लाज़वाब Bekhudi शायरी - हिंदी उर्दू


ढेरो लाज़वाब Bekhudi शायरी 


आज पढ़ते हैं शायरी के बेजोड़ कलेक्शन Bekhudi शायरी के इस पोस्ट को और किसी के ख्यालो में बेसुध पड़े आशिको के लिए खास हैं, बेखुदी शायरी, Bekhudi Whatsapp Status की  पोस्ट।  यह Shayari On Topics से लिया गया हैं. 


Bekhudi-Shayari


दोस्तों आज का यह पोस्ट हिंदी उर्दू शायरी के कद्रदानों को लिए बनाया गया हैं. जिन्हे शेरो-शायरी से प्यार हैं।  यह संग्रह खास उन लोगी के लिए हैं जो अपने प्यार का इंतज़ार बेसुध  हो कर करते हैं अपने प्यार के ख्यालो में डूबे  रहते हैं. तो आईये इस पोस्ट की शुरुआत करते हैं उससे पहले गुनगुनाते हैं एक फ़िल्मी नगमा जो फिल्म हसीना मान जाएगी से लिया गया हैं और इस गीत को लिखा हैं अख्तर रूमानी ने और अपनी आवाज़ से संवारा हैं लता जी और रफ़ी जी ने साथ ही सगीत दिया हैं कल्याणजी आनंदजी ने 
बेखुदी में सनम, उठ गये जो कदम आ गये, आ गये, आ गये पास हम, आग ये कैसी मन में लगी है, मन से बढ़ी तो तन में लगी है, आग नहीं ये दिल की लगी है, जितनी बुझाई उतनी जली है, दिल की लगी ना हो तो क्या ज़िन्दगी है, साथ हम जो चले, मिट गये फ़ासले



۞ 1
बेखुदी वो नहीं कि हम, 
तेरे तसव्वुर में 
खो जाएं,
यकीनन बेखुदी वो है.
कि तुझको भूल 
ना पाएं.

Bekhudi-Whatsapp-Status
Bekhudi Whatsapp Status 

Bekhudi Wo Nahi Ki Ham, 
Tere Tasvvur Me 
Kho Jaaye
Yakinan Bekhudi Wo Hai
Ki Tujhako Bhul 
Naa Paaye.

۞ 2

कई ख़्वाब मुस्कुरायें सरेआम 
बेखुदी में ,

 मेरे लबों पे आ गया जान 
तेरा नाम बेखुदी में
▬▬▬▬▬▬●
Kyi Baar Muskuraye Sareaam
Bekhudi Men,
Mere Labo Pe Aa Gaya Jaan
Tera Naam Bekhudi Me.

۞ 3
सीधी बात शोहरत की बेख़ुदी का मज़ा.
 आप जानिए. 
इज़्ज़त की ज़िन्दगी का मज़ा.
 हमसे पूछिए
▬▬▬▬▬▬●
 Bekhudi शायरी 
▬▬▬▬▬▬●
Sidhi Si Baat Shoharat Ki Bekhudi Ka Mazza
Aap Janiye,
Izzat Ki Zindagi Ka MAZA
hAMASE Puchhiye.

●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬●
इन्हे भी पढ़े 
51+ अजनबी पर शायरी - Ajnabi Shayari  
110+ दिल पर शायरी - Dil Shayari  
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬●

۞ 4
बेखुदी में बस एक इरादा 
कर लिया
इस दिल की चाहत को हद से 
ज्यादा कर लिया
जानते थे वो इसे निभा न सकेंगे पर
उन्होंने मजाक और हमने 
वादा कर लिया।
▬▬▬▬▬▬●
Bekhudi Me Bas Ek Irada
Kar Liya
Is Dil Ki Chahat Ko Had Se
Jyaada Kar Liya
Janate The W Ise Nibha Naa Sakenge Par
Unhone Mazak Aur Hamane
Wada Kar Liya

۞ 5 
कुछ ऐसी है यार ,
तेरे इश्क़ की बेखुदी ,
इक तुझे ही लिखने को ,
हर्फ मचल यूँ 
जाते है ..
▬▬▬▬▬▬●
Kuchh Esi Hai Yaar
Tere Ishq Ki Bekhudi
Ek Tujhe Hi Likhane Ko
Harf Machal Yun
Jaate Hai.

۞ 6 
तेरी बेखुदी में लाखो पैगाम 
लिखते है, 
तेरे गम में जो गुजरी बात 
तमाम लिखते हैं, 
अब तो पागल हो गई वो कलम, 
जिस से हम तेरा नाम 
लिखते है
▬▬▬▬▬▬●
Teri Bekhudi Me Lakho Paigaam
Likhate Hai
Tere Gam Me Jo Guzari Baat
Tamaam Likhate Hai
Ab To Paagal Ho Gayi Wo Kalam
Jis Se Ham Tera Naam
Likhate Hai.

