पेशाब में जलन और दर्द को दूर करने के आयुर्वेदिक घरेलू उपचार

 पेशाब में जलन और दर्द दूर करने के आयुर्वेदिक घरेलू  उपचार  

दोस्तों आज की पोस्ट हेल्थ पर आधारित हैं आप इस पोस्ट में जान सकते हैं  यूरिन इंफैक्शन (Urine Infection) कैसे होता हैं और इसका क्या हैं इलाज.   पेशाब में हो रहे जलन का रामबाण उपचार घर में उपलब्ध चीजों से. 

तो देर कैसी आईये जानते हैं कैसे होता हैं ये यूरिन इंफैक्शन और क्या हैं इसके बचाव के उपाय. और जानते हैं पेशाब में जलन और दर्द दूर करने के इलाज को.




peshab-me-jalan-aur-dard-ko-dur-karane-ke-upay-ilaj
 पेशाब में जलन और दर्द को दूर करने के आयुर्वेदिक घरेलू उपचार 

यूरिन इंफैक्शन (Urine Infection) 
स्त्री या पुरूष को, पेशाब करते समय पेशाब की नली में दर्द व जलन की समस्या हो जाती हैं यह समस्या कभी भी किसी भी मौसम में हो सकती हैं, लेकिन यह बिमारी अधिकतर गर्मियों के मौसम में होती हैं. लेकिन इस समस्या को स्त्रियाँ अधिकतर नज़र अंदाज़ कर देती हैं. जिससे यह समस्या गंभीर रूप ले लेती हैं. 

यह बीमारी आम हैं जोकि अधिकतर गर्मियों के मौसम में अत्यधिक गर्म चीजों को खाने से और कम पानी पीने के कारण होती हैं.  



आमतौर पर देखा जाता हैं की यह समस्या तीन चार दिन में ठीक हो जाती हैं, लेकिन कभी कभी यह समस्या बढ़ जाती हैं जिसके कारण  पेशाब करते समय अत्यधिक जलन और दर्द को सहना पड़ता हैं. और हमें डॉ के पास जाने की नौबत आ जाती हैं. अगर इस रोग को गंभीरता से ना लिया गया तो इससे अन्य बीमारियों के बढ़ने का खतरा बढ़ जाता हैं.

यूरिन (Urine) में जलन होने के मुख्य कारण:-
शरीर में पानी की कमी होना, दूषित पानी पीना, गर्मियों के मौसम (Weather) में अधिक मात्रा में गर्म खाद्य पदार्थो का सेवन व दूषित पदार्थ को खाने में उपयोग करना तथा शरीर का ताप बढ़ना, पेशाब की नली में संक्रमण होना, ब्लैडर में सूजन,  लीवर के अन्दर प्रॉब्लम होना, धूम्रपान, व दूसरे नशीले पदार्थों का सेवन करना, किडनी (Kidney) के अंदर पथरी (Stone) होना, शुगर (Diabetes)की बिमारी होना, रीढ़ की हड्डी में चोट लगना तथा डिहाइड्रेशन (Dehydration) आदि इस बीमारी का मुख्य कारण हैं.

लक्षण:-
बार-बार पेशाब का आना, यूरिन (Urine) का रंग पीला पड़ जाना, पेशाब में बदबू आना, ब्लैडर (Bladder) में दर्द व सूजन होना, पेशाब की नली तथा पेट के अंदर दर्द होना और जलन होना, बूंद-बूंद कर के पेशाब आना आदि इसके मुख्य लक्षण हैं.

पेशाब में हो रहे जलन से बचने के घरेलु राम-बाण उपाय:-
दोस्तों आईये अब जानते हैं पेशाब करते समय होने वाले दर्द और जलन  की समस्या को दूर करने के कारगर घरेलु उपायों को जो इस समस्या से हमें निजात दिलाएगा बिना डॉ के पास जाए.

