64+ हाथ शायरी 2 Line / हाथ शायरी Urdu, Hindi.

64+ हाथ शायरी 2 Line / हाथ शायरी  Urdu, Hindi. 


दोस्तों आज की यह खास पोस्ट हाथ शायरी 2 Line पर की की गयी हैं इसमें आप पढ़ सकते हैं हाथ शायरी  Urdu, "हाथ शायरी Hindi" लाज़वाब कलेक्शन को  यह पोस्ट हिंदी उर्दू शायरी के चाहने वालो को बेहद पसंद आएगा।


Hath-Shayari-2-Line
Hath Shyari  2 Line

आज की यह शानदार पोस्ट उन Hindi, Urdu Shayari के चाहने वाले कद्रदानों के लिए अलग-अलग सोशल मिडिया के प्लेटफार्म से संग्रह कर के बनाया हैं जो  और इस पोस्ट में आप पढ़ सकते हैं अपने पसंद के ढेरो हाथ पर बनी उम्दा शायरियों को.   

तो चलिए देर कैसी आईये लुफ़्त उठाते हैं  हाथ शायरी 2 Line का और दोस्तों को शेयर करते अपनी मन-पसंद शायरी। 

1
पूछा जो मेने उनसे प्यार करोगे कब तक 
रख के दिल पे हाथ कहा धड़केगा दिल ये जब तक

❂ 2
हाथ पर हाथ रखा उसने तो मालूम हुआ ,
अनकही बात को किस तरह सुना जाता है

❂ 3
तेरा मिलना भी क्या खूब अहसास तो था . 
कुछ पल ही सही हाथों में तेरा हाथ तो था

❂ 4
हाथ थाम सके, न पकड़ सके दामन, 
बड़े क़रीब से उठकर चला गया कोई.

❂ 5
हाथ थामे रखना यारों इस दुनिया मे भीङ भारी हैं 
खो ना जाऊँ कहीं ये जिम्मेदारी कुछ तुम्हारी हैं

❂ 6
तेरे हाथ थाम कर ज़िन्दगी की राहो पर चलना चाहता हूँ, 
फिर ख़ुशी मिले या दुःख ये मेरा नसीब है 

❂ 7
पूरी दुनिया से लड़ सकते है हम एक हाथ से
 अगर मेरे दूसरे हाथ में तेरा हाथ हो 

❂ 8
ख़्वाब आँखों से गए,नींद रातों से गई
वो गया तो ऐसे लगा,ज़िंदगी हाँथो से गई.
۩
Khwaab Ankhon Se Gaye. Neend Raato Se Gayi
Wo Gaya To Ese Laga Zindagi Hatho Se Gayi

❂ 9
मेरे दिल पे हाँथ रखकर धड़कन महसूस तो करो
तुमसे चंद घंटे भी बात न हो तो घबराने लगता है.

❂ 10
तुम्हारे साथ चलना और तुम्हारा हाथ थामना ,. 
उतना ही प्यारा लगता है  
जितना कि तुम खुद हो

❂ 11
हाथ थामे जिनका चले थे कभी… 
अब तनहा इस दिल में लिए घुमते है उन्हें

❂ 12
प्यार मे जुदाई भी होती है  
प्यार मे बेवफाई भी होतीं है 
थाम के देख मेरा हाथ पता चलेगा 
प्यार मे सचाई भी होती है

हाथ शायरी  Urdu

❂ 13
देखता रहता हूँ हाथों की
लकीरों को दिन रात,
यार का दीदार कहीं
लिखा हो शायद
۩
Dekhata Rahata Hun Hatho Ki
Lakiro Ko Din Raat
Yaar Ka Deedaar Kahi
Likha Ho Shayad

❂ 14
बात करनी थी, बात कौन करे
दर्द से दो-दो हाथ कौन करे
हम सितारे तुम्हें बुलाते हैं
चाँद न हो तो रात कौन करे.
۩
Baat Karani Thi, Baat Kaun Kare
Dard Se Do-Do Hath Kaun Kare?
Ham Sitare TuMHE Bulate Hai,
Chand Naa Ho To Raat Kaun Kare?

❂ 15
होंठों  पे आज उनका नाम आ गया, 
 प्यासे के हाथ में आज जाम आ गया, 
डोले कदम तो गिरे उनकी बाहों में 
जाके, आज तो पीना भी हमारे  काम आ गया.
۩
Hotho Pe Aaj Unaka Naam Aa Gya
Pyaase Ke Hath Me Aaj Jaam Aa Gya
Dele Ladam To Geere Unaki Baaho Me
Jake Aaj To Peena Bhi Hmare Kaam Aa Gya

❂ 16
नज़रों से ना देखो हमें 
तुम में हम छुप जायेंगे
अपने दिल पर हाथ रखो तुम
 हम वही तुम्हें मिल जायेंगे
۩
Nazaro Se Naa Dekho Hame
Tum Me Ham Chhup Jaayege
Apane Dil Par Hanth Rakho Tum
Ham Wahi Tumhe Mil Jayenge


64+ हाथ शायरी 2 Line / हाथ शायरी  Urdu, Hindi.


❂ 17
है जज़्बात 
समझना भी जरुरी 
सिर्फ हाथ थामना मोहब्बत 
नहीं होता
Hath-Shayari-Urdu
Hath Shayari Urdu

Hai Jajbaat Samhana Bhi Jaruri
Sirf Haath Tham Lene Se
Mohabbat Nhai Hota

❂ 18
ठान लिया था कि अब और 
नहीं पियेगें चाय उनके हाथ की.
पर उन्हें देखा और लब बग़ावत कर बैठे

हाथ शायरी  Urdu

❂ 19
उस अजनबी से हाथ मिलाने के वास्ते
महफ़िल में सब से हाथ मिलाना पड़ा मुझे. 
۩
Us Ajanabi Se Hath Milane Ke Vaste,
Mahafil Me Sab Se Hath Milaana Pada

❂ 20
तू जरा हाथ मेरा थाम के देख तो सही,
लोग जल जायेगें  महफ़िल मे, चिरागो की तरह.

Haath-Shayari-Hindi
Haath Shayari Hindi

 Tu Jara Hath Tham Ke Dekh To Sahi
Log Jal Jayenge Mahafil Me Chiragon Ki Tarah

❂ 21
दिल की धडकन से एहसास तुम्हारा होता है,
थामे कोई हाथ तो वो हाथ तुम्हारा होता है..
۩
Dil Ki Dhadakan Se Ehasaas Tumhara Hota Hai,
Thame Koi Hath To Wo Hath Tumhaara Hota Hai..

❂ 22
तू मेरे दिल पे हाथ तो रख
हम तेरे हाथ पे दिल रख देंगे

❂ 23
एक पंडित ने कहा,
तू मेरी हाथो की लकीरो में नहीं है,
कोई बात नहीं,
मेरी हर साँस में तो बस तू ही तू है
۩
Ek Pandit Ne Kaha,
Tu Meri Hatho Ki Lakiro Me Nahi Hai,
Koi Baat Nahi,
Meri Har Sans Me To Bas Tu Hi Tu Hai

●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●
55+ नींद शायरी -  Neend Shayari
50+ शाम पर शायरी - 50+ Sham Par Shayari
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●

❂ 24
छूट गया हाथों से वो मेरे
कुछ इस कदर
रेत फिसलती है जैसे बन्द मुट्ठी से
۩
Chhut Gaya Hatho Se Wo Mere
Kuchh Is Kadar,
Ret Fisalati Hai Jaise Band Mutthi Se.

