अश्क Shayari - अश्क़ शायरी Urdu का बेहतरी कलेक्शन


35+ अश्क Shayari  - अश्क़ शायरी Urdu का बेहतरी कलेक्शन 



आज पढ़ते हैं अश्क़ शायरी Hindi के इस आर्टिकल में अश्क़ शायरी 2 Lineअश्क़ शायरी Hindi अश्क़ शायरी Urdu पर बने इस पोस्ट को जो शेर-ओ-शायरी के चाहने वालो को बेहद पसंद आएगा। 

Ashq-Shayari
Ashq Shayari 

यह पोस्ट मोहब्बत में टूटे हुए उन आशिको के लिए हैं जिनकी आँखों से हर एक मौसम में अश्कों की बरसात होती हैं.  बरसात में खुद को डुबोते चले जाते हैं. 

उन्ही टूटे हुए आशिकों के लिए मौजूद हैं  इस पोस्ट में अश्क़ शायरी 2 Line, अश्क़ शायरी Urdu के शेर-ओ-शायरी जो उनके जज़्बातों को बयां करेंगे। तो देर कैसी आयी पढ़ते हैं हैं इस आर्टिकल को और उससे पहले आप के लिए एक शेर  

बन जायेंगे ज़हर पीते पीते, ये अश्क जो पिए जा रहे हो. तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो, क्या गम है जिसको छुपा रहे हो

1
ज़िन्दगी तूने मुझे तोहफ़े बड़े 
अनमोल दिये हैं
अश्क़ जितने भी थे सब नाम मेरे 
तौल दिये हैं

*************************
Zindagi Tune Mujhe Tohafe Bade 
Anmol Diye Hai
Ashq Jitane Bhi The Sab Naam Mere 
Taul Diye Hai

अश्क़ शायरी 2 Line

2

आज अश्क से आँखों में क्यों हैं आये हुए,

गुजर गया है ज़माना तुझे भुलाये हुए।

*************************

Aaj Ashq Se Aankhon Mein Kyun Aaye Hue,
Gujar Gaya Hai Zaman Tujhe Bhulaye Hue.

3
अश्क़ अच्छे ही तो हैं
मसला ग़म बहाने का अगर है!!

*************************
Ashq Achchhe Hi To Hai
Masala Gham Bahaane Ka Agar Hai

4
गिरा पलकों से अश्क़ तो 
सोचा ना था,
रुख़सार पर हाथ तेरे संभाल 
लेंगे उन्हें!!

*************************
Gira Palako Se Ashk To 
Socha Naa Tha
Rukhsaar Par Hath Tere Sambhal 
Lenge Unhe

*************************
इन्हे भी पढ़े 
21+ ख़ता पर शायरी - Khata Par Shayari 
30+ कांटों पर शायरी - Kanto Par Shayari 
*************************

5
जहाँ-जहाँ क़तरा-ए-अश्क गिरेगा
वहां-वहां इक आँख  उग आएगी!!

*************************
Janha-Janha Katara-E-Ishaq Girega
Waha-Waha Ek Ankh Ug Aayegi

6
कागज़ पे हमने भी ज़िन्दगी लिख दी,
अश्क से सींच कर उनकी खुशी लिख दी!
दर्द जब हमने उबारा लफ्जों पे,
लोगों ने कहा वाह क्या गजल लिख दी!!

*************************
Kagaz Pe Hamane Bhi Zindagi Likh Di
Ashq Se Seech Kar Unaki Khushi Likh Di
Dard Jab Hamane Ubaara Lafzo Pe
Logo Ne Waah Kya Gazal Likh Di

7
टुकड़ा टुकड़ा नाम ऐ मोहब्बत,
कतरा कतरा दर्द ऐ दिल!
जर्रा जर्रा ,धड़कन ऐ वफ़ा,बूँद बूँद,
अश्क़ ऐ निगाह.
यही इश्क़ है,इश्क़ हैं, इश्क हैं!!

