121+ साँस शायरी 2 लाइन - साँस Status


बेहतरीन 121+ साँस शायरी 2 लाइन - साँस Status


दोस्तों हिंदी उर्दू शायरी के इस Post की Topic हैं "साँस Shayari". इसमें आप पढ़ सकते हैं साँस शायरी 2 लाइन, साँस शायरी in Urdu, साँस Statusसाँस शायरी Hindiसाँस शायरी 4 लाइन, पर बनी बेजोड़ शानदार शायरी को, मित्रो आशा करता हूँ कि यह पोस्ट आप सभी शायरी के चाहने वालो को बेहद पसंद आएगी.




Saans-Shayari-2-Line
Saans  Shayari 2 Line

आईये अब देर कैसी शुरुआत करते हैं और पढ़ते हैं आज की यह खूबसूरत Post साँस शायरी in Urdu की और लुफ्त उठाते हैं इस विशाल शायरी के संग्रह की और शेयर करते हैं अपने मित्रों को ताली वो भी इस पोस्ट का आनंद ले सके. उससे पहले गुनगुनाते हैं एक खूबसूरत नगमे की एक लाइन को 


 साँसों की ज़रूरत है जैसे ज़िन्दगी के लिए बस एक सनम चाहिए आशिकी के लिए..... 

तू कह दे अगर तो जीना छोड़ दूँ, बिना सोचे एक पल साँस लेना छोड़ दूँ

1
बेताब आँखे बेचैन दिल,
बेपरवाह साँसे बेबस ज़िन्दगी,
बेहाल हम बेखबर तुम..

2
ख़ुशबू तेरी प्यार की मुझे महका जाती हैं,
तेरी हर बात मुझे बहका जाती हैं,

साँस तो बहुत देर लेती है आने में
हर साँस से पहले तेरी याद आती हैं..

Khushabu Teri Pyaar Ki Mujhe Mahaka Jaati Hai
Teri Har Baat Mujhe Bahaka Jaati Hai,

Sans To Bahut Der Leti Hai Aane Me,
Har Sans Se Pahale Teri Yaad Aati Hai..

3
यादों की धुंध में आपकी परछाई सी लगती है,
कानों में गूंजती शहनाई सी लगती है,

आप करीब है तो अपनापन है,
वरना सीने में सांस भी पराई सी लगती है..

4
चंद  साँसें बची हैं आखिरी बार दीदार दे दो, 

झूठा  ही सही एक बार मगर तुम प्यार दे दो.



ज़िन्दगी वीरान थी और मौत  भी गुमनाम ना हो,

मुझे गले लगा लो फिर मौत मुझे हजार दे दो..

5
जिंदगी की सांसें धागे सपने 
और रिश्ते नाते,

कब कहाँ टूट जाये इसका किसी को 
पता नही चल पाता है..

6
हर एक साँस मुझे खिंचती है 
उसकी तरफ,

ये कौन है जो मेरे लिए 
यूँ बेकरार रहता है..

7
एक साँस भी पूरी नही होती 
तेरे खयालों के बिना,

तुमने ये कैसे सोचा की हम 
जिन्दगी  गुजार देगे  तेरे बीना..

8
हर आस अश्कबार है, हर साँस बेकरार है,
तेरे बगैर जिन्दगी, उजडी हुई बहार है..

9
मेरी निगाहों की 
तलाश बस इतनी है की,

आखरी सांस से पहले 
आपका दीदार हो जाये..

10
तुम खास ही नहीं, हर सांस में हो
रूबरू नहीं पर हर एहसास में हो.

मिलोगे पता नहीं मगर हर तलाश में हो
तलाश पूरी हो ना हो, मगर हर आस में हो..

11
एक पल में खींच लिया 
किसी धागे ने हमें

और दे दी इजाजत महोब्बत को 
साँस में पिरोनी की..

12
आपके प्यार के सुरूर में मैं कुछ ऐसा कर जाऊँगा,
बनकर ख़ुशबू हवा में फ़ैल जाऊँगा,

गर भूलना चाहोगे मुझे तो भूल ना पाओगे,
सांस लोगे तो मैं आपके दिल में उतर जाऊँगा..

