
 मिलेगा वही जो मंजूरे  ✒ खुदा होगा.
 126= 
 छोड़ देंगे तेरी दुनिया को एक रोज ए  ✒ खुदा,
 जख्म दे दे कर किराये की जिन्दगी का अहसास ना दिला.
127= 
 मिलती है मौजूदगी उस  ✒ खुदा की उसको
 जिसने जर्रे जर्रे में ,क़तरे क़तरे में तलाशा है उसको. 
128= Khuda Facebook status,
 अच्छा यक़ीं नहीं है तो कश्ती डुबा के देख,
 इक तू ही नाख़ुदा नहीं ज़ालिम ✒ ख़ुदा भी है.
 क़तील शिफ़ाई 
129= खुदा हिंदी शायरी, 
 जिन्दगी मे  ✒ खुदा से इतना तो मांग लेना दोस्तो,
 माँ के बिना कोई घर न हो और कोई माँ बेघर न हो.  
130= खुदा पर शेर, 
 कितने अजीब इंसान है तेरी दुनिया मेँ ऐ ✒  खुदा,
 शौक ऐ मोहब्बत भी रखते है और याद तक नहीँ करते.  
 131= Khuda Hindi Shayari,
 आज फिर से छाए हैं उनकी रहमत के बादल
 किस्मत में भीगना लिखा है या तरसना ✒ खुदा जाने.  
 132= 
 मेरा हौंसला जमाने से जुदा है,
 मैं क्यों डरूं जब मुझमें  ✒ खुदा हैं.  

Best  Khuda Shayari,   Khuda Hindi Shayari, 2 Line  Khuda Shayari In Hindi,  Khuda Facebook status,  Khuda hindi Status, Hindi Shayari on  Khuda,  Khuda whatsapp status in hindi, Large collection of   Khuda Shayari Status in Hindi, खुदा हिंदी शायरी, खुदा स्टेटस, खुदा व्हाट्स अप स्टेटस, खुदा पर शायरी, खुदा पर शेर,