*************************
Tukada-Tukada Naam E Mohabbat
Katara-Katara Dard E Dil
Jarra-Jrra Dhadakan E Wafa Bund-Bund
Ashk E Nigahe
Yahi Ishq Hai Ishq Hai Ishq Hai

8
बस दर्द अश्क तन्हाई और तड़प!
क्या करेगी मौत मेरी जिंदगी लेकर?

*************************
Bas Dard Ashk Tanhayi Aur Tadap!
Kya Karegi Maut Meri Zindagi Lekar?

9
ढूंढोगे कभी तस्वीरों में मेरा तसव्वुर!
मेरे ख्यालों के अश्क तेरी आँखों में 
भर आयेंगे!!

************************* 
Dhindhoge Kabhi Tasveero Me Mera Tasvvur
Mere Khyalo Ke Ashk Teri Ankho Me 
Bhar Aayega

10
मेरे ख़त में जो भीगी भीगी सी
लिखावट है!
स्याही में थोड़ी सी मेरे अश्कों की 
मिलावट है!!

************************* 
Mere Khat Me Jo Bheegi-Bheegi Si 
Likhawat Hai
Syahi Me Thodi Si Mere Ashko Ki 
Milawat Hai.

11
ये रोशनी ये हवा क्या करूँ
मैं ज़माने की दुआ क्या करूँ!
मेरी आँखों के अश्क़ रेत हुए
यार दरिया ना हुआ क्या करूँ!!

*************************
Ye Roshani Ye Hawa Kya Karu?
Main Zamaane Ki Dua Kya Karu
Meri Ankhon Ke Ashq Ret Huye
Yaar Dariya Naa Hua Kya Kare

12
आफताब की गर्मी से दरिया का पानी
ख़त्म नहीं होता,
लैला के इंकार से मजनू का जज़्बा
कम नहीं होता!
फ़िराक की मुसीबत हो या यार के
वस्ल की लज़्ज़त,
किसी भी हाल में अश्कों का बहना 
कम नहीं होता!!

************************* 
Aaftaab Ki Garmi Se Dariya Ka Pani 
Khatm Nahi Hota
Laila Le Inkaar Se Majanu Ka Jajba
Kam Nahi Hota
Firaaq Ki Musibat Ho Yaar Ke
Vasl Ki Lazzat
Kisi Bhi Haal Me Ashqo Ka Bahana
Kam Nahi Hota.

अश्क़ शायरी Hindi

13
सोचकर बाज़ार गये था कुछ 
अश्क़ बेचने!
हर खरीददार बोला.
तोहफे बिका नहीं करते!!

*************************
Sochakar Bazaar Gaye The Kuchh 
Ashq Bechane
Har Khariddar Bola 
Tohafe Bika Nahi Karate

35+ अश्क Shayari  - अश्क़ शायरी Urdu का बेहतरी कलेक्शन 


14
बेवफ़ाई का मुझे जब भी
ख़याल आता है!
अश्क़ रुख़सार पर आँखों से 
निकल जाते हैं!!

*************************
Bewafayi Ka Mujhe Jab Bhi 
Khyaal Aata Hai
Ashk Rukhsaar Par Ankho Se 
Nikal Jate Hai

15
जब लफ्ज़ थक गए तो फिर 
आँखों ने बात की!
जो आँखें भी थक गयीं तो 
अश्कों से बात हुई!!



*************************
Jab Lafz Thak Gaye Toh Phir A
ankhon Ne Baat Ki,

Jo Aankhein Bhi Thak Gayin Toh 
Ashko Se Baat Hui.

अश्क Shayari 


16
ग़मो से उलझकर मुस्कुराना मेरी 
आदत है!
मुझे नाकामियों पे अश्क़ बहाना 
नहीं आता!!

*************************
Ghamo Se Uljhakar Muskurana Meri
Aadat Hai
Mujhe Nakamiyaon Pe Ashq Bahana
Nahi Aata


*************************

इन्हे भी पढ़े
*************************

17
किसी को बताने से मेरे अश्क़
 रुक ना पायेंगे!
मिट जायेगी जिंदगी मगर ग़म 
धुल न पायेंगे!!

