Health Benefits Of Ginger - जाने अदरक के फायदे करें कई रोगों का उपचार (Ginger Tea)

दोस्तों आज का यह पोस्ट Health Benefits Of Ginger - जाने अदरक के फायदे करें कई रोगों का उपचार पर आधारित हैं. आयुर्वेद ज्ञान के इस आर्टिकल में जान सकते हैं, कई रोगों को नाश करने वाले अदरक के फायदे और गुणों  को.  Ginger Benefits For Men, Womens.

Health Benefits Of Ginger - जाने अदरक के फायदे करें कई रोगों का उपचार.

Health-Benefits-Of-Ginger
Health Benefits Of Ginger - जाने अदरक के फायदे करें कई रोगों का उपचार

जहाॅ एक ओर गृहणियां अपने रसोई घर मे अदरख का इस्तमाल मसाले के तौर पर करती है. भोजन का स्वाद बढ़ाने के लिए, वही अदरख के अंदर पाये जाने वाले कई आयुर्वेदिक तत्वों के कारण चिकित्सा पद्धति मे  इसे महाऔषधि कहा गया हैं. इसके उपयोग से हम कई जटिल से जटिल  बिमारियों से बच सकते है.

अदरख के अंदर तमाम रोगों से लड़ने की छमता है इसके अंदर कई प्रकार के औषधि तत्व पाये जाते जो हमारे शरीर को मजबूत और स्वस्थ बनाते  हैं. 

एक ताजी अदरख के अंदर पाए  तत्व:
  • 81% पानी . (Water)
  • 2.5% प्रोटीन . (Protein) 
  • 1% वसा, (Fat)
  • 2.5%  रेसा 
  • 13%  कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) 

मौजूद रहता है. इन औषधि तत्वो के साथ और विटामिन (Vitamins) भी मौजूद है. जैसेः-
  • लौह फास्फेट, आयरन, (iron) 
  • कैल्शियम (Calcium)
  • आयोडीन (iodine)
  • क्लोरिन (Chlorine)

खनिज लवण आदी मौजूद होता है जिसके कारण अदरख महाऔषधि के रुप मे जाना जाता हैं.

सुखी अदरक - सोंठ: 
जब  अदरख सूख जाती है तब वह सौठ बन जाती जिसमे 15 % प्रोटीन, 3%  से लेकर 6% वसा, 3% से लेकर 8%  रेशे, 60 से लेकर 70% शर्करा तथा उड़नशील तेल 1% से लेकर 3%  होता है.

अदरख के जूस मे Antioxidant. एंटीऑक्सीडेंट भी पाया जाता हैं, जो खून (Blood) को साफ करने के साथ.साथ ताजे खून की गति को बढ़ाने का खास औषधि गुण भी मौजूद है.

कई विटामिन्स (Vitamins)  के साथ-साथ मैंगनीज (Manganese) और कॉपर (Copper) की भी मात्रा पाई जाती हैं. जिससे शरीर को सुचारु रुप से स्वस्थ रखने में मदद मिलती है.

कई सारे औषधि गुणों से भरे अदरख का इस्तमाल अलग.अलग तरिको से लोग करते है लेकिन सबसे कारगर तरिका है, इसके उपयोग का. इसका रस बना कर उपयोग करे और चाय (Ginger Teaमे उपयोग करें.


तो आईये अब जानते है किन.किन रोगों से बचा जा सकता है, और जानते कैसे अपने सेहत (Health) को स्वस्थ बना सकते है महाऔषधि अदरख के प्रयोग से. 

Health Benefits Of Ginger - जाने अदरक के फायदे करें कई रोगों का उपचार

1- भुख ना लगनाः
भुख ना लगना एक समस्या हैं जिसके लिए ना जाने क्या क्या हम उपाय करते हैं लेकिन इसका भी ईलाज अदरख हैं.

भूख की शिकायत खास खाना सही ढंग से ना पचना और पेट में होने वाली कब्ज (Constipation) की शिकायत तथा पेट में वायु भर जाने से जुड़ा हैं इसका सही उपाय अदरख हैं अगर भूख नहीं लग रही हैं तो आप  अदरख के बारीक़ टुकड़े पर नमक को छिड़क कर दो-दो- ग्राम खाने से भूख की शिकायत से निजात पा सकते हैं. यह उपाय काफी कारगर हैं.

2- पाचन संबंधी: डाइजेशन 
पेट की समस्या में सबसे बड़ी समस्या पाचन की होती है अगर खाया हुआ खाना पेट में सही तरह से पचता नहीं हैं तो इससे कई प्रकार की बीमारिया उत्पन्न होती हैं.  अगर आपकी पाचन क्रिया सही हैं तो आप कई बिमारियों से बच सकते हैं.

पाचन क्रिया को सही रखने के लिए अदरख का सेवन सबसे उचित और कारगर हैं अगर आप अदरख का रस (जूस)   का इस्तेमाल करते हैं तो बहुत ही ज्यादा लाभ मिलता हैं भोजन को पचाने में, क्युकी अदरख का रस पेट में पड़े भोजन को पचाता हैं और उसