बेहतरीन 55+ करीब शायरी 2 Line / करीब शायरी Hindi


बेहतरीन 55+ करीब शायरी 2 Line


करीब शायरी Hindi के इस प्यारे से आर्टिकल में आप पढ़ सकते हैं करीब शायरी Sad और करीब शायरी Love Story पर बने लाज़वाब शायरी कलेक्शन को जो इंटनेट और सोशल मिडिया पर काफी प्रचलित हैं. 

Kareeb-Shayari-2-Line
Kareeb Shayari 2 Line


दोस्तों हर कोई अपने प्यार के करीब रहना चाहता हैं पर हर एक के नशीब में नहीं होता अपनी मोहब्बत के करीब रहना और उन्हें बिछड़ना  ही पड़ता हैं किसी ना किसी  बहाने से, और यह दुरी बहुत दर्द देती हैं, और दिल कहता हैं जिन्हे दिल के करीब रखा आज वो हमसे दूर हैं.   करीब शायरी Sad की यह पोस्ट उन्हें दीवानों के लिए हैं जो आज अपने प्यार से दूर हैं 

साथ ही कुछ ऐसे खुश नसीब लोग होते हैं जिनको  प्यार मिलता हैं और उनका प्यार मरते दम तक करीब रहता हैं, और उन्ही खुशकिस्मत आशिको की आशिकी के लिए भी मौजूद हैं इस पोस्ट में करीब शायरी Love Story पर बनी बेजोड़ शायरी का यह कलेक्शन जो इंटनेट  प्रचलित हैं. तो देर कैसी आईये पढ़ते हैं करीब शायरी 2 Line के इस बेहतरीन पोस्ट को। 


🔘 1
करीब इतना रहो कि रिश्तों मे 
प्यार रहे।
दूर भी इतना रहो कि आने का 
इन्तजार रहे
Kareeb Itana Raho Ki Rishtao Me 
Pyaar Rahe
Dur Bhi Itana Raho Ki Aane Ka 
Intazaar Rahe

🔘 2 
सिखा न सकी ,
जो उम्र भर तमाम किताबें मुझे,

करीब से कुछ चेहरे पढ़े ,
और न जाने कितने सबक सीख लिए ,
Sikha Naa Saki
Jo Umra Bhar Tamaam Kitabe Mujhe
Kareeb Se Kuchh Chehare Padhe
Aur Naa Jaane Kitane Sabak Seekh Liye

🔘 3 
करीब से जाना तो समझा,
ये स्वार्थ की दुनिया है,
और बस जरुरतों से चलती है
Kareeb Se Jana To Samjha
Ye Swarth Ki Duniya Hai
Aur Bas Jarurato Se Chalati Hai

●▬▬▬▬▬▬▬●
 इन्हे भी पढ़े 
90+ Ishq Shayari Urdu - Hindi
75+ इश्क Status - Ishq Shayari
●▬▬▬▬▬▬▬●


🔘 4
तुझ से दूर रहकर मोहब्बत बढती जा रही हैं..
क्या कहूँ, कैसे कहूँ ये दुरी तुझे और 
करीब ला रही हैं.
Tujh Se Dur Rahkar Mohabbat
Badhati Ja Rahi Hai
Kya Kahu, Kaise Kahu Ye Duri Tujhe Aur
Kareeb La Rahi Hai

🔘 5 
वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे!
दुनिया में हम खुश नसीब होंगे!
दूर से जब इतना याद करते है आपको!
क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे?
Wo Waqt Wo Lamhe Kuchh Ajeeb Honge,
Duniya Me Ham Khush-Nashib Honge
Dur Se Itana Yaad Karate Hai Aapko
Kya Hoga Jab Aap Hamare Kareeb Honge.

🔘 6
आदत हो गयी है तेरे 
करीब रहने की
तेरी सांसो की खुशबु वाला इत्र 
कही और मिलता नहीं 
Aadata Ho Gayi Hai Tere
Kareeb Rahane Ki
Teri Sanso Ki khushbu Wala Itra
Kahi Aur Milata Nahi.

🔘 7 
करीब से देखने पर भी ज़िन्दगी
का मतलब समझ नही आया हमें,
मालूम होता है अपने ही
शहर में भूला हुआ मुसाफ़िर हूँ।
Kareeb Se Dekhane Par Bhi Zindagi
Ka Matalab Samjh Nahi Aaya Hame
Malum Hota Hai Apane Hame
Malum Hota Hai Apane Hi
Shahar Me Bhula Hua Musafir Hun.