❂ 25
बात करनी थी, बात कौन करे
दर्द से दो-दो हाथ कौन करे
हम सितारे तुम्हें बुलाते हैं
चाँद न हो तो रात कौन करे.
۩
Baat Karani Thi, Baat Kaun Kare
Dard Se Do-Do Hath Kaun Kare?
Ham Sitare TuMHE Bulate Hai,
Chand Naa Ho To Raat Kaun Kare?

❂ 26
हर किसी के हाथ में बिक जाने को हम तैयार नहीं
यह मेरा दिल है तेरे शहर का अख़बार नहीं.
۩
Har Kisi Ke Hath Bik Jaane Ko Ham Taiyaar Nahi,
Yah Mera Dil Hai Tere Shahar Ka Akhabaar Nahi.

❂ 27
हमने पूछा कैसे, वो चले गए
हाथों मे जाम देकर
۩
Hamne Punchha Kaise Wo Chale Gaye
Hatho Me Jaam Dekar.

❂ 28
अजीब सी पहेलियाँ हैं मेरे हाथों की लकीरों में,
लिखा तो है सफ़र मगर मंज़िल का निशान नहीं
۩
Ajeeb Si Paheliyan Hai Mere Hathon Ki Lakiron Me,
Likha To Safar Magar Manzil Ka Nishan Nahi.

❂ 29
थाम लूँ तेरा हाथ और‪ तुझे‬ इस दुनिया से दूर ले जाऊं,
जहाँ तुझे देखने वाला‪ मेरे सिवा‬ कोई और ना हो.
۩
Tham Lun Hath Aur Tujhe Is Duniya Se Dur Le Jaun,
Jahan Tujhe Dekhane Wala Mere Siwa Koi Aur Naa Ho.

हाथ शायरी 2 Line

❂ 30
ऐसा नहीं कि दिल में तेरी तस्वीर नहीं थी, 
पर हाथो में तेरे नाम की लकीर नहीं थी.
۩
Yesa Nhai Ki Dil Me Teri Tasveer Nahi Thi,
Par Hantho Me Tere Naam Ki Lakir Nahi Thi.

❂ 31
खाली हाथों को कभी गौर से देखा है,
किस तरह लोग लकीरो से निकल जाते है.
۩
Khali Hantho Ko Kabhi Gaur Se Dekha Hai
Kis Tarah Log Lakiro Se Nikal Jaate Hai.

❂ 32
अब कहा जरुरत है हाथों मे पत्थर उठाने की, 
तोडने वाले तो जुबान से ही दिल तोड देते.
۩
Ab Kaha Jarurat Hai Hantho Me Patthar Uthane Ki
Todane Wale To Jubaan Se Hi Dil Tod Dete Hai. 

●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●

❂ 33
देखता रहता हूँ हाथों की लकीरों को दिन रात, 
यार का दीदार कहीं लिखा हो शायद

हाथ शायरी  Urdu

❂ 34
कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना. 
हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता हैं.

❂ 35
तुमसे ना कट सके गा अंधेरों का ये सफ़र,
के अब शाम हो रही है ,मेरा हाथ थाम लो 
۩
Tumane Na Tak Sakega Andhero Ka Ye Safar
Ke Ab Sham Ho Rahi Hai, Mera Hath Tham Lo.

❂ 36
साथ में दोस्त हो, हाथ में जाम हो
जिंदगी जीने का बस मज़ा ही  मज़ा हो.

❂ 37
तेरे हाथ की काश मैं वो लकीर बन जाऊं, 
काश मैं तेरा मुक़द्दर तेरी तक़दीर बन जाऊं.
मैं तुम्हें इतना चाहूँ कि तुम भूल जाओ हर रिश्ता,
सिर्फ मैं ही तुम्हारे हर रिश्ते की तस्वीर बन जाऊं.
۩
Tere Hath Ki Kash Main Wo Lakir Ban Jau,

Kash Mai Tera Mukddar Teri Takdir Ban Jau,
Main Tumhe Itana Chahu Ki Tum Bhul Jao Har Rishta,
Sirf Mai Hi Tumhare Har Rishte Ki Tasveer Ban Jau..

