42+ उदासी शायरी हिंदी, उर्दू - Udasi Status



दोस्तों हिंदी उर्दू शायरी के इस Post की  Topic "Udasi Shayari" हैं. इसमें आप पढ़ सकते हैं उदासी शायरी 2 लाइन, उदासी शायरी in Urdu, उदासी Status, उदासी शायरी 4 लाइन, पर बनी बेजोड़ शानदार शायरी को, मित्रो आशा करता हूँ कि यह पोस्ट आप सभी शायरी के चाहने वालो को बेहद पसंद आएगी.


Udasi-Shayari
Udasi Shayari 

आईये शुरुआत करते हैं इस पोस्ट की और पढ़ते हैं उदासियों पर बनी इस खास पोस्ट को जो आप की उदासियों को शब्दों में बयां करेगा इसमें पोस्ट की गयी तमाम शायरियां।


42+ उदासी शायरी हिंदी, उर्दू  - Udasi Status


1
वादा नहीं कोई तेरा, 
फिर भी इंतज़ार है.

बिछड़ने के बाद भी, 
हमें तुमसे प्यार हैं,

तेरे भी चेहरे की उदासी 
बता रही हैं.

आज भी तेरा दिल, 
मेरे लिए बेकरार हैं.


Waada Nahi Koi Tera, 
Fir Bhi Intzaar Hain,

Bichhadane Ke Baad Bhi, 
Hame Tumase Pyar Hain.

Tere Chaihare Ki Udasi 
Bata Rahi Hain,

Aaj Bhi Tera Dil, 
Mere Liye Bekarar Hain.

   उदासी शायरी 4 लाइन   

2
मैं तुमसे कैसे कहूँ
ऐ मेहरबान,

तुम ईलाज हो
मेरी हर उदासी का.



3

कोई वादा नहीं फिर भी तेरे इंतज़ार में है,
जुदाई के बाद भी तुझसे प्यार है,

तेरे चहेरे की उदासी दे रही है. 
गवाही मुझसे मिलने को 
तू अब भी बेकरार है.


4
ये उदासी भी चेहरे पर 
आने से कतराती है,

जब वो लबो को लबो से 
छू जाती है.

5
मेरी आँखों में छुपी उदासी को 
महसूस तो कर,

हम वह हैं जो सब को 
हंसा कर रात भर रोते हैं.

Meri Ankho Me Chhupi 
Udasi Ko Mahasus To Kar,

Ham Wah Hai Jo Sab Ko Hansa Kar 
Raat Bhar Rote Hai.
____________________________________
____________________________________

6
यूँ चेहरे पर उदासी ना ओढिये साहब,
वक़्त ज़रूर तकलीफ का है,
लेकिन कटेगा मुस्कुराने से ही

7
उदासी तुम पे बीतेगी तो 
तुम भी जान जाओगे,

कि कितना दर्द होता है किसी के 
नज़रअंदाज़ करने से.

Udasi Tum Pe Bitegi To,
Tum Bhi Jaan Jaaoge,

Ki Kitana Dard Hota Hai Kisi Ke,
Nazar-Andaaj Karane Se.

8
कुछ लोग कहते है की बदल गया हूँ मैं,
उनको ये नहीं पता की संभल गया हूँ मैं,

उदासी आज भी मेरे चेहरे से झलकती है,
अब दर्द में भी मुस्कुराना सीख गया हूँ मैं.

9
कमाल लोग होते है वो
जो हमारी आवाज से ही,

उदासी और ख़ुशी का 
अंदाज़ा लगा लेते है.

   उदासी शायरी in Urdu   

10
मौजूद थी उदासी अभी पिछली रात की,
बहला था दिल जरा सा, के फिर रात हो गई.

11
घिरा हूँ तन्हाई और उदासी में, 
इस कदर आजकल,

भूल ना जाऊँ इसलिये खुद से ही खुद की, 
पहचान पूछ लिया करता हूँ. 

12
ज़मीं से उगती है या आसमाँ से आती है,
ये बे-इरादा उदासी कहाँ से आती है?

13
तुम्हारी उदासी और निराशा का रिश्ता,  
तुम्हारी निर्लज्जता और ईश्वर की महत्ता को ना मानने से है.
रूमी के उपदेश  

14
मेरी आत्मा को मेरे 
अंतर ह्रदय से मुस्कुराने दो
और मेरी आँखों से मेरे 
ह्रदय को  मुस्कुराने दो,
  
ताकि मैं उदासी से 
भरे हृदय में,
  
आपार  मुस्कुराहट का 
प्रसार कर सकूँ.

Meri Atma Ko Mere
Antar Hraday Se Muskurane Do,

Aur Meri Ankhon Se Mere 
Hraday Ko Muskurane Do,

Taaki Mai Udasi Se 
Bhare Hrday Me 

Aapaar Muskurahat Ka 
prasaar Kar Saku.
परमहंस योगानंद


15
खयालों में आने का वादा कीजिए
हमें याद करने का वादा कीजिए

शाम की उदासी को देखिए जरा
इसे हसीं बनाने का वादा कीजिए.

   उदासी शायरी 2 लाइन   

16
थकन, टूटन, उदासी, 
ऊब, तन्हाई, अधूरापन,

आपके याद के संग, 
इतना लम्बा कारवाँ क्यूँ है?

17
ये इतनी भी उदासी किस काम की?
थोड़ा इश्क़ करलो वरना 
जिंदगी किस काम की.