शुद्ध-पानी-का-उपयोग-करे
शुद्ध पानी का उपयोग करे

शुद्ध पानी का उपयोग :-
गर्मी के समय दूषित पानी पीने तथा पानी की शरीर में कमी होने के कारण पेशाब का रंग पीला पड़ जाता और पेशाब की नली में जलन होने लगती हैं. इस समस्या से बचने के लिए अधिक से अधिक फिल्टर पानी (Filter Water) को पीने में उपयोग करे अगर फिल्टर वाटर नहीं मिलता हैं तो पानी को अच्छी तरह उबाल कर हर घंटे एक-एक गिलास पीये जिससे ब्लैडर (Bladder)  में जमा बैक्टीरिया (Bacteria) पेशाब के रास्ते निकल जाते हैं और पेशाब करते समय होने वाले जलन और दर्द से आराम मिलता हैं. बार-बार पेशाब आने से शरीर में होने वाली पानी की कमी से भी निजात मिलता हैं.  


  
ककड़ी:-
ककड़ी को भी इस बीमारी में सबसे उपयोगी माना गया हैं क्युकि यह ठंडा और पाचक होता हैं.  इसमे खीरे (Cucumber) से भी ज्यादा मात्रा में पानी पाया जाता हैं जिसके कारण पेशाब खुल कर आता हैं, और पेट में जमा बैक्टीरिया (Bacteria) मूत्र मार्ग के द्वारा बाहर आ जाते हैं. और पेशाब में होने वाली जलन में राहत मिलती हैं.


 विटामिन-सी-से-भरपूर-फलों-का-खाने-में-उपयोग-करना-चाहिए.
 विटामिन सी से भरपूर फलों का खाने में उपयोग करना चाहिए.
फलों का सेवन:-
पेशाब में हो रहे जलन में राहत पाने के लिए हमें सबसे ज्यादा विटामिन सी (Vitamin C) से भरपूर फलों का खाने में उपयोग करना चाहिए. विटामिन सी से भरपूर फलो में  यूरिन (Urine) के अंदर इंफैक्शन (Infection) पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया (Bacteriaको मारता है. और मूत्र के द्वारा उसे बहार निकाल देता हैं.
  • नींबू,
  • सेव  
  • मौसमी 
  • अनार
  • फालसा


आंवला 
आंवला:- 
यूरिन जलन में आंवला भी काफी फायदेमंद होता हैं आंवला में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पायी जाती हैं जो मूत्राशय (Bladder) मार्ग में हो रही जलन पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया (Bacteriaको ख़त्म करता हैं.  


पेशाब में जलन और दर्द को दूर करने के आयुर्वेदिक घरेलू उपचार 


@ आंवला और इलायची के चूर्ण को सामान मात्रा में मिक्स करके पानी के साथ पीने से इस समस्या से निजात पाई जा सकती हैं.


Coconut Drink
नारियल का पानी


नारियल पानी:-
नारियल के पानी (Coconut Drink)में थोडा सा गुड और धनिया पाउडर को मिक्स करके पीये इससे जलन और दर्द की समस्या में लाभ मिलेगा.


Turmeric-Powder
Turmeric Powder
हल्दी:- हल्दी (Turmeric) के अंदर कई औषधीय गुणों के भण्डार पाए जाते हैं, हल्दी भी इस जलन की समस्या में काम आता हैं क्युकि हल्दी प्राक्रतिक रूप से एंटीसेप्टिक (Antiseptic) और जीवाणुरोधी  होती हैं. पिसी हुई हल्दी ठन्डे दूध के साथ एक-एक चम्मच सुबह शाम लेने से ब्लैडर में जमा बैक्टेरिया को पेशाब के रास्ते बाहर निकाल देता हैं.


@. चावल :- आधा गिलास चावल का पानी और स्वादनुसार चीनी मिलाकर पीने से पेशाब में हो रही जलन  से आराम  मिलता हैं.

बादाम और इलायची:-
पाँच गिरी बादाम की और 6 या 7 पीस इलायची को कुछ दाने मिश्री के मिला कर चूर्ण बना ले और उस चूर्ण को पानी में मिला कर पीये इससे पेशाब में होने वाली जलन और दर्द में जल्द आराम मिलेगा.


