Type Here to Get Search Results !

[Best 39+] Patjhad - Khizan Shayari Status Images In Hindi Urdu 📖 खिज़ा पतझड़ शायरी स्टेटस

Khizan Shayari Status Images In Hindi Urdu में मिलेगा खिज़ा शायरी से जुडी शानदार बेहतरीन, पतझड़ शायरी, 2 Line Khizan-Patjhad Poetry Images जिसे आप Facebook-WhatsApp पर साझा भी कर सकते हैं।

सोअतों आज की पोस्ट खिज़ा पर आधारित हैं. आज की Patjhad Shayari की पोस्ट में पायेंगे चित्रों के साथ कई मशहूर शायरों के लाजवाब शेर-ओ-शायरी का बेजोड़ कलेक्शन जो आप सभी शायरी के दीवानों को बेहद ही पसंद आएगी. 

Patjhad-Khizan Shayari

तो देर किस बात की आईये शुरुआत करते हैं. Patjhad Par Shayari Status In Hindi Urdu की और पढ़ते हैं सबसे बेहतरीन Patjhad Quotes in Hindi के इस पोस्ट को, और अपने दोस्तों में फेसबुक वाट्सऐप, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर चित्रों के साथ साझा कृते हैं और दोस्तों के साथ खिज़ा शायरी के हर एक लाइन का लुफ्त उठाते हैं

Best 39+ Patjhad-Khizan Shayari Images In Hindi Urdu

◼ 1 💦 जुबां पे दर्द भरी दास्तान चली आई, बहार आने से पहले खिजां चली आई

Khizan Shayari
◼ 2 💦 तड़प रहे हैं हम यहाँ, तुम्हारे इंतज़ार में, खिजां का रंग, आ-चला है, मौसम-ए-बहार में

Khizan Shayari In Hindi
◼ 3 💦 मिला जो प्यार तो हम प्यार के क़ाबिल न रहे, खिजां के फूल बहार के क़ाबिल न रहे

◼ 4 💦 खिजां में पेड़ से टूटे हुए पत्ते बताते हैं, बिछड़ कर अपनों से मिलती है बस दर-दर की दुत्कारी

◼ 5 💦 खिजां के लूट से बर्बादिए-चमन तो हुई यकीन आमदे-फस्ले-बहार कम न हुआ•➖मजाज

◼ 6 💦 वह संभलेंगे गेसू जो बलखा गए हैं, बहार आ रही है, खिजां के सहारे
"Patjhad Shayari In Hindi"
◼ 7 💦 यही तंग हाल जो सबका है यह करिश्मा कुदरते रब का है जो बहार थी सो खिजां हुई जो खिजां थी अब वह बहार है।•➖जोश मलीहाबादी

Best Khizan Shayari

◼ 8 💦 उल्फ़त के मारों से ना पूछों आलम इंतज़ार का पतझड़ सी है ज़िन्दगी, ख्याल है बहार का
"पतझड़ शायरी"
Patjhad Shayari In Hindi
◼ 9 💦 खिज़ा के मौसम में बढ़ के बहारें दामन चूम लेती हैं , बोसा ए इश्क़ के बाद कुछ कलियाँ नाम पूछ लेती हैं

═════
 Read More   📖 92+ बहार-Bahaar Shayari Images
 Read More   📖 40+ फ़िज़ा-Fiza Shayari Images
═════

◼ 10 💦 जिसकी कफस में आंख खुली हो मेरी तरह, उसके लिए चमन की खिजां क्या बहार क्या?
"Khiza Shayari in Hindi"
◼ 11 💦 ये खिजां की ज़र्द सी शाल में जी उदास पेड़ के पास है, ये तुम्हारे घर की बहार है इसे आंसुओ से हरा करो

खिज़ा पतझड़ शायरी स्टेटस 

◼ 12 💦 क्या हुआ जो खिजां के फूल सा मुरझा गए, बनके खुशबू ए जिंदगी महकते रहेंगे हम

Khizan Shayari Images In Urdu
◼ 13 💦 फिर देख उसका रंग निखरता है किस तरह, दोशीजए- खिजां को खिताब-ए-बहार दे•➖अदम

═════
 Read More   📖 39+ हवा-Hawa Shayari Images
 Read More   📖 100+ मौसम-Mausam Shayari
═════
◼ 14 💦 होता नहीं है कोई बुरे वक्त में शरीक, पत्ते भी भागते हैं खिजां में शजर से दूर•➖असीर

Khizan Shayari In Urdu
◼ 15 💦 कांटो ने बहुत याद किया उन को खिजां में, जो गुल कभी जिंदा थे बहारों के सहारे

◼ 16 💦 पलकों से आँसुओं की क़तारों को पोंछ लो, पतझड़ की बात ठीक नहीं है बहार में
"2 लाईन पतझड़ शायरी"
Khizan Poetry
◼ 17 💦 खिजां के बाद गुलशन में बहार आई तो है लेकिन, उड़ा जाता है क्यों अहल-ए-चमन का रंग क्या कहिए
"Khizan Poetry"
◼ 18 💦 फूल खिलते हैं, लोग मिलते हैं मगर, पतझड़ में जो फूल मुरझा जाते हैं, वो बहारों के आने से खिलते नहीं