18
दोनों आलम को पालने वाला
छोड़कर दुनिया जा रहा है
उदासी दिल को खा रही है

19
उदासी हो गई है दिल पर हावी ऐसे,
तमन्ना सारी मुरझा गई हो जैसे.
____________________________________
न्हे भी पढ़े:-
____________________________________

20
उदासी पसरी थी दिल की दहलीज पर
तुम आये तो धड़कने गुनगुना उठी. 

21
तेरी खामोशी
मुझे खामोश कर जाती है.

तेरी उदासी
मुझे उदास कर जाती है.

आख़िर वो कौन सा रिश्ता है
तेरा और मेरा?

जो तेरी याद आते ही
मेरी रुह के सकूँ को 
मदहोश कर जाती है.

22
सबब इस उदासी का मेरे कौन बतायेगा?
जो भी देखेगा मुस्कुरायेगा.

23
तुम यूँ ना पूँछो मेरी उदासी का, 
सबब ग़र निकले अल्फाज़ तो, 
कई रिश्ते बेनकाब होंगे.


24
मुझसे पूछे न कोई 
मेरी उदासी का सबब,

लग के सीने से मुझे, 
काश रुला दे कोई.

25
वो उदासी का सबब पूछ रहा है,
और मुझको तो बहाने भी 
बनाने नही आते.

26
कुछ ना कुछ तो है 
इस उदासी का सबब.

अब मान भी जाओ 
हम याद आते हैं.

27
यादों में तुम. ख्वाबों में तुम.
उदासी में तुम. खुशी में तुम.

फ़िक्र में तुम. ज़िक्र में तुम.
बस पास नहीं मेरे तुम.

   उदासी शायरी 4 लाइन   

28
चेहरे पर इतनी उदासी भी अच्छी नही
ये वक़्त भले मुसीबतों भरा है 
लेकिन कटेगा मुस्कुराने से ही.

29
उदासी का ये पत्थर 
आँसुओं से नम नहीं होता,

हजारों जुगनुओं से भी 
अँधेरा कम नहीं होता.

बिछड़ते वक़्त कोई 
बदगुमानी दिल में आ जाती,

उसे भी ग़म नहीं होता 
मुझे भी ग़म नहीं होता.

30
उदासी पसरी थी दिल की दहलीज पर, 
तुम आये तो धड़कने गुनगुना उठी.

31
पढ़ ना लें कहीं एक दूसरे की आँखों की उदासी,
हम मिलते हैं अब भी, नज़रें मिलाते नहीं हैं

32
छू ना पाया मेरे अंदर की 
उदासी कोई,

मेरे चेहरे ने बहुत 
अच्छी अदाकारी की.

   उदासी शायरी in Urdu   

33
तेरे चेहरे पर उदासी
आँखों में नमी है,

टाटा नमक इस्तेमाल करो
क्योंकि आयोडीन की कमी है.

34
दुआ करो कि ये पौधा
सदा हरा ही लगे,
उदासियों में भी चेहरा 
खिला खिला ही लगे.

35
ज़मीं से उगती है या आसमाँ से आती है.
ये बे-इरादा उदासी कहाँ से आती है.

   उदासी शायरी 2 लाइन   

36
तपिश से बच कर घटाओं में बैठ जाते हैं, 
गए हुए की सदाओं में बैठ जाते हैं, 

हम अपनी उदासी से जब भी घबराये, 
तेरे ख़याल की छाँव में बैठ जाते हैं.

37
ख़ाली नहीं रहा कभी 
आँखों का ये मकान, 

सब अश्क़ निकल गये 
तो उदासी ठहर गयी.

38
बहुत दिनों से मिरे बाम-ओ-दर का हिस्सा है 
मिरी तरह ये उदासी भी घर का हिस्सा है. 
ख़ुशबीर सिंह शाद

39
रात भर की उदासियों के बाद,
ये भी एक हुनर ही मानो,

कि हम, हर सुबह एक बार फिर से 
जिंदगी सँवार लेते हैं.

42+ उदासी शायरी हिंदी, उर्दू  - Udasi Status


40
उदासियों की वजह तो 
बहुत है ज़िन्दगी में,

पर खुश रहने का मज़ा 
आपके ही साथ है.

Udasiyon Ki Wajah To 
Bahut Hai Zindagi Me,

Par Khush Rahane Ka Maza 
Aapke Sath Hain.
____________________________________

न्हे भी पढ़े:-

41
खफा नहीं हूँ 
तुझसे ए जिंदगी,
बस जरा दिल लगा बैठा हूँ 
इन उदासियों से.


42
कुछ और देर न झरता उदासियों का शजर
किसे खबर तेरे साये में कौन बैठा है
मोहसिन नकवी


दोस्तों आशा करता हूँ की "42+ उदासी शायरी हिंदी, उर्दू  - Udasi Status" यह भी पोस्ट पसंद आया होगा आप सभी को और आपने पढ़ा होगा "उदासी Shayari" उदासी शायरी in Urdu, उदासी Status, उदासी शायरी 4 लाइन, के इस कलेक्शन को दोस्त अगर यह पोस्ट आपके दिल को छू लिया हो तो इसे जरूर से शेयर करे ताकि इस कलेक्शन को और भी दोस्त पढ़ सके. धन्यवाद आप सभी का आपने इस पोस्ट को अपना प्यार दिया.

No comments