۞ 7

हमारी बेखुदी का हाल वो पूछे अगर

तो कहना होश बस इतना है की
तुमको याद करते है

bekhudi -Status


Hamari Bekhudi Ka Haal Wo Puchhe Agar
To Kahana Hosh Bas Itana Hai Ki
Tumako Yaad Karate Hai

۞ 8 
बेखुदी कि जिन्दगी जिया नही करते 
जाम दुसरो का छिन कर पिया नही करते 
उनको मुहब्बत है तो आ के इजहार करे 
पीछा हम भी किसी का किया नही करते 
▬▬▬▬▬▬●
Bekhudi Ki Zindagi Jiya Nahi Karate
Jaam Dusaro Ka Chhin Kar Piya Nahi Karate
Unako Mohabbat Hai To Aa Ke Izahaar Kare
Peechha Ham Bhi Kisi Ka Kiya Nahi Karate.

۞ 9 
बेखुदी जिंदगी हर पल
लाजवाब की
तलाश है 
शायरी की खुशनुमा
बेखुदी में आये
अजनबी दोस्त।
▬▬▬▬▬▬●
Bekhudi Zindagi Har Pal
Lazavaab Ki
Talash Hai
shayari aki Khushnuma
Bekhudi Me Aaye
Ajnabi Dost.

۞ 10 
क़ोई ख्वाब मुस्कुराये सरे शाम
बेखुदी में. 
मेरे लब पे आ गया था तेरा नाम
 बेखुदी में ..
▬▬▬▬▬▬●
Koi Khwab Muskuraye Sare-Sham
Bekhudi Me
Mere Lab Pe Aa Gyaa Tha Tera Naam
Bekhudi Me.

۞ 11
आँखों में तेरे इश्क की
मदहोशियाँ लिए... 
हम तुझ को सोचते है बड़ी
बेखुदी के साथ.
▬▬▬▬▬▬●
Ankho Me Tere Ishq Ki
Madhoshiyan Liye
Ham Tujhe Sochate Hai Badi
Bekhudi Ke Sath

●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬●
इन्हे भी पढ़े 
50+ख़ामोशी पर शायरी - Khamoshi  Shayari 
90+ जुदाई पर शायरी - Judayi Par Shayari Status
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬●

۞ 12
खुलते बंद होते, 
लबों की ये अनकही
मुझसे कह रही हैं 
के बढ़ने दे बेखुदी
▬▬▬▬▬▬●
Khulate Band Hote
Labon Ki Ye Ankahi
Mujhse Kah Rahi Hai
Ke Badhane De Bekhudi.

۞ 13
मुझसे नहीं कटती अब
ये उदास रातें
बेखुदी मे कल सूरज से कहूँगा
मुझे साथ लेकर डूबे

bekhudi-par-shayari
Bekhudi Par Shayari

Mujhse Nahi Katati Ab
Ye Udaas Raate
Bekhudi Me Kal Suraj Se Kahunga
Mujhe Sath Lekar Dube.

۞ 14
आपकी याद आती रही
रात भर, 
बेखुदी में हंसाती रही
रात भर,, 
चांद मेरे संग सफर में ही रहा, 
चांदनी गुनगुनाती रही
रात भर,, 
▬▬▬▬▬▬●
 Bekhudi शायरी 
▬▬▬▬▬▬●
Aapki Yaad Aati Rahi 
Raat Bhar
Bekhudi Me Hansati Rahi 
Raat Bhar
Chand Mere Sang Safar Me Hi Raha
Chandani Gungunati Rhai 
Raat Bhar.

۞ 15 
तेरी बेखुदी में लाखो
पैगाम लिखते है,
 तेरे गम में जो गुजरी बातें
तमाम लिखते है, 
अब तो पागल हो गई वो कलम,
 जिस से हम तेरा नाम लिखते है!
▬▬▬▬▬▬●
Teri Bekhudi Me Lakho
Piagam Likhate Hai
Tere Gam Me Jo Guzari Baate
Tamaam Likhate Hai
Ab To Pagal Ho Gayi Wo Kalam
Jis Se Ham Tera Naam Likhate Hai.

۞ 16
कई ख़्वाब मुस्कुरायें आज फिर
सरेआम बेखुदी में ,
 मेरे लबों पे आ गया जान
तेरा नाम बेखुदी में.
▬▬▬▬▬▬●
Kayi Khwaab Muskuraye Aaj Fir
Sareaam Bekhudi Me
Mere Labo Pe Aa Gaya Jaan
Tera Naam Bekhudi Me

۞ 17
होश वालों को ख़बर क्या
बेख़ुदी क्या चीज़ है 
इश्क़ कीजे फिर समझिए ज़िंदगी
क्या चीज़ है 
निदा फ़ाज़ली
▬▬▬▬▬▬●
Hosh Walo Ko Khabar Kya
Brkhudi Kya Chiz Hai
Ishq Kije Fir Samjhye Zindagi
Kya Chiz Hai