Aapke Pyaar Ke Sarur Me Main Kuchh Esa Kar Jaunga,
Bankar Khushbu Hawa Me Fail Jaunga,

Gar Bhulana Chahoge Mujhe To Bhul Naa Paoge,
Sans Loge To Mai Aapke Dil Me Utar Jaunga..


साँस Shayari

13
छू लिया तूने आ कर के, 
इस तरह मेरा वज़ूद,

साँस भी तेरी अब मुझे, 
अपने जैसी ही लगती है..

Chhu Liya Tune Aa Kar Ke,
Is Tarah Mera Wajood,

Sans Bhi Teri Ab Mujhe,
Apane Jaisi Lagati Hai..


14
सांस के साथ
अकेला चल रहा था,

सांस गई तो
सब साथ चल रहे थे..

____________________________________

न्हे भी पढ़े:-
15
महज़ किसी का मिलना 
या बिछड़ना प्यार नहीं,

एक एहसास जो आख़री साँस तक 
साथ रहे,  वही प्रेम है..

16
मैं दिल हुँ, तुम साँसे, मैं जिस्म हुँ,
तुम जान, मैं चाहत हुँ, तुम इबादत,
मैं नशा हुँ, तुम आदत..

17
जो कदम कदम चलूं तुझे ही तय करूँ मै
सांसे बन के तुझे ओढ़ लूँ,

तू ख्याल सा मिला है जिसको गिन सकूँ मै
आदतों में तुझे जोड़ लूँ..

18
हर साँस सजदा करती है
हर नज़र में इबादत होती है,

वो रूह  भी आसमानी होती है,
जिस दिल में महोब्बत होती है..

19
तेरी चाहत मेरी आँखों में है, 
तेरी खुशबू मेरी सांसो में है, 

मेरे दिल को जो घायल कर जाए, 
ऐसी अदा सिर्फ तेरी बातो में है..

Teri Chahat Meri Ankho Me Hai
Teri Khushabu Meri Sanso Me Hai,

Mere Dil Ko Jo Ghayal Kar Jaaye
Esi Ada Sirf Teri Baato Me Hai..

20
मुझ में बेपनाह मुहब्बत के सिवा कुछ भी नही,
तुम अगर चाहो तो मेरी साँसो की तलाशी ले लो..

Mujh me Bepanaah Muhabbat Ke Siwa Kuchh Bhi Nahi,
Tum Agar Chaho To Meri Sanso Ki Talashi Le Lo.. 

21
साँस थम जाती है पर जान नहीं जाती 
दर्द होता है पर आवाज़ नहीं आती,

अजीब लोग हैं इस ज़माने में ऐ दोस्त 
कोई भूल नहीं पाता और किसी को याद नहीं आती..

22
खुशबू की तरह मेरी हर साँस में
प्यार अपना बसाने का वादा करो, 

रंग जितने तुम्हारी मोहब्बत के हैं, 
मेरे दिल में सजाने का वादा करो..

Khushbu Ki Tarah Meri Har Sans Me,
Pyaar Apana Basaane Ka Waada Karo,

Rang Jitane Tumhaari Mohabbat Ke Hai,
Mere Dil Me Sajaane Ka Wada Karo..

23
अपने वजूद का अंदाजा इसी से लगा,
तू सांस है मेरी वो भी रूकी हुई..

24
ना इश्क़ हो ना मोहब्बत,
तुम इबादत हो मेरी,

हर साँस तुझे ही अर्पण है
तुम ज़रूरी आदत हो मेरी..

25
तुमसे मोहब्बत क्या हुई ,
हर साँस इबादत हो गई !

26
मैं साँस साँस घायल हूँ कौन मानेगा,
बदन पे चोट को कोई निशान भी तो नही..

27
मैं तो ज़हर भी पी लूँगी 
मेरी जान इक तेरी ख़ातिर,

पर शर्त है तू सामने बैठ मेरे 
मेरी साँसों के टूटने तक..