Baking-Soda
Baking Soda

बेकिंग सोडा:- 
बेकिंग सोडा के अंदर जीवाणुरोधी रोधी, एंटी-सेप्टिक तत्व भी पाए जाते हैं. अगर एक चम्मच बेकिंग सोडा को एक गिलास पानी में मिला कर पीते हैं तो, हमारी सबसे पहले एसिडिटी दूर होती है और साथ ही पेशाब में हो रही जलन भी ठीक होती हैं.

गेंहू:-
लगभग एक मुट्ठी गेंहू को रात्री के समय पानी में भिगो कर रख दे और सुबह गेंहू के पानी को साफ़ कपडे से छान ले एक गिलास में और उसमे स्वादनुसार मिश्री को मिला दे और उसे पीये इससे जलन में काफी आराम मिलेगा.



धनिया:-
रात में सोते समय लगभग 10 ग्राम धनिये को भीगो दे और उसे सुबह अच्छे से पीस कर पानी में मिला और उसे साफ़ कपडे से छान ले और उसमे मिश्री मिला कर दिन भर में तीन चार बार पीये. क्युकि धनिये की तासीर ठंडी होती हैं  जो पेट को ठंडा रखती हैं और इससे यूरिन में हुए इंफैक्शन (Urine Infection) में आराम मिलता हैं.

चन्दन:-
5 से 10 बूंद चन्दन के तेल को ले और उसे बताशे के ऊपर डाल कर दिन-भर में 2 से 3 बार खाए इससे  यूरिन में हो रही जलन में आराम मिलेगा.

Spinach
Spinach

पालक:-
लगभग  50 ग्राम पालक के रस को 100 ग्राम  नारियल के पानी में मिलाकर पीने से रुक-रुक कर आने वाले पेशाब और जलन में लाभ मिलता हैं.

तुलसी की पत्ती:-
पांच या छ: पत्तियां तुलसी की सुबह शाम खाली पेट चबा-कर खाने से भी यूरिन में हो रही जलन की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता हैं.


 पेशाब में जलन और दर्द को दूर करने के आयुर्वेदिक घरेलू उपचार 


मूली :- आधा कटोरी के लगभग ताजे मूली (Radish) और मूली के पत्तों का रस निकाल कर पीये.

सत्तू :- जौ के बने सत्तू का भी इस्तमाल इस बीमारी में कर सकते इससे भी पेशाब की जलन में आराम मिलता हैं.

सिरका:- यूरिन इंफैक्शन में सिरका (Vinegar) का भी हम उपयोग करते हैं.

जीरा:-
एक चम्मच जीरा (Cumin) और एक चम्मच मिश्री के मिला कर पीस ले और उसे एक-एक चम्मच कर के न भर में दो तीन बार खाए और ऊपर से स्वक्ष पानी पीये  इससे काफी लाभ मिलता हैं.



जड़ी बूटी:-
रात के समय 20 ग्राम  त्रिफला और 20 ग्राम बेर की छाल साफ़ पानी में भीगो दे और सुबह उस पानी को साफ़ कपडे से छान-कर उसमे सेंधा नमक स्वादनुसार मिला कर पीये इससे पेशाब में जलन की समस्या दूर हो जाती हैं.

दो गोली चंद्रप्रभा वटी की और दो गोली गोक्षुरादि गुग्गुल की ले और उसे कच्चे दूध के साथ खाए इससे जल्द ही यूरिन इंफैक्शन में आराम मिलता हैं.

ध्यान दे :-
इस समस्या में हमें कुछ बातो का जरुर ध्यान देना चाहिए जैसे चाय-कॉफी और शराब,  धूम्रपान, दूसरे नशीले पदार्थों का उपयोग ना करे. गर्म तासीर वाले भोजन से बचे, अधिक जले-भुने और तेज मसाले का अपने खाने में उपयोग ना करे .  पेशाब आने पर उसे रोके ना.

दोस्तों आशा करता हूँ की  "पेशाब में जलन और दर्द को दूर करने के आयुर्वेदिक घरेलू उपचार" का यह पोस्ट आपको पेशाब में जलन की समस्या को दूर करने में लाभकारी सिद्ध हुआ होगा.  


No comments