❂ 38
घर से दूर हैं तो  घर की याद आती है
वो बचपना, वो छोटी सी मुहब्बत याद आती है
कभी मन होता है कि भूल जायें सब कुछ मगर
हाथ जलता है जब तवे से, तो माँ की याद आती है
۩
Ghar Se Dur Hai To Ghar Ki Yaad Aati Hai,
Wo Bachapana, Wo Chhoti Si Mohabbat Yaad Aati Hai.
Kabhi Man Hota Hai Ki Bhul Jaaye Sab Kuchh Magar,
Hath Jalata Hai Jab Tave Se,
To Maa Ki Yaad Aati Hai.

❂ 39
न फितरत ये रही मेरी, कि आगे हाथ फैलाऊँ,
है इससे अच्छा तो नहीं, 
इसी पल मर न क्यूँ जाऊ.
۩
Naa Fitarat Ye Rahi Meri Ki Aage Hath Failaun
Hai Isase Achchha To Nahi
Isi Pal Mar Naa Kyu Jau

❂ 40
वो अपने मेहंदी वाले हाथ मुझे दिखा कर रोई,
अब मैं हुँ किसी और की, ये मुझे बता कर रोई,
कैसे कर लुँ उसकी महोब्बत पे शक यारो,
वो भरी ✒ महफिल में मुझे गले लगा कर रोई.
۩
Wo Apane Mehandi  Wale Hath Mujhe Dikha Kar Royi,
Ab Main Hun Kisi Aur Ki Ye Mujhe Bata Kar Royi 
Kiase kAR Lu UsAKI MoHABBAT Pe Shak Yaaro,
Wo Bhari Mahafil Me Mujhe Gale Laga Kar Royi

❂ 41
सदाकत खुद-ब-खुद करती है शोहरत इस जमाने में..
कभी खुशबू भी कहती है,मुझे तुम सूंघ कर देखो
बड़ी ही खूबसूरत शाम हुआ करती थी वो तेरे साथ की
अब तक खुशबू नही गई, मेरी कलाई से तेरे हाथ की
۩
Sadakat Khud-B-Khud Karati Hai Shoharat Is Zamaane Me,
Kabhi Khushabu Bhi Kahati Hai, Mujhe Tum Sungh Kar dekho
Badi Hi Khubsurat Sham Hua Karati Thi Wo Tere Sath Ki
AB Khushabu Nahi Gayi Meri Kalayi Se Tere Hath Ki.

❂ 42
एक तेरा ही नशा हमें मात दे गया वरना,
मयखाना भी हमारे हाथ जोड़ा करता था.
۩
Ek TERA Hi Nasha Hame Maat De GAYA Varana
Maykhana Bhi Hamare Hath Joda Karata Tha.

❂ 43
इन्सान जब दिल के हाथों मजबूर होता है.
तो झूठे प्यार पर भी बड़ा गूरूर होता है
۩
Insaan Jab Dil Ke Hatho Majbur Hota Hai
To Jhuthe Pyaar Par Bhi Bada Gurur Hota Hai

हाथ शायरी 2 Line

❂ 44
आज उसने अपने हाथ से पिलायी है यारो,
लगता हैआज नशा भी नशे मे हैं.
۩
Aaj Usake Apane Hath Se Pilayi Hai Yaaro,
Lagata Hai Aaj Bhi Nashe Me Hain..