28
तलब  ऐसी कि बसा लें 
अपनी  साँसो में तुझे हम, 

और किस्मत ऐसी कि 
दीदार के भी  मोहताज हैं हम..

29
मै दिल हूँ तुम सांसे मै जिस्म हुँ
तुम जान मै चाहत हुँ, 
तुम इबादत मै नशा हुँ तुम आदत..

30
सांस भी है धड़कनें भी है  
बस दिल तुम्हे दे बैठी,

अजीब से दोराहे पर हूं जिंदा हूं 
पर तुम पर मर बैठी हूं..

31
भर देंगे आपके दिल मे 
प्यार इतना कि,

साँस भी लोगे तो सिर्फ़ हमारी 
याद आएगी..

32
हमें आपका दीदार क्या करना, 
जब हम तेरी आँखों में हैं.

हमें दिल का क्या करना,  
जब हम तेरी सांसो में हैं..


साँस शायरी Hindi

33
आज तुम हर साँस के साथ 
याद आ रहे हो,

अब तुम्हारी याद रोक दु 
या अपनी सांस..


साँस शायरी in Urdu

34
चुपके से धड़कन में उतर जायेंगे,
राहें उल्फत में हद से गुजर जायेंगे,

आप जो हमें इतना चाहेंगे ऐ ग़ालिब
हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगे..

35
सुनो धड़कन सम्भालू या 
साँस काबू में करूँ,

यकीं मानो तुझे जी भर के

देखने में आफत बहुत..

36
मेरा वजूद खत्म हुआ, 
अब सिर्फ सांसें चलती है,

इश्क़ का जनाज़ा तुम भी देख लो,
सच्ची मोहब्बत कैसे जलती है..

37
एक दिन जब मेरी साँस थम जाएगी 
मत सोचना चाहत कम हो जाएगी।

फ़र्क सिर्फ़ इतना होगा 
आज हम आपको याद करते हैं
कल मेरी याद आपको रुलाएगी..

38
मुहब्बत की इन्तिहां न पूछिये,
 इस प्यार की वजह न पूछिये,

हर सांस मे समाये रहते हो,
कहां बसे हो तुम जगह न पूछिये..

Mohabbat Ki Inthaan Na Puchhiye
Is Pyaar Ki Vajah Naa Puchhiye,

Har Sans Me Samaaye Rahate Ho
Kaha Base Ho Tum Jagah Naa Puchhiye..


39
महज किसी का मिलना, 
या बिछड़ना प्यार नही.

एक एहसास जो आख़िरी-सांस तक 
साथ रहे वही प्रेम है.

40
तुम सोचो और ख़्याल पूरा हम करेंगे
मोहब्बत में दो रंग और ज्यादा भरेंगे,

तुझे अपनी जिंदगी माना है ऐ सनम
आखरी सांस तक मोहब्बत बेपनाह करेंगे..

41
ख़ुद मिरी आँखों से ओझल मेरी हस्ती हो गई.
आईना तो साफ़ है तस्वीर धुँदली हो गई. 

साँस लेता हूँ तो चुभती हैं बदन में हड्डियाँ.
रूह भी शायद मिरी अब मुझ से बाग़ी हो गई..

42
दिल धड़कने की वजह  तुम हो 
साँसें चलने की वजह  तुम हो.
इस दिल को कभी  धोखा ना देना.

इस दिल की  पहली और आखिरी
मोहबबत सिर्फ तुम हो..

43
अपनी हर साँस तुम्हारे 
नाम की थी हमने,

मेरा न सही, 
अपने नाम का तो ख्याल करते..

44
इस महफिल में
किसी को महसूस मत होने देना,

कि तुम्हारी चाहत से मेरी 
साँसे चलती है..

Is Mahafil Me
Kisi Ko Mahasus Mat Hone Dena,

Ki Tuhaari Chaahat Se Meri
Sanse Chalati Hai..