************************* 
Kisi Ko Batane Se Mere Ashq 
Ruk Na Payenge,
Mit Jayegi Zindagi Magar Gham 
Dhul Na Payenge.

18
मेरे अश्क़ तेरी बेरुखी का एहसास हैं, 
तेरी याद में ये फिर बेगाने हो चले!!

*************************
Mere Ashq Teri Berukhi Ka Ehasaas Hai
Teri Yaad Me Ye Fir Begaane Ho Chale

अश्क़ शायरी Hindi

19
गिरते हुऐ अश्क की कीमत न पूछना,
हर बूंद में लाखो सवाल हैं!!

*************************
Girate Huye Ashq Ki Kimat Naa Puchhana
Har Bund Me Lakho Sawaal Hai

20
आँख ने अश्क बहाए भी तो 
सूख जाएंगे
दिल की बस्ती में  ग़म  की 
धूप है बहुत!!

*************************
Ankh Ne Ashq Bahaye Bhi To 
Sukh Jayenge
Dil Ki Basti Me Gham Ki 
Dhoop Hai Bahut

21
आँखों में कौन आ के इलाही निकल गया, 
किस की तलाश में मेरे अश्क़ 
रवां चले!!
 ज़लील मानिकपुरी

************************* 
Ankhon Me Aa Ke Ilahi Nikal Gaya
Kis Ki Talaash Me Mere Ashq 
Rawan Cahle

अश्क़ शायरी Urdu

22
समंदर में उतरता हूँ
तो आँखें भीग जाती हैं,
तेरी आँखों को पढ़ता हूँ
तो आँखें भीग जाती हैं,
तुम्हारा नाम लिखने की
इजाज़त छिन गई जबसे,
कोई भी लफ्ज़ लिखता हूँ
तो आँखें भीग जाती हैं!!

************************* 
Samandar Mein Utarta Hu,
Toh Aankhien Bheeg Jati Hai,
Teri Aankhon Ko Parhta Hu,
Toh Aankhien Bheeg Jati Hai,
Tumhara Naam Likhne Ki,
Izazat Chhin Gayi Jab Se,
Koi Bhi Lafz Likhta Hu
Toh Aankhien Bheeg Jati Hai.

अश्क़ शायरी 2 Line

23
वो अश्क बन के मेरी चश्म-ए-तर में 
रहता है!
अजीब शख़्स है पानी के घर में 
रहता है!!

*************************
W Ashq Ban Ke Meri Chashm-E-Tar Me
 Rahata Hai
Ajeeb Shakhs Hai Pani Ke Ghar Me 
Rahata Hai

24
प्यास इतनी है मेरी रूह की गहराई में,
अश्क गिरता है तो दामन को 
जला देता है!!

************************* 
Pyaas Itani Hai Meri Ruh Ki Gaharayi Me
Ashq Girata Hai To Daaman Ko 
Jala Deta Hai

25
दिल के हर कोने में बसाया है आपको,
अपनी यादों में हर पल सजाया है आपको!
यकीं न हो तो मेरी आँखों में देख लीजिये,
अपने अश्कों में भी छुपाया है आपको!!

************************* 
Dil Ke Har Kaune Me Basaya Hai Aapko
Apani Yaadon Me Har Par Sajaya Hai Aapko
Yakin Na Aaye To Meri Ankhon Me Dekh Lijiye
Apane Ashko Me Bhi Chhupaya Hain Aapko

अश्क Shayari 

26
शायद ये वक़्त हमसे कोई चाल चल गया,
रिश्ता वफ़ा का और ही रंगों में ढल गया!
अश्क़ों की चाँदनी से थी बेहतर वो धूप ही,
चलो उसी मोड़ से शुरू करें फिर से जिंदगी!!