❂ 45
गिरा पलकों से अश्क़ तो 
सोचा ना था,
रुख़सार पर हाथ तेरे संभाल 
लेंगे उन्हें
۩
Gira Palako Se Ashk To 
Socha Naa Tha
Rukhsaar Par Hath Tere Sambhal 
Lenge Unhe

❂ 46
मेरी शक्ल पे मत जाइये जनाब दिल में गंगा हे,
 दिमाग मे पंगा है, हाथ में डंडा है, बाक़ी सब चंगा मँगा है

●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●
 75+ होंठ Status 

50+ख़ामोशी पर शायरी - Khamoshi  Shayari 
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●

❂ 47
हम तो पागल है जो शायरी में ही दिल की बात कह देते है... 
लोग तो गीता पे हाथ रखके भी सच नहीं बोलते

❂ 48
सँवर जाऊँ गर तू मेरा हाथ थाम ले
बिखर जाऊँ खुशबू सी गर तू एक बार देख ले 
हो जाए मुकम्मल चाहत मेरी भी गर, 
मेरी #बिंदिया और मेहंदी में तू अपना नाम लिख ले

❂ 49
तूफान भी आना जरुरी है जिंदगी में, 
पता तो चलता है की कौन हाथ थामे रहता है.. 
और कौन साथ छोड़ देता है

❂ 50
मुझे मालूम है मां की दुआएं साथ चलती हैं, 
सफ़र की मुश्किलों को हाथ मलते मैंने देखा है

❂ 51
अपनी मर्ज़ी का बड़ा हाथ है इस रोने में,
जितने आँसू हैं रुलाने पे नहीं आते हैं?

❂ 52
जब जब मैने दर्द लिखा 
शब्दो ने मेरे हाथ पकड़ लिए 

❂ 53
नमक को हाथ मे लेकर सितमगर सोंचते क्या हो 
हजारों जख्म है दिल पर जहाँ चाहो छिड़क डालो 

❂ 54
वो अक्सर ज्योतिष को हाथ दिखाकर
नसीब पुछती थी अपना,
 एक बार मुझे हाथ थमा देती तो 
नसीब बदल जाता उसका

❂ 55
दुनिया तो दुनिया वालों को ही मुबारक हो
मेरे हाथ में तो बस तुम अपना हाथ रख दो

❂ 56
भीड़ में तेरा हाथ थाम कर जब संग चला था 
वो एक पल में मैंने सदियों जी लिया था 

❂ 57
रिश्तों में निखार सिर्फ हाथ मिलाने से नहीं आता, 
विपरीत हालातों में हाथ थामे रहने से आता है

हाथ शायरी 2 Line

❂ 58
मेहनती और मजदूर हू 
साहिबा क्या मेरा हाथ थाम सकोगी आप 

❂ 59
हाथ की लकीरें पढने वाले ने तो 
मेरे होश ही उड़ा दिये
मेरा हाथ देख कर बोला
तुझे मौत नहीं किसी की चाहत मारेगी

❂ 60
जब भी तेरी याद आती है, तब मै अपने दिल पे हाथ रखता हूं
क्युकी मुझे पता है, तू कही नही मिले तो यहा जरुर मिलेगी. 

❂ 61
मैंने तो अपने दिल पे हाथ रखके
 उनके फैसले का इंतज़ार किया,
लेकिन उन्होंने आँखे बंद करके
नज़र ही झुका ली

❂ 62
जिक्र उस का ही सही  बज़्म में बैठे हो फ़राज़,
दर्द कैसा भी उठे हाथ न दिल पर रखना
۩
Zikr Us Ka Hi Sahi Bazam Me Baithe Ho "Faraaz"
Dard Kaisa Bhi Uthe Hath Na Dil Par Rakhana

❂ 63
समय और साबुन के अलावा अगर कोई 
चीज हाथ से फिसलती है,
तो वह है आम की गुठली 

❂ 64
काश हम उनके बूथ के मतदान अधिकारी होते 
हाथ थाम लेते उनका स्याही लगाने  के बहाने


दोस्तों अगर आप सभी को यह 64+ हाथ शायरी 2 Line / हाथ शायरी  Urdu, Hindiहाथ शायरी  Hindi , की यह Post पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर से शेयर करे. ताकि वो भी आप की तरह इस पोस्ट का भरपूर लुफ़्त उठा सके. 

No comments