45
इरादा कत्ल का था तो मेरा 
सर कलम कर देते, 

क्यू इश्क मे डाल कर तुने 
हर साँस पर मौत लिख दी..


____________________________________
न्हे भी पढ़े:-
____________________________________

46
एक ऐसी पहर नही जिस्मे तेरी याद नहीं है
एक ऐसी साँस नही जिसमे तेरी खुश्बू नहीं है,

आदत समझ या नशा इसे
मेरे होने के लिए अब तेरा होना ज़रूरी है..

47
कभी पलकें नीची कभी साँस गहरी भरना,
वो सिखाते हैं मुझे अदाओं से मोहब्बत करना..

48
तुम समंदर हो, दिल मेरा दरिया है
साँसे चलती है दिल में जो मेरे
उसका तू ही तो जरिया है..

Tum Samandar Ho Dil Mera Dariya Hain
Sanse Chalati Hai Dil Me Jo Mere
Usaka Tu Hi To Jariya Hai..

49
मेरी हर धड़कन में जिक्र है तुम्हारा, 
मेरी हर साँस पे नाम है तुम्हारा,

तुम बसे हो दिल में कुछ ऐसे, 
की हर लम्हा एहसास बस होता है तुम्हारा..

50
मैंने दिल से कहा 
उसे थोड़ा कम याद किया कर,

दिल ने कहा वो साँस है 
तेरी तू साँस ही मत लिया कर.. 

51
रोती है तेरी याद मैं आँखें झुकी झुकी
आती है हिचकियो से साँसे रुकी रुकी..

52
साँस तो लेने दिया करो
आँख खुलते ही याद आ जाते हो..

53
तू ही मिल जाये मुझे ये ही काफ़ी है;
मेरी हर साँस ने बस यही दुआ माँगी है,

जाने क्यों दिल खींचा जाता है तेरी तरफ़,
क्या तुमने भी मुझे पाने की कोई दुआ माँगी है..

54
अपनी साँसें भी करदी हैं तेरी 
साँसों में शामिल 

अब इस से ज़्यादा तुझे 
और कैसे चाहूँ?

55
दुआ माँगते हैं रब से, जब आख़िरी साँस आए,
तेरे सामने आए.

तुझे पलकों में बसा कर, 
मेरा दम निकल जाए..

56
लम्हों का इश्क नही, सदियों की इबादत है
कैसे करें शिकायत, हर साँस को तेरी चाहत है..

Lamho Ka Ishk Nahi, Sadiyo Ki Ibadat Hai
Kaise Kare Shikayat, Har Sans Ko Teri Chahat Hai..


57
जिस पल तू जीने की
आस ही छोड़ दे,

ख़ुदा करे मैं उसी पल
तेरी साँसें बन जाऊँ..

58
जिस्म बना लूँ उसे मैं अपना, 
या रूह मैं उसकी बन जाऊँ.

लबों से छू लूँ जिस्म तेरा, 
साँसों में साँस जगा जाऊँ.

तू कहे अगर इक बार मुझे, 
मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ..

59
तड़प रहीं हैं मेरी साँसें
तुझे महसूस करने को..

60
तेरे दिल में मेरी साँसों को,
पनाह मिल जाये,

तेरे इश्क में मेरी जान,
फ़ना हो जाये..

Tere Dil Me Meri Sanso Ko,
Panaah Mil Jaaye,

Tere Ishq Me Meri Jaan
Fana Ho Jaaye..

61
जिस्म संदल सांस खुशबू आंख बादल हो गयी
आपसे घुलकर हमारी रूह पागल हो गयी,

एक कंकड़ प्यार से फेंका ये किसने झील में
आज फिर ढहरे हुए दरिया में हलचल हो गयी..

62
भरोसे के एहसास पर जिंदा रहती है,
मोहब्बत सांसो से तो सिर्फ़ जिस्म चलता हैं..

63
साँस तो बहुत देर लेती है आने में
हर साँस से पहले तेरी याद आती हैं..