*************************
Shayad Ye Waqt Hamase Koi Chaal Chal Gaya
Rishta Wafa Ka Aur Hi Rango Me Dhal Gaya
Ashkon Ki Chadani Se Behatar Wo Dhoop Hi
Chalo Usi Mond Se Shuru Kare Fir Se Zindagi

27
हर ‪‎दिल‬ में दर्द छुपा होता है,
बयाँ करने का अंदाज़ जुदा होता है!
कोई अश्कों से बहा देता है 
और,किसी की हंसी में भी ‪‎दर्द‬ छुपा होता है!!

*************************
Har Dil Me Dard Chhupa Hota Hai
Bayan Karane Ka Andaaz Juda Hota Hai
Koi Ashq Se BAHA dETA hAI
aUR kISI kI hansi Me Bhi Dard Chhupa Hota Hai

28
मेरे अश्क और तेरी यादों का कोई तो 
रिश्ता जरूर है!
कमबख्त जब भी आते है दोनों 
साथ ही आते है!!

*************************
Mere Ashq Aur Teri Yaado Ka Koi To 
Rishta Jarur  Hai
Kambakht Jab Bhi Aate Hai Dono
 Sath Hi Aate Hai

अश्क़ शायरी Urdu

29
चराग-ए-इश्क लिए, हम भी 
फिरे हैं खोजते उनको!
जिन्होने इश्क किया और, अश्क का 
दीदार नही किया!!

************************* 
Charag-EIshq Liye Ham Bhi
Fire Hai Khojate Unako
Jinhone Ishq Kiya Aur Ashq Ka
Deedaar Nahi Kiya

*************************
इन्हे भी पढ़े
95+ वफ़ा Shayari / Wafa Shayari in Hindi Urdu
55+ नींद शायरी -  Neend Shayari
*************************

30
किसी को बताने से मेरे अश्क़ रुक ना पायेंगे,
मिट जायेगी जिंदगी मगर ग़म धुल न पायेंगे!!

*************************
Kisi Ko Batane Se Mere Ashq Ruk Naa Payenge
Mit Jayengi Zindagi Magar Gam Dhul Na Payenge

31
आँखों से  बगावत पे  उतर आता है
इक अश्क अक्सर बागी हो जाता है!!  

************************* 
Ankho Se Bagawat Pe Utar Aata Hai
Ek Ashq Aksar Bagi Ho Jata Hai

32
इश्क में  राएगाँ कुछ नही जाता
ये अश्क भी किसी काम आएंगे!!

************************* 
Ishq Me Rayegen Kuchh Nahi Jata
Ye Ashq Bhi Kisi Kaam Aayenge

33
कोई मंज़िल नहीं मिलती तो ठहर जाते हैं 
अश्क आँखों में मुसाफ़िर की तरह आते हैं!! 
कफ़ील आज़र अमरोहवी

*************************
Koi Manzil Nahi Milati To Thahar Jaate Hai
Ashq Ankhon Me Musaafir Ki Tarah Aate Hai

34
आसरा दे के मेरे अश्क न छीन 
यही ले दे के बचा है मुझ में!! 

*************************
Aasara De Ke Mere Ashq Na Chhin
Yahi Le De Ke Bacha Hai Mujh Me

अश्क़ शायरी Urdu

35
अश्कों के निशाँ पर्चा-ए-सादा पे हैं क़ासिद 
अब कुछ न बयाँ कर ये इबारत ही बहुत है!! 
अहसन अली ख़ा

*************************
Ashq Ke Nishan Parcha-E-Saada Pe Hai Qasid
Ab Kuchh Na Bayaan Kar Ibaarat Hi Bahut Hai

=
आशा करता हूँ आप सभी दोस्तों से यह अश्क Shayari - अश्क़ शायरी Urdu का बेहतरी कलेक्शन आप सभी को पसंद आया होगा अगर आप सभी को अश्क़ शायरी 2 Line, अश्क़ शायरी Hindi का यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे जरूर से शेयर करे अपने खास दोस्तों को. धन्यवाद आप सभी का.


No comments