70+ तलाश शायरी 2 लाइन / तलाश शायरी Urdu


मित्रों आज "तलाश शायरी 2 लाइन" की यह पोस्ट में आप पढ़ सकते हैं बेशुमार  तलाश शायरी 2 Lineतलाश शायरी 4 Line, तलाश शायरी  Urdu और तलाश शायरी Hindi के शानदार कलेक्शन को 

Talaash-Shayari-2-line
Talaash Shayari 2 line
जो खास शेर-ओ-शायरी के चाहने वाले के लिए अलग-अलग सोशल मिडिया के पोस्ट से संग्रह कर के बनाया गया हैं. जो आप को बेहद ही पसंद आएगा और आप तलाश शायरी 2 लाइन का भरपूर लुफ़्त उठा पाएंगे इन्हे पढ़ कर.

लाश शायरी 2 लाइन /  लाश शायरी  Urdu 


 * 1 
तलाश में हूँ उसके, मगर अब तक नाकाम हूँ
*खुद मे 'खुदा' ढूंढना भी, गजब की 'इबादत' है.

Talaash Me Hun Usake Magar Ab Tak Nakaam Hun
Khud Me Khuda Dhundhana Bhi, Gazab Ki Ibaadat Hain.

 * 2 
मैं फिर से, ठीक तेरे जैसे की तलाश में हूँ,
गलती कर रहा हू, लेकिन होशोहवास में हूँ .

Mai Fir Se Thik Tere Jaise Ki Talash Me Hun,
Galati Kar Raha Hun, Lekin Hosho-hawaash Me Hun.

 * 3 
अब तो आँखों से भी जलन होती हैं मुझे,
खुली हो तो तलाश तेरी, बंद हो तो ख्वाब तेरे.

Ab To Ankhon Se Bhi Jalan Hoti Hai Mujhe,
Khuli Ho To Talaash Teri, Band Ho To Khwab Tere.

 * 4
तलाश में बीत गई सारी जिंदगानी,
अब समझा की खुद से बड़ा कोई हमसफ़र नहीं होता.

Talaash Me Beet Gayi Sari Zindagani,
Ab Samajhaa Ki Khud Se Bada Koi Hamsafar Nahi Hota.

 * 5 
तलाश सिर्फ सुकून कि होती हैं ,
नाम रिश्ते का चाहे जो भी हो.

Talaash Sirf Sukun Ki Hoti Hai,
Naam Riste Ka Chahe Jo Ho. 

 * 6 
हम तो उम्र भर के मुसाफ़िर हैं,
मत पूछ, तेरी तलाश में कितने सफ़र किए हैं हमने?

Ham To Umr Bhar Ke Musafir Hai,
Mat Punchh, Teri Talaash Me Kitane Safar Kiye Hamane? 

लाश शायरी 2 लाइन

 * 7 
सबब तलाश करो, अपने हार जाने का,
किसी की जीत पर रोने से कुछ नहीं होगा.

Sabab Talash Karo, Apane Haar Jane Ka,
Kisi Ki Jeet Par Rone Se Kuchh Nahi Hoga.

 * 8 
जा और कोई ज़ब्त की दुनिया तलाश कर,
ऐ इश्क़ हम तो अब तेरे क़ाबिल नहीं रहे.

Ja Aur Koi Zabt Ki Duniya Talaash Kar
E Ishq Ham To Ab Tere Kanil Nahi Rahe.

 * 9
हक़ीक़त को तलाश करना पड़ता है..
अफवाहें तो घर बैठे आप तक पहुँच जाती है.

Haqikat Ko Talaas Karana Padata Hai,
Afawavahe To Ghar Baithe Aap Tak Pahuch Jati Hai.

लाश शायरी 2 Line

 * 10 
सहारे तलाश करना आदत नहीं हमारी,
हम तो अकेले पूरी महफ़िल के बराबर हैं.

Sahaare Talaash Karana Aadat Nahi Hmari,
Ham To Akele Puri Mahafil Ke Barabar Hai.

 * 11 
हर राह पर तुम्हें तलाश करती रही निगाहें,
काश यादों से निकल कर तुम रूबरू हो जाते.

Har Raah Par Tumhe Ta;aash Karati Rahi Nigahe,
Kash Yaado Se Nikal Kar Tum Rubaru Ho Jate.

 * 12
में भी तलाश में हूँ किसी अपने की,
कोई तुमसे हो लेकिन किसी और का ना हो.

लाश शायरी 4 Lines 

 * 13 
जिंदगी की तलाश में हम
मौत के कितने पास आ गए.

लाश शायरी Hindi

 * 14 
रोज मंजिल की तलाश में,
न जाने कहाँ-कहाँ पहुँच जाता हूँ.

Roz Manzil Ki Talaash Me
Na Jaane Kaha-Kaha Oahunch Jate Hai.

۩ इन्हे भी पढ़े ۩
۩۩۩۩۩۩

 * 15 
सुलगती रेत पर पानी की अब तलाश नहीं,
मगर ये कब कहा हमने कि हमें प्यास नहीं.

Sulagati Ret Par Pani Ki Ab Ta;ash Nahi,
Magar Ye Kab Kaha Hamane Ki Pyaas Nahi.

 * 16
तु भी तलाशे कभी खुद को मुझमे,
इस फागुन तेरे रंग में यूं रँगने की 
फ़क़त चाहत सी हैं.

 * 17 
ना भटक मेरी तलाश में तू,
मुझे खुद इन दिनों मेरी तलाश है.

Na Bhatak Meri Talash Me Tu
Mujhe Khud In Dino Meri Talash Hai.

 * 18 
क्या कंहूँ कैसे कंहूँ, तेरी तलाश में मेरी जिंदगी, 
मेरी जिंदगी को ढूंढ़ती फिर रही है इन दिनों.

 * 19 
तलाश कर मेरी कमी को अपने दिल में एक बार,
दर्द हो तो समझ लेना मुहब्बत अभी बाकी है.

Talaash Kar Meri Kami Ko Apane Dil me Ek Baar,
Dard Ho To Samjh Lena Muhabbat Abhi Bhi Baki Hai. 

 * 20 
हज़ार बार ली है तुमने तलाशी मेरे दिल की,
बताओ कभी कुछ मिला है इसमें तुम्हारे सिवा?

Hazaar Baar Li Talashi Mere Dil Ki,
Batao Kabhi Kuchh Mila Hai Isame Tumhare Siwa?

 * 21 
ना जाने क्यों ए जिंदगी मुझे तेरी तलाश है,
माना करोड़ पल है इस जिंदगी मैं,
पर तेरे साथ बीताया एक पल उन करोड़ों से खास है,
इस लिए ए जिंदगी मुझे तेरी तलाश है.

लाश शायरी  Urdu 

 * 22 
जो भी मिला वो हम से खफा मिला 
देखो हमे मोहब्बत का क्या सिला मिला 
उम्र भर रही फ़क़त वफ़ा की तलाश हमे 
पर हर शख्स मुझ को ही क्यों बेवफा मिला।

लाश शायरी 2 लाइन

  * 23 
ज़ीना हराम कर रखा है, मेरी इन आँखों ने
खुली हो तो तलाश तेरी, बंद हो तो ख्वाब तेरे.

Jeena Haraam Kar Rakha Hai, Meri In Ankhon Ne,
Khuli Ho To Teri Talaash, Band Ho To Khwaab Tere.

 * 23
मुझे हैं तलाश तेरी मुझे तेरी जस्त जू है 
मुझ को तेरी तमन्ना मुझे तेरी आरजू है.

लाश शायरी 2 Line

 * 24 
अजीब कश्मकश है ज़िंदगी में,
मंज़िल की तलाश में,
सफ़र से इश्क़ हो गया.

Ajeeb Kashmakash Hai Zindagi Me,
Manzil Ki Talash Me,
Safar Se Ishq Ho Gaya.

 * 25
खाली कागज़ पे क्या तलाश करते हो
एक ख़ामोश-सा जवाब तो है.

Khali Kagaz Pe Kya Talaash Karate Ho,
Ek Khamosh Sa Jawab To Hai.

 * 26 
शुरू तो कर दी तलाश ख़ुद की,
अब तू मिले तो मैं भी मिलु.

 * 27
खुद में भी तलाश किया लोगों से भी पूछा,
तेरे दूर जाने की वजह आज तक नहीं मिली.

Khud Me Talaash Kiya, Logo Se Puchha?
Tere Dur Jane Ki Vajah, Aaj Tak Nahi Mili.

 * 28 
लेने दे मुझे तू अपने ख़्वाबों की तलाशी,
मेरी नींद चोरी हो गयी है, 
मुझे शक है तुझ पर. 

Lene De Mujhe Tu Apane Khwabon Ki Talashi,
Meri Neend Chori Ho Gayi Hai,
Mujhe Shak Hai Tujh Par.

लाश शायरी 4 Lines 

 * 29 
सुकून की तलाश में निकले हम,
तो दर्द बोला औकात भूल गए क्या. 

 * 30 
कभी शब्दो में तलाश न करना वज़ूद मेरा दोस्तों
मैं उतना लिख नहीं पाती जितना महसूस करती हूँ.

۩ इन्हे भी पढ़े ۩
 ۩ ۩ ۩ ۩ ۩

 * 31 
गोरे जिस्म की तलाश मे, 
कभी निकला ही नही,

मैं शुरू से ही फिदा था, 
तेरी सांवली सी सूरत पे.

लाश शायरी Hindi

 * 32 
मुझे है तलाश तेरी,
मुझे तेरी जुस्तजू है.

मुझ को तेरी तमन्ना ,
मुझे तेरी आरजू है.


 * 33 
मुझ में बेपनाह मुहब्बत के सिवा कुछ भी नही,
तुम अगर चाहो तो मेरी साँसो की तलाशी ले लो.

Mujh me Bepanaah Muhabbat Ke Siwa Kuchh Bhi Nahi,
Tum Agar Chaho To Meri Sanso Ki Talashi Le LO

 * 34 
तलाश है इक ऐसे शक्स की, जो आँखो मे उस वक्त दर्द देख ले,
जब दुनियाँ हमसे कहती है, क्या यार तुम हमेशा हँसते ही रहते हो

 * 35 
घर में तो अब क्या रक्खा है, वैसे आओ तलाश करें,
शायद कोई ख्व़ाब पड़ा हो इधर उधर किसी कोने में.

 * 36 
अक्सर खबर की तलाश हम दोनों एक दूसरे से मिला देती है,
एक मेरा प्यार भाई इस पल अपने कैमरे कैद कर लेता.

 * 37 
एक हमसफ़र की तलाश थी,
जो शिद्दत से चाहें,
आखिर कार तन्हाई ने पूरी कर ही दी.

 * 38 
एक सुकून की तलाश मे जाने कितनी बेचैनियां पाल ली,
और लोग कहते है हम बडे हो गए हमने जिंदगी संभाल ली.

 * 39
मेरी हर तलाश तुझ पर आ कर ही ख़त्म होती है,
अब कोई बताये मुझे क्या इससे ज्यादा भी कहीं मोहब्बत होती है.

 * 40 
ये दिल बड़ी बेबस चीज है,
देखता सब को  है, 
लेकिन तलाशता सिर्फ तुझको है. 

 * 41 
कुछ डरी सहमी ठिठकी और आगे बढ़ गई,
मजबूर थी क्या करती गैरत मेरी,
जरूरतों को तलाशने बेशर्मी की हद से गुजर गई.

 * 42
ज़िंदगी मे सच्चे लोगो की तलाश करना
छोड़ दिया हमने,
लोग तो सिर्फ़ वक़्त बिताने और दिल जलाने 
के लिए ही मिलते है.

 * 43
जिसने मेरी हँसी में भी शिकन तलाश ली,
बारीकियाँ तो देखिये उसकी निगाह की.



लाश शायरी  Urdu 

 * 44 
जन्नत की तलाश उन्हे होती है, 
जिन्हे जन्नत की परवाह होती है.

मेरी जन्नत तो, 
शुरू और तुम्ही पर ख़त्म होती है.

 * 45 
इक उन की तलाश में हम दर-बदर भटकते है,
जहां वो पांव रखते हैं वहां हम सर पटकते है.

 * 46 
तुम खास ही नहीं, हर सांस में हो
रूबरू नहीं पर हर एहसास में हो.

मिलोगे पता नहीं मगर हर तलाश में हो
तलाश पूरी हो ना हो, मगर हर आस में हो.

 * 47 
तू खुद की खोज में निकल तू किसलिए हताश है, 
तू चल तेरे वजूद की समय को भी तलाश है.

लाश शायरी 4 Lines 

 * 48 
छू ले आसमान ज़मीन की तलाश ना कर,
जी ले ज़िंदगी खुशी की तलाश ना कर.

तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त,
मुस्कुराना सीख ले वजह की तलाश ना कर.

 * 49 
तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,
दिल मेरा था और धड़क रहा था वो.

प्यार का ताल्लुक भी अजीब होता है,
आंसू मेरे थे और सिसक रहा था वो.

 * 50 
किसे ख़बर कि अहल-ए-ग़म सुकून की तलाश में
शराब की तरफ़ गए शराब के लिए नहीं. 
हबूब ख़िज़ां

  * 51 
मुझे तलाश है एक रूह की जो मुझे दिल से प्यार करे,
वरना जिस्म तो पैसो से भी मिल जाया करते है.

 * 52 
ज़िन्दगी में भागे जा रहे हैं, 
कामयाबी की तलाश में.

सुकून से ही दूर जा रहे है, 
सुकून की तलाश मे.

 * 53 
जिनकी याद में हम दीवाने हो गए,
वो हम ही से बेगाने हो गए.

शायद उन्हें तालाश है अब नये प्यार की,
क्यूंकि उनकी नज़र में हम पुराने हो गए.


लाश शायरी 2 लाइन /  लाश शायरी  Urdu 


 * 54 
कश्ती है पुरानी मगर दरिया बदल गया,
मेरी तलाश का भी तो जरिया बदल गया.

लाश शायरी 2 Line

न शक्ल बदली न ही बदला मेरा किरदार,
बस लोगों के देखने का नजरिया बदल गया.

 * 55 
आप की याद दिल बेकरार करती है,
नजर तलाश आपको बार-बार करती है,

गिला नहीं जो हम दूर है आपसे,
आप की जुदाई भी हमसे प्यार करती है.

लाश शायरी 2 लाइन

 * 56 
ख़ुशी और गम के अलावा भी है ज़िन्दगी
एक ख़ुदा रहनुमा है मेरा और एक मुकमल्ल साकी है.

मेरे अलावा कोई मेरा गैर नहीं यहां,
बस इस दिल को ख़ुद की तलाश बाक़ी है.

۩ इन्हे भी पढ़े ۩
 ۩ ۩ ۩ ۩ ۩
 * 57 
छु ले आसमान जमीन की तलाश न कर,
जी ले जिंदगी खुशी की तलाश न कर.

तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त,
मुस्कुराना सीख ले वजह की तलाश न कर.

 * 58 
ये नज़र नज़र की बात है कि किसे क्या तलाश है,
तू हँसने को बेताब है,
मुझे तेरी मुस्कुराहटों की प्यास है.

 * 59 
तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,
दिल मेरा था और धड़क रहा था वो. 

प्यार का ताल्लुक भी अजीब होता है,
आंसू मेरे थे और सिसक रहा था वो.

लाश शायरी Hindi

 * 60 
एहसास मिटा, तलाश मिटी और मिट गयी सारी उम्मीदे, 
सब मिट गया पर जो न मिट सका वो हैं सिर्फ तेरी यादें.



लाश शायरी  Urdu 

 * 61 
बड़े महफूज़ ठिकाने तलाश लिए हैं हमने,
तेरी आँखों में तेरी बाहों में तेरे सीने में.

 * 62
अपना ना कोई ठौर ठिकाना,
अपनी ना कोई भाषा है.

हूँ मुसाफिर तलाश मंज़िल की,
चलना जीवन की परिभाषा है.

 * 63
सफ़र ज़िंदगी का बहुत ही हसीन है,
सभी को किसी न किसी की तलाश हैं.

किसी के पास मंज़िल हैं तो राह नही,
और जिसके पास राह हें तो मंज़िल नही.

 * 64 
मंजिल भी तुम हो, तलाश भी तुम हो, 
उम्मीद भी तुम हो, आस भी तुम हो.

कैसे कहूँ इश्क भी तुम हो और जूनूँ भी तुम ही हो,
अब जब अहसास तुम हो तो जिंदगी भी तुम ही हो.

 * 65 
तू खयाल है यह कमाल है,
मेरी जिंदगी एक हिसाब है.

मैं अंधेरों में हूं चल रही,
मुझे रोशनी की तलाश है.

खरार में या करार में,
मुझे ज़स्दो जहन का हिज़ाब हैं.

 * 66
इंसान के कंधों पर इंसान जा रहा था,
कफ़न में लिपटा अरमान जा रहा था.

जिन्हें मिली बे-वफ़ाई महोब्बत में,
वफ़ा की तलाश में श्मशान जा रहा था.

 * 67 
वफा की तलाश तो अकसर,
बे-वफाओ को होती है.

हमने तो दुनियाँ ही छोड दी,
किसी की वफा के लिये.

 * 68 
मैं कब से अपनी तलाश में हूँ, मिली नही हूँ,
सवाल ये है के मैं कहीं हूँ भी, या नही हूँ.

न जाने कितने ख़ुदाओं के दरमियाँ हूँ लेकिन,
अभी भी मैं अपने ही हाल में हूँ, जुदा नहीं हूँ.

 * 69 
तुम खास ही नहीं, हर सांस में हो,
रूबरू नहीं पर हर एहसास में हो.

मिलोगे पता नहीं मगर हर तलाश में हो,
तलाश पूरी हो ना हो, मगर हर आस में हो.

 * 70 
तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,
दिल मेरा था और धड़क रहा था वो.

प्यार का ताल्लुक भी अजीब होता है,
आंसू मेरे थे और सिसक रहा था वो.

 * 71 
ये नजर नजर की बात है कि
कि किसे क्या तलाश है.

तू हँसने को बेताब है,
मुझे तेरी मुस्कुराहटों की प्यास है.

दोस्तों आशा करता हु आप सभी को लाश शायरी Hindiतलाश शायरी 2 लाइनतलाश शायरी 4 Linesलाश शायरी Urdu की यह पोस्ट बेहद पसंद आयी होगी आशा करता हूँ की हमारे अन्य ब्लॉग पोस्ट की तरह इस पोस्ट को भी अपने दोस्तों में जरूर से आप शेयर करेंगे धन्यवाद.


No comments