64
ख़ुशबू तेरी सांसों की मुझे महका जाती हैं,
तेरी हर बात मुझे बहका जाती हैं..


साँस Shayari

65
मुहब्बत की इन्तिहां न पूछिये,
इस प्यार की वजह न पूछिये,

हर सांस मे समाये रहते हो,
कहां बसे हो तुम जगह न पूछिये..

IMohabbat Ki Inthaan Na Puchhiye
Is Pyaar Ki Vajah Naa Puchhiye,

Har Sans Me Samaaye Rahate Ho
Kaha Base Ho Tum Jagah Naa Puchhiye..

66
हमसे दूर जाओगे कैसे,
दिल से हमें भुलाओगे कैसे,

हम वो ख़ुशबू है जो साँसों में बसते है
खुद की साँसों को रोक पाओगे कैसे..

Hamase Dur Jaaoge Kaise
Dil Se Hame Bhulaoge Kaise?

Ham Wo Khushbu Hai Jo Sanson Me Basate Hai
Khud Ki Sanson Ko Rok Paoge Kaise?

67
रब ना करे इश्क़ की कमी किसी को सताए ,
प्यार करो उसी से जो तुम्हे दिल की बात बताये,

प्यार करने से पहले ये कसम जरूर लेना,
की हे खुदा, आखरी साँस तक हम इस प्यार को निभाए..

साँस शायरी in Urdu

68
धड़कन संभालू या साँस काबू में करूँ,
आपको नज़र भर देखने में आफत बहुत है..

69
जब जब में लेता हूँ साँस तू याद आती है,
मेरी हर एक साँस मे तेरी खुशबू बस जाती है,

कैसे कहूँ तेरे बिना मैं ज़िंदा हूँ,
क्यूंकी हर साँस से पहले तेरी खुशबू आती है..

Jab-Jab Me Leta Hun Sans Tu Yaad Aati Hai,
Meri Har Ek Sans Me Teri Khushabu Bas Jati Hai,

Kaise Kahu Tere Bina Mai Zinda Hun
Kyuki Har Sans Se Phale Teri Khushbu Aati Hai..

70
मन तुलसी का दास वृंदावन हो धा्‍म..! 
साँस-साँस राधा बसे, रोम-रोम मे श्याम..

71
आरजु यही हैं मेरे जीवन की,
तेरी बाहों  में टूटे साँस जिंदगी की..

Aarzoo Yahi Hai Jeevan Ki,
Teri Baho Me Tute Sans Zindagi Ki..

121+ साँस शायरी 2 लाइन - साँस Status


72
नजरें  तुम को ही देखना चाहें 
तो मेरी आँखों का क्या कसूर है,

खुशबू  तुम्हारी  ही आए 
तो मेरी साँसो का क्या कसूर है..

Nazare Tum Ko Hi Dekhana Chahe
To Meri Ankhon Ka Kya Kasur Hai,

Khushbu Tumhaari Hi Aye
To Meri Sanso Ka Kya Kasur Hai.. 


____________________________________

73
धुआँ बन के मिल जाओ हवाओं में तुम,
साँस लेकर तुम्हें दिल में उतार लेंगे हम..

Dhuwa Ban Ke Mil Jaao Hawaaon Me Tum,
Sans Lekar Tumhe Dil Me Utaar Lenge Ham..

74
ये मेरी जिंदगी की सबसे बड़ी तमन्ना है,
तुम हर पल रहो मेरे पास,
मेरी साँसों की तरह..

Ye Meri Zindagi Ki Sabase Badi Tamanna Hai,
Tum Har Pal Raho Mere Paas,
Meri Sanso Ki Tarah..

75
मैं तुम्हारे बिना साँस भी नहीं ले सकती 
 I love you मेरी नाक.. 

76
मै दिल हूँ तुम सांसेमै जिस्म हुँ,
तुम जान मै चाहत हुँ तुम इबादत, 
मै नशा हुँ तुम आदत..

77
ए अजनबी मेरे जाने क्या लगते हो तुम,
साँसो में रहते और दिल में धड़कते हो तुम..

Anabi Mere Jane Kya Lagate Ho Tum?
Sanso Me Rahate Aur Dil Me Dhadakate Ho Tum..

78
इन धड़कनो में तुम्हे बसा लू,
इन आँखों मे तुम्हे 
सजा लू,

मेरे दिल की आरज़ू हो तुम,
इन सांसो में तुम्हे 
छुपा लू मैं..

In Dhadakano Me Tumhe Basa Lu
In Ankho Me Tumhe
Saja Lu,

Mere Dil Ki Aarzoo Ho Tum
In Sanso Me Tumhe
Chhupa Lu Mai..

79
एक पंडित ने कहा,
तू मेरी हाथो की लकीरो में नहीं है,

कोई बात नहीं,
मेरी हर साँस में तो बस तू ही तू है..

Ek Pandit Ne Kaha,
Tu Meri Hatho Ki Lakiro Me Nahi Hai,

Koi Baat Nahi,
Meri Har Sans Me To Bas Tu Hi Tu Hai..

80
सांसों के सिलसिले को ना दो ज़िन्दगी का नाम,
जीने के बावजूद भी, मर जाते हैं कुछ लोग..

Sanso Ke Silsile Ko naa Do Zindagi Ka Naam,
Jeene Ke Bawjud Bhi, Mar Jaate Hai Kuchh Log..

साँस शायरी Hindi

81
हर एक साँस मुझे खींचती है 
उसकी तरफ़,

ये कौन मेरे लिए बे-क़रार 
रहता है..

Har Ek Sans Mujhe Khichati Hai 
Usaki Taraf,

Ye Kaun Mere Liye Be-Karaar
Rahata Hai..

82
उसकी याद आई हैं, साँसों ज़रा धीरे चलो.
धड़कनो से भी इबादत में,
खलल पड़ता है..

Usaki Yaad Aayi Hai, Sanso Jara Dheere Chalo,
Dhadakano Se Bhi Ibadat Me 
Khalal Padati Hai..

83
रख दे मेरे होठो पे अपने होंठ कुछ इस तरह,
या तेरी प्यास बुझ जाये या मेरी साँस रुक जाये..

Rakh  De Mere Hotho Pe Apane Hotho Kuchh Is Tarah
Ya Teri Pyaas Bujh Jaaye Ya Meri Sans Ruk Jaye..

84
ख़ुशबू तेरी प्यार की मुझे महका जाती हैं,
तेरी हर बात मुझे बहका जाती हैं,

साँस तो बहुत देर लेती है आने में
हर साँस से पहले तेरी याद आती हैं..

Khushabu Teri Pyaar Ki Mujhe Mahaka Jaati Hai
Teri Har Baat Mujhe Bahaka Jaati Hai,

Sans To Bahut Der Leti Hai Aane Me,
Har Sans Se Pahale Teri Yaad Aati Hai..

साँस शायरी in Urdu

85
साँसो का टूट जाना तो आम बात हैं, 
जहा अपने बदल जाये मौत तो तब आती हैं..

86
दिल बेचैन है साँसे थम सी गयी है ,
बिन दीदार तेरे शायरी भी जम सी गयी है..

87
याद में तेरी आँहें भरता है कोई, 
हर सांस के साथ तुझे याद करता है कोई, 

मौत तो सचाई है आनी ही है, 
लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज़ मरता है कोई..

88
तलब ऐसी कि बसा लें अपनी साँसो में तुझे हम, 
और किस्मत ऐसी कि दीदार के भी मोहताज हैं हम..

89
महसूस हो रही है फ़िज़ा में उसकी खुशबु,
लगता है मेरी याद में वो सांस ले रहे है..

Mahasus Ho Rahi Hai Fizaa Me Usaki Khushabu,
Lagata Hai Hai Meri Yaad Me Wo Sans Le Rahe Hai..

90
इस ईद पर रब से इबादत में यही दुआ मांगो,
अपने मुल्क में अमन के साँस का जहाँ मांगो..

91
चाहा है तुम्हें अपने अरमान से भी ज्यादा, 
लगती हो हसीन तुम मुस्कान से भी ज्यादा.

मेरी हर धड़कन हर साँस है तुम्हारे लिए, 
क्या माँगोगे जान मेरी जान से भी ज्यादा..

92
आँखों पर तेरी निगाहों ने दस्तख़त क्या किए,
हमने साँसों की वसीयत तुम्हारे नाम कर दी.. 

Ankho Par Teri Nigaho Ne Dastakhat Kya Diye,
Hamane Sanson Ki Vasihat Tumhare Naam Kar Di..

93
मैं नादान था जो वफ़ा को 
तलाश करता रहा ग़ालिब,

ये भी ना सोचा की अपनी सांस भी 
एक दिन बेवफा बन जाएगी..

94
आंसमा पे सरकता चाँद, और कुछ रातें थी सुहानी,
तेरी जुल्फों से गुजरती हुई उंगलियाँ, 
और तेरी साँसे थी जैसे मीठा पानी..

Asaman Pe Sarakata Chand Aur Kuchh Raate Thi Suhani,
Teri Zulfon Se Gujarati Huyi Ungaliyan,
Aur Sanse Thi Jaise Mitha Pani..


95
एक पल जो तुझे भूलने का सोचता हूँ,
मेरी साँसें मेरी तकदीर से उलझ जाती हैं..

Ek Pal Jo Tujhe Bhoolane Ka Sochata Hoon,
Meri Saanse Meri Taqdir Se Ulajh Jati Hai..

96
क्यो ना मैं दूँ ?
आपने साँसों को अल्प-विराम.
ए जो चलती है बस उसीके लिये..

97
अब तो साँसे भी कर दी  तेरी ही साँसों में शामिल,
बताओ इस से ज़्यादा तूजे और कैसे चाहूँ  तुम्हे?

98
दफ़्ना दो हमें कुछ तो राहत मिले.
साँस तेरे बिन थमी सी है..

Dafana Do Hamen Kuchh To Rahat Mile
Sans Tere Bin Thami Si Hain..

99
रात हुई जब शाम के बाद,
आई तेरी याद हर बात के बाद.

खामोश रहकर हमने भी देखा,
आवाज़ आई तेरी हर, सांस के बाद..

100
एक पल जो तुझे भूलने का सोचता हूँ फ़राज़
मेरी साँसें मेरी तकदीर से उलझ जाती हैं.

Ek Pal Jo Tujhe Bhoolane Ka Sochata Hun Faraz
Meri Saanse Meri Taqdir Se Ulajh Jati Hai..

101
सनम ऐ  दिल तेरी सांसे मोहताज है तेरी,
अपना दीदार उधार दे दे..

102
आज भी मेरे दिल में वो रहती है,
आज भी मेरे सपनो में वो दिखती  है.

क्या हुआ अब हम दूर है एक दुसरे से पर,
आज भी मेरी साँसे उसकी धड़कन में बस्ती है..

Aaj Bhi Mere Dil Mein Wo rehti Hai
Aaj Bhi Mere Sapno Me Wo Dikhti Hai.

Kya Hua Ab Hum Door Hai Ek Dosre Se Par
Aaj Bhi Meri Saanse Uski Dhadkan mein basti Hai..

103
सुनो अपना ख्याल रखा करो मेरे लिए,
बेशक़ सांसे तुम्हारी चलती है,
लेकिन तुम में जान तो हमारी बसती है..

Suno Apana Khyal Rakha Karo Mere Liye,
Beshak Sanse Tumhari Chalati Hai,
Lekin Tum Me Jaan Hamari Basati Hai..

104
जुबां कह न पाई मगर,
आँखे बोलती ही रही,
कि मुझे सांसो से पहले तेरी जरूरत है.

Juba Kah Na Payi Magar,
Ankhe Bolati Hi Rahi.
Ki Mujhe Sanso Se Pahle Teri Jarurat Hai..

105
मुझे भी सिखा दो भूल जाने का हुनर,
मैं थक गया हूँ हर लम्हा हर सांस तुम्हें याद करते करते..

106
चटख-से रंग, शोख़ ख़ुशबू, मुख़्तसर सांसें,
काश फूलों की तरह अपनी ज़िन्दगी होती..

107
हो जुदाई का सबब कुछ भी मगर,
हम उसे अपनी खता कहते हैं,

वो तो साँसों में बसी है मेरे,
जाने क्यों लोग मुझसे जुदा कहते हैं..

108
साँस रूक जाये भला ही तेरा इन्तज़ार करते-करते
तेरे दीदार की आरज़ू हरगिज कम ना होगी..

109
याद में तेरी आहें भरता है कोई,
हर सांस के साथ तुझे याद करता है कोई.

मौत सच्चाई है एक रोज आनी है,
लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज़ मरता है कोई..

110
तुम से मुमकिन हो तो फिर रोक दो साँसें मेरी,
दिल जो धड़केगा, तो फिर याद तो तुम आओगे..

111
दर्द की शाम है आँखो मे नमी है,
हर साँस कह रही है बस तेरी कमी है..

112
साँसे मेरी, जिन्दगी मेरी और मोहब्बत भी मेरी,
मगर हर चीज मुकम्मल करने के लिए जरुरत तेरी है. 

Sanse Me, Zindagi Meri Aur Mohabbat Bhi Meri,
Magar Har Chiz Mukammal Karane Ke Liye Jarurat Teri Hai..

113
मेरी जिंदगी में तेरी, 
दखलंदाजी की आदत गई नहीं,

तुम  साँसों में भी रुकावट, 
डालती हो हिचकियां बनकर..

Meri Zindagi Me Teri, 
Dakhalandaji Ki Aadat Gayi Nahi.

Tum Sanson Me Rukawat 
Dalati Ho Hichakiyan Banakar..

114
इश्क ऐसा करो की धड़कन में बस जाए, 
सांस भी लो तो खुशबु उसी की आये,

प्यार का नशा आँखों पे चा जाए, 
बात कुछ भी ना हो पर नाम उसी का आये..

115
अगर वो मेरे मरने की खबर पूछे तो कह देना, कि,
किसी की यादो मे था इतना खोया कि साँस लेना ही भुल गया..

Agar Wo Mere Marane Ki Khabr Puchhe To Kah Dena Ki,
Kisi Ki Yaado Me Tha Itana Khoya Ki Sans Lena Hi Bhul Gaya..

116
मेरे दिल में एक धड़कन तेरी है,
उस धड़कन कि क़सम तू ज़िन्दगी मेरी है.

मेरी एक साँस में एक साँस तेरी है,
वो साँस जो रूक जाये तो मौत मेरी है..

117
चंद साँसों का खेल बाकी है,
और फिर आप रोने वाले हैं..

118
खुदा जाने कि दुनिया कह रही है हम ही मुजरिम है,
हमारे साँस लेने से मशालें बुझ गईं उनकी..

119
काश तू समझ सकती मोहब्बत के उसूलो को,
किसी की सांसो में समाकर उसे तन्हा नहीं करते..

120
ज़िंदगी में हर साँसे मीठी लगने लगी,
जब तुमने कहा हम आप के दिल में रहते हैं.

Zindagi kI har Sans Mithi Si Lagane Lagi,
Jab Tumane Kaha Ham Aap Ke Dil Me Rahate Hai..

121
ख्वाहिशों का आदी दिल काश ये समझ सकता,
कि साँस टूट जाती है इक आस टूट जाने से..

दोस्तों आशा करता हूँ की " 121+ साँस शायरी 2 लाइन - साँस Status " की पोस्ट आपको पसंद आयी होगी। आपने पढ़ा होगा साँस शायरी in Urdu, साँस Status Hindi, साँस शायरी 4 लाइन, पर बनी बेजोड़ शानदार शायरी को, यह पोस्ट पसंद आयी हो तो अपने दोस्तों में शेयर कीजियेगा.





No comments