۞ 18
मोहब्बत नेक-ओ-बद को सोचने दे
ग़ैर-मुमकिन है 
बढ़ी जब बेख़ुदी फिर कौन डरता है
गुनाहों से 
आरज़ू लखनवी
▬▬▬▬▬▬●
Mohabbat Neko-O-Bad Ko Sochane De
Gair-Mumkin Hai
Badhi Jab Bekhudi Fir Kaun Darata Hai
Gunaaho Se

۞ 19
मय से ग़रज़ नशात है किस
रू-सियाह को 
इक-गूना बेख़ुदी मुझे
दिन रात चाहिए 
मिर्ज़ा ग़ालिब
▬▬▬▬▬▬●
May Se Gharaz Nashaat Hai Kis
Ru-Siyaah Ko
Ek-Guna Bekhudi Mujhe
Din Raat Chahaiye

۞ 20
बेख़ुदी बे-सबब नहीं 'ग़ालिब' 
कुछ तो है जिस की पर्दा-दारी है 
मिर्ज़ा ग़ालिब
▬▬▬▬▬▬●
Bekhudi Be-Sabab Nahi "Galib"
Kuch To Hai Jis Ki Parda-Dari Hai

۞ 21
गई बहार मगर अपनी
बेख़ुदी है वही 
समझ रहा हूँ कि अब तक
बहार बाक़ी है 
मुबारक अज़ीमाबादी
▬▬▬▬▬▬●
Gayi Bahaar Magar Apani
Bekhudi Hai Wahi
Samjh Raha Hun Ki Ab Tak
Bahaar Baaki Hain

۞ 22
ऐ बे-ख़ुदी-ए-दिल मुझे ये भी
 ख़बर नहीं 
किस दिन बहार आई मैं
दीवाना कब हुआ 
अरशद अली ख़ान क़लक़
▬▬▬▬▬▬●
E Bekhudi-E-Dil Mujhe Ye Bhi
Khabar Nahi
Kis Din Bahaar Aayi Main
Deewana Kab Hua

۞ 23
जिस में हो याद भी तिरी शामिल 
हाए उस बेख़ुदी को क्या कहिए 
फ़िराक़ गोरखपुरी
▬▬▬▬▬▬●
Jis Din Ho Yaad Bhi Tiri Shamil
Hay Us Bekhudi Ko Kya Kahiye

۞ 24
बेख़ुदी ले गई कहाँ हम को 
देर से इंतिज़ार है अपना 
मीर तक़ी मीर
▬▬▬▬▬▬●
Bekhudi Le Gayi Kha Ham Ko
Der Intizaar Hai Apana

●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬●
इन्हे भी पढ़े 
Maut Shayari 2 Lines Hindi - मौत पर शायरी 
50+ ➧ ज़िद पर शायरी - Zid Par Shayari 
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬●

۞ 25
दिन रात मय-कदे में गुज़रती थी ज़िंदगी 
'अख़्तर' वो बेख़ुदी के ज़माने
किधर गए 
अख़्तर शीरानी
▬▬▬▬▬▬●
Din Raat May-Kade Me Guzarati Thi Zindagi
"Akhtar" Wo Bekhudi Ke Zamaane
Kidhar Gaye

۞ 26
बे-ख़ुदी में हम तो तेरा दर समझ कर
झुक गए 
अब ख़ुदा मालूम काबा था कि वो
बुत-ख़ाना था 
तालिब जयपुरी
▬▬▬▬▬▬●
Bekhudi Me Ham To Tera Dar Samjh Kar
Jhuk Gaye
Ab Khuda Malum Laaba Tha Ki Wo
But-Khana Tha

▬▬▬▬▬▬●
 Bekhudi शायरी 

▬▬▬▬▬▬●

۞ 27
बेख़ुदी में ले लिया बोसा ख़ता
कीजे मुआफ़ 
ये दिल-ए-बेताब की सारी ख़ता थी
मैं न था 
बहादुर शाह ज़फ़र
▬▬▬▬▬▬●
Bekhudi Me Le Liya Bosa Khata
Kije Muaaf
Ye Dil-WBetaab Ki Sari Khata Thi
Main Naa Tha.

۞ 28
शाम-ए-ग़म कुछ 
उस निगाह-ए-नाज़ की बातें करो
   बेख़ुदी बढ़ती चली है राज़ की 
बातें करो.
▬▬▬▬▬▬●
Sham-E-Gham Kuchh
Us Nigaah-E-Naaz Ki Batae Karo
Bukhudi Badhati Chali Hai Hain Raaz Ki 
Baat Karo

▬▬▬▬▬▬●
मित्रो आज की Bekhudi शायरी की पोस्ट पसंद आयी होगी तो इसे जरूर से बेखुदी शायरी को पढ़ने वाले दोस्तों को 
▬▬▬▬▬▬●


No comments