🔘 8 
तेरे करीब आकर बड़ी उलझन में हूँ 
मै गैरो में हूँ या तेरे अपने में हूँ 
Tere Kareeb Aakar Badi Uljhan Me Hun
Main Gairo Me Hun Ya Tere Apane Me Hun

🔘 9
जब भी करीब आता हूँ बताने के लिये
जिंदगी दूर रखती हैं सताने के लिये, 
महफ़िलों की शान न समझना मुझे, 
मैं तो अक्सर हँसता हूँ गम छुपाने के लिये.
Jab Bhi Kareeb Aata Hun Batane Ke Liye
Zindagi Dur Rakhati Hai Sataane Ke Liye
Mahafil Ki Shaan Na Samjhaana Mujhe
Main To Aksar Hansata Hun Gham Chhupana Ke Liye

करीब शायरी 2 Line

🔘 10
तूने फैसले ही 
फ़ासले बढ़ाने वाले किये है,
वरना कुछ ना था 
तुझसे ज़्यादा 
करीब मेरे
Tune Faisale Hi
 Fasale Badhane Wale Kiye Hai
Warana Kuchh Naa Tha 
Tujhase Jyaada 
Kareeb Mere

🔘 11
जो बिना कहे सुने भी 
दिल के बेहद करीब होते हैं…
ऐसे नाज़ुक एहसास 
बड़े नसीब से नसीब होते है
Jo Kahe Kahe Sune Bhi 
Dil Ke Bahad Kareeb Hote Hai
Ese Najuk Ehasaas 
Bade Naseeb Se Naseeb Hote Hai

🔘 12
इस से बढकर तुमको और कितना 
करीब लाँऊ मैं …
कि तुमको दिल में रखकर भी मेरा 
दिल नहीं लगता 
Is Se Jyada Tumako Aur Kitana
Kareeb Laau
Ki Tumako Dil Me Hi Rakhkar Bhi Mera
Dil Nahi Lagata

🔘 13
करीब आओगे तो शायद हमे समझ लोगे,
ये फासले तो गलतफहमिया बढाते है.
Kareeb Aaoge To Shayad Hame Samajh Loge
Ye Fasale To Galtfahamiyan Badhate Hai.

करीब शायरी Love Story

🔘 14 
वो जब करीब से हंस कर गुजर गए
कुछ खास दोस्तों के भी चेहरे उतर गए
Wo Jab Kareeb Se Hans Kar 
Guzara Gaye
Kuchh Khas Dosto Ke Chehare 
Utar Gaye

🔘 15 
तुम आये तो लगा हर खुशी आ गई,
यू लगा जैसे ज़िन्दगी आ गई…
था जिस घड़ी का मुझे कब से इंतज़ार
अचानक वो मेरे करीब आ गई 
Tum Aaye To Laga Har Khushi Aa GAYI
Yu Laga Jaise Zindagi Aa Gayi
Tha Jis Ghadi Ka mUjhe Kab Se Intzaar
Achanak Wo Kareeb Aa Gayi.

●▬▬▬▬▬▬▬●
 इन्हे भी पढ़े 

95+ वफ़ा Shayari 
25+ चुप पर Shayari  
●▬▬▬▬▬▬▬●

🔘 16 
ना हाथ थाम सके ना पकड़ सके दामन…
बेहद ही करीब से गुजर कर 
बिछड़ गया कोई
Na Hath Tham Sake Naa Pakad Sake Daaman
Behad Hi Kareeb Se Guzar Kar 
Bichhad Gyaa Koi

🔘 17 
इत्तेफाकन मिल जाते हो जब तुम राह में कभी
यूँ लगता है करीब से ज़िन्दगी 
जा रही हो जैसे
Itefakan Mil Jaate Ho Jab Raah Me Kabhi
Yu Lagata Hai Kareeb Se Zindagi 
Ja Rahi Ho Jaise

🔘 18 
हम उन दिनों अमीर थे,
जब तुम करीब थे 
Ham Un Dino Ameer The
Jab Tum Kareeb The.

🔘 19
ना जाने, करीब आना किसे कहते हैं..
मुझे तो, तुमसे दूर जाना ही 
नही आता
Naa Janae Kareeb Aana Kise Kahate Hai,
Mujhe To Tumase Dur Jana Hi 
Nahi Aata

🔘 20
काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता,
 तू ना आती तो तेरी आवाज़  तो आती.
Kash Mera Ghar Tere Ghar Ke Kareeb Hota,
 Tu Naa Aati Teri Awaz To Aati.

🔘 21
दूर हो कर भी करीब रहने की आदत है 
याद बनकर दिल में बस जाने की आदत है 
करीब न होते हुए भी करीब पाओगे तुम मुझे 
एहसास बनकर रहने की आदत है मुझे
Dur Ho Kar Bhi Kareeb Rahane Ki Aadat Hai
Yaad Bankar Dil Me Me Bas Janae Ki Aadat Hai
Kareeb N Hote Huye Bhi Kareeb Paaoge Tum Mujhe
Ehasaas Bankar Rahane Ki Aadat Hai Mujhe

🔘 22 
ज़िन्दगी के हिसाब किताब भी 
बड़े अजीब थे
जब तक. हम अज़नबी थे
ज्यादा करीब थे.
Zindagi Ke Hisaab Kitaab Bhi 
Bade Ajeeb The
Jab Tak Ham Anjanabi The, 
Jyaada Kareeb The.

🔘 23
ना जाने, करीब आना किसे कहते हैं..
मुझे तो, तुमसे दूर जाना ही नहीँ आता
Naa Jane Kareeb Aana Kise Kahate Hai
Mujhe To Tumse Dur Jana Nahi Aata

🔘 24
वो करीब ही न आये तो इज़हार क्या करते,
खुद बने निशाना तो शिकार क्या करते,
मर गए पर खुली रखी आँखें,
इससे ज्यादा किसी का इंतजार क्या करते
Wo Kareeb hi N Aaye To Izahaar Kya Karate
Khud Bane Nishana To Shikaar Kya Karate
Mar Gaye Par Khuli Rakhi Ankhe
Isase Jyaada Kisi Ka Intzaar Kya Karate.

🔘 25
लाकर तेरे करीब मुझे दूर कर दिया,
तकदीर भी मेरे साथ एक चाल चल गई।
Laakar Tere Kareeb Muje Dur Kar Diya
Takdir Bhi Mere Sath Ek Chal Chal Gayi

🔘 26 
करीब आ तेरी आँखों में देख लू खुदको 
बहुत दिनों से आइना नहीं देखा मैंने 
Kareeb Aa Tewri Ankho Me Dekh lU khudko
Bahut Dino Se Aayina Nahi Dekha Maine

🔘 27 
ना तो कोई किसी के करीब होता है,
ना ही कोई किसी से दूर होता है,
मोहब्बत खुद ही चल कर आती है करीब उसके,
जो किसी की तक़दीर होता है
Na To Koi Kisi Ke Kareeb Hota Hai
Na Hi Koi Kisi Se Dur Hota Hai
Mohabbat Khud Hi Chal Kar Aati Hai Kareeb Usake
Jo Kisi Ki Takdir Hota Hai.

🔘 28
बेहद करीब है वो शख्स आज भी 
मेरे इस दिल के
जिसने खामोशियों का सहारा लेके 
दूरियों को अंजाम दिया
Behad Kareeb Hai Wo Shaks Aaj Bhi 
Mere Is Dil Ke
Jisane Khamoshiyo Ka Sahaara Leke 
Duriyon Ko ANzaam Diya

🔘 29
तुम दूर बहुत दूर हो मुझसे.. ये तो जानता हूँ मैं…
पर तुमसे करीब मेरे कोई नही है 
ये बात तुम भी कभी न भूलना
Tum Dur Bahut Dur hO Mujhse
Ye To Janata Hun Main.
Par Tumase Kareeb Mere Koi Nahi Hai
Ye Baat Tum Bhi Kabhi Naa Bhulana

●▬▬▬▬▬▬▬●

 इन्हे भी पढ़े 

●▬▬▬▬▬▬▬●

🔘 30 
करीब इतना रहो कि रिशतो मै 
प्यार रहे।
दूर भी इतना रहो कि आने का 
इन्तजार रहे
Kareeb Itana Raho Ki Rishto Me 
Pyaar Rahe
Dur Bhi Itana Raho Ki Aane Ka 
Intzaar Rahe

🔘 31  
ना हाथ थाम सके ना पकड़ सके दामन
बेहद ही करीब से गुज़र कर 
बिछड़ गया कोई
Naa Hath Tham Sake Naa Pakad Sake Daman
Behad Hi Kareeb Se Guzar Kar 
Bichhad Gaya Koi

करीब शायरी Sad 

🔘 32
मेरी तलाश का है जुर्म या मेरी 
वफा का क़सूर, 
 जो दिल के करीब आया वही 
वफा ना कर सका 
Mere Talaash Ka Hai Jurm
Ya Meri Wafa Ka Kasur?
Jo Dil Ke Kareeb Aaya Vahi
Wafa Naa Kar Saka

करीब शायरी Hindi 

🔘 33
फासले ही अच्छे है इश्क में यारों,
ज्यादा करीब रहने से मोहब्बत,
पाक नही रहती
Fasale Hi Achchhe Hain Ishk Me Yaaro,
Jyaada Kareeb Rahane Se Mohabbat,
Paak Nahi Rahati

🔘 34
तन्हाईयां जाने लगी जिंदगी मुस्कुराने लगी,
ना दिन का पता है ना रात का पता.

आप की दोस्ती की खुशबू हमे महकाने लगी,
एक पल तो करीब आ जाओ धड़कन भी
 आवाज़ लगाने लगी..
Tanhayiyan Jane Lagi Zindagi Muskurane Lagi,
Na Din Ka Pata Hai Naa Raat Ka Pata,

Aap Dosti Ki Khushbu Hame Mahakaane Lagi
Ek Pal To Kareeb Aa Jao Dhadakan Bhi 
Aawaz Lagaane Lagi..

🔘 35
डर  से ज्यादा तेरे करीब आने को 
जी करता है,
तेरे होठों को होठों से छू जाने को 
जी करता है,

तुम हो मेरे बेताब दिल की धड़कन
तुम्हें अपना बनाने को जी करता है
Dar Se Jyaada Tere Kareeb Aane Ko 
Jee Karata Hai
Tere Hotho Ko Hotho Se Chhu Jaane Ko 
Jee Karata Hai,

Tum Ho Mere Betaab Dil Ki Dhadakan
Tumhe Apana Banane Ko Jee Karata Hai

🔘 36
तुझ से दूर रहकर मोहब्बत बढती जा रही हैं,
क्या कहूँ, कैसे कहूँ,
ये दुरी तुझे और करीब ला रही हैं..
Tujhse Dur Rahkar Mohabbat Badhati Ja Rahi Hai,
Kya Kahun, Kaise Kahu,
Ye Duri Tujhe Aur Kareeb La Rahi Hai.

करीब शायरी 2 Line

🔘 37
जो बिना कहे सुने भी दिल के,
बेहद करीब होते हैं,

ऐसे नाज़ुक एहसास 
बड़े नसीब से नसीब होते है..

═════❥❀✿☜❀═════
Jo Bina Kahe Sune Bhi Dil Ke,
Behad Kareeb Hote Hai,

Ese Najuk Ehasaas,

Bade Nasib Se Nasib Hote Hai..

🔘 38
हम नींद से उठकर, इधर-उधर
 ढूंढते हैं तुझे,
  क्यों ख्वाबों में मेरे, इतने करीब 
चले आते हो तुम❓
Ham Neend Se Uthkar Idhar-Udhar 
Dhundhate Hai Tujhe
Kyu Khwaab Me Mere Itane Kareeb
Chale Aate Ho Tum

करीब शायरी Love Story

🔘 39 
लाएँगे कहाँ से हम, 
जुदाई का हौसला,
 क्यों इस क़दर मेरे करीब 
आ रहें हैं आप 
═════❥❀✿☜❀═════
Layenge Kaha Se Ham 
Judayi Ka Hausala
Kyu IS Kadar Mere Kareeb 
Aa Rahe Hai Aap

🔘 40  
जब जब होती हैं बारिश और गरजते है ये बादल 
मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती है.

और दिल की हर एक धड़कन से आवाज़ आती है.
तुम करीब आओ ना, आओ ना.
Jab-Jab Hoti Hai Barish Aur Garajate Hai Ye Badal,
Mere Dil Ki Dhadakan Badh Jaati Hai,

Aur Dil Ki Har Ek Dhadakan Se Aawaz Aati Hai.
Tum Kareeb Aao Na, Aao Naa.

🔘 41  
 ऐ दोस्त जब भी तू उदास होगा,
  मेरा ख्याल तेरे आस-पास होगा,
  दिल की गहराईयों से जब भी करोगे याद हमें,
  तुम्हें. हमारे करीब होने का एहसास होगा..
Ye Dost Jab Bhi Tu Udas Hoga
Mera Khyaal Tere Aas-Paas Hoga
Dil Ki Gaharayiyo Se Jab Bhi Karoge Yaad Hame
Tumhe Jamare Kareeb Hone Ka Ehasaas Hoga

🔘 42  
आया ही था ख्याल के आँखें छलक पड़ी
   आंसू तुम्हारी याद के कितने करीब थे..
Aaya Hi Tha Khyaal Ke Ankhe Chhalak Padi
Ansu Tumhari Yaad Ke Kitane Kareeb The



करीब शायरी Sad 

🔘 43   
नहीं करता इज़हारे-ऐ-इश्क़ वो, 
   पर रहता है मेरे करीब है वो.
  देखूँ उसकी आँखों में तो शर्मा जाता है वो, 
  हाय मेरा यार भी कितना कमाल है..
Nahi Karata Izahaare-E-Ishq Wo
Par Rahata Hai Mere Kareeb Hain Wo
Dekhu Usaki Ankho Me To Sharma Jata Hai Wo
Hay Mera Yaar Bhi Kitana Kamaal Hai

🔘 44   
वो करीब ही न आये तो इज़हार क्या करते,
   खुद बने निशाना तो शिकार क्या करते.
   मर गए पर खुली रखी आँखें, 
   इससे ज्यादा किसी का इंतजार क्या करते.
Wo Kareeb hI Na Aaye To Izahaar Kya Karate
Khud Bane Nishaana To Shikaar Kya Karate
Mar Gaye Par Khuli Rakhi Ankhe
Isase Jyaada Kisi Ka Intzaar Kya Karate

🔘 45   
बड़ी ख़ामोशी से गुज़र जाते हैं 
  हम एक दूसरे के करीब से 
 फिर भी दिलों का शोर सुनाई दे ही जाता है..
Badi Khamoshi Se Guzar Jate Hai
Ham Ek Dusare Ke Kareeb sE
Fir Bhi Dilo Ka Shor Sunayi De Hi Jata Hai

🔘 46  
इस दौर में दूर से ही दुआ सलाम का 
रिश्ता अच्छा है,
 करीब आने पर अक्सर दूर हो 
जाते हैं लोग.
Is Daur Me Dur Se Hi Dua-Salam Ka 
Rishta Achcha Hai
Kareeb Aane Par Aksar Dur Ho 
Jaate Hai Log

करीब शायरी Hindi 

🔘 47  
जो दिल के करीब थे वो जबसे 
दुश्मन हो गए
 जमाने में हुए चर्चे हम 
मशहूर हो गए. 
Jo Dil Ke Kareeb The Wo Jabse 
Dushman Ho Gaye
Zamane Me Huye Charche Ham 
Mashhur Ho Gaye

🔘 48   
 छू जाते हो तुम मुझे हर रोज एक नया 
ख्वाब  बनकर
   ये दुनिया तो खामखां कहती है कि तुम 
मेरे करीब नही.
Chhu Jate Ho Tum Mujhe Har Roz Ek Naya
Khwaab Bankar
Ye Duniya To Khamkha Kahati Hai Ki Tu
Mere Kareeb Nahi

🔘 49   
कभी हम भी इस के क़रीब थे, 
दिलो जान से बढ़ कर अज़ीज थे, 
मगर आज ऐसे मिला है वो, 
कभी पहले जैसे मिला ना हो। 
बशीर बद्र 
Kabhi Ham Bhi Is Ke Kareeb The
Dilo Jaan Se Badh Kar Ajeej The
Magar Aaj Ese Mila Hai Wo
Kabhi Pahale Jaise Mila Naa Ho

🔘 50  
आज फिर दिल दिमाग के करीब हो गया
 आज फिर एक रिश्ता गरीब हो गया.
Aaj Fir Dil Dimaag Ke Kareeb Ho Gaya
Aaj Fir Ek Rishta Gareeb Ho Gay

🔘 51   
काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता,
 बात करना न सही देखना तो 
नसीब होता.
Kash Mera Ghar Tere Ghar Ke Kareeb Hota
Baat Karana Naa Sahi Dekhana To 
Naseeb Hota

🔘 52   
कुछ लोग तो बस इसलिए  अपने बने हैं अभी,
 कि कभी मेरी बर्बादियां हों तो दीदार करीब से हो.
Kuchh Log To Bas Isaliye Apane Bane Hai Abhi
Ki Kabhi Meri Barbaadiya Ho To Deesaar
Kareeb Se Ho

🔘 53   
 हर-वक्त ज़िंदा मुझमें तू है किसी  बहानें ये 
समझानें को आ,
 कुछ और करीब आनें को आ मेरे सीनें में 
अब समानें को आ. 
Har Waqt Zinda Mujhme Tu Hai Kisi Bahane Ye 
Samjhane Ko Aa
Kuchh Aur Kareeb Aane Ko Aa Mere Seene Me
 AB Samaane Ko Aa.

बेहतरीन 55+ करीब शायरी 2 Line 


दोस्तों आज की  करीब शायरी Hindi  करीब शायरी Love Story. करीब शायरी Sad. की यह शेर-ओ-शायरी पोस्ट अगर पसंद आयी हो तो  शेयर करना  भूले धन्यवाद आप सभी का..   


No comments