═════
 Read More   📖 25+ ओस-Os Shayari
═════
◼ 19 💦 सुकूत-ऐ-शाम-ऐ-खिजां में हुस्न की एक अंगड़ाई इधर सूखे दरख्तो पर हरे पत्ते निकल आए

◼ 20 💦 मंज़िल तो सबकी एक ही है, रास्ते हैं जुदा, कोई पतझड़ से गुजरा, कोई सहरा से गया
"बेहतरीन पतझड़ पर शायरी"
Patjhad Poetry
◼ 21 💦 खिले गुलशन-ए-वफा में गुल-ए-नामुराद ऐसे, ना बहार ही ने पूछा ना खिजां के काम आए

◼ 22 💦 खिजां पुरानी पड़ी, कूच कर गया सैयाद, नई बहारें नए बागवां की बात करो

◼ 23 💦 पतझड़ के मौसम में दिल को सुकून बहुत मिलता है, शाख से टूटे हर पत्ते में चेहरा अपना जो दिखता है
"Khiza Shayari in Hindi"

2 Line Khizan Poetry 

◼ 24 💦 मुमकिन है कि तू जिसको समझता है बहारां, औरों की निगाहों में वो मौसम हो खिजां का 

◼ 25 💦 फूलों की बस्ती में आखिर कांटों का क्या काम था, ऐ खुदा तेरे गुलशन में आ जाती क्यूं खिजां है

◼ 26 💦 उम्मीदों के फूल गुलशन में कबके मुरझा चुके, जो बचा है खिजां में वो कांटों का तमाशा है खिजां के लूट से बर्बादिए-चमन तो हुई यकीन आमदे-फस्ले-बहार कम न हुआ•➖मजाज
"4 लाईन खिज़ा शायरी"
◼ 27 💦 गमों की फसल हमेशा तर-ओ-ताजा रही, ये वो खिजां है जो शर्मिन्दा-ए-बहार नहीं

◼ 28 💦 अरसे बाद खिजां पलटी नज़र आई बहार, बरसों बीते तन्हाईओं के बाद आई खुमार
"खिज़ा शायरी"
◼ 29 💦 जहाँ बस्ती थी खुशियाँ, आज हैं मातम वहाँ वक़्त लाया था बहारें वक़्त लाया है खिजां

═════
 Read More   📖 20+ घटा-Ghata Shayari 
 Read More   📖 101+ बारिश-Barish Shayari Images
═════
◼ 30 💦 सुनायेगी ये दास्तां शमा मेरे मजार की, खिजां में भी खिली रही ये कली अनार की

◼ 31 💦 न खिजां में है कोई तीरगी, न बहार में कोई रोशनी, ये नजर-नजर के चराग है, कहीं जल गये, कहीं बुझ गये

◼ 32 💦 तेरी जुल्फ में लगा सकूं, वो कली न मैं खिला सकूं, बेबस खिजां में बैठा हूं, वो बहार भी न मैं ला सकूं

◼ 33 💦 फूल चुन लिए उसने सारे मेरे शाख़े-गुल से खिजां थी हिस्से मेरे, जो बागबां में ही रह गई

◼ 34 💦 अब रंजिशो-खुशी से बहारो-खिजां से क्या महवे-खयाले-यार हैं हमको जहाँ से क्या•➖मजरूह सुल्तानपुरी

◼ 35 💦 फिर इसके बाद नज़रे नज़र को तरसेंगे, वो जा रहा है खिजां के गुलाब दे जाओ


◼ 36 💦 असीरान-ए-कफस को वास्ता क्या इन झमेलों से, चमन में कब खिजां आई, चमन में कब बहार आई।
"2 लाईन खिज़ा शायरी"
◼ 37 💦 गुल खिलेंगे फिर कैसे दिल में आरजुओं के, दोस्ती खिजां से जब करता गुलसितां अपना

◼ 38 💦 क्या खबर थी खिजां होगी मुक्कदर अपना, मैंने तो माहौल बनाया था बहारों के लिए

Khizan Poetry Shayari
◼ 39 💦 खिजां अब आयेगी तो आयेगी ढलकर बहारों में, कुछ इस अन्दाज से नज्मे-गुलिस्तां कर रहा हूँ मैं।

 🌞 ::  Final Word ::🌞 

दोस्तों आशा करता हूँ आप सभी को हमारे द्वारा किये गए "39+ Patjhad-Khizan Shayari In Hindi Images" का यह पोस्ट पसंद आया होगा और आपने पढ़ा होगा खिज़ा\पतझड़ पर शायरी, स्टेटस साथ ही आपने हमारे द्वारा संग्रह किये गए "Patjhad-Khizan Status" को अपने दोस्तों को फेसबुक व्हात्सप्प और इंस्टाग्राम पर साझा भी किया होगा। 
 Best 45+ Patjhad-Khizan Poetry In Hindi Urdu Images For Facebook WhatsApp 
आप सभी दोस्तों का 🙏 धन्यवाद आपने हमारा यह पोस्ट को पढ़ा और अपना प्यार दिया आशा करता हूँ आपका प्यार और अपनापन हमेशा हमारे "वाह हिंदी ब्लॉग" को मिलता रहेगा❕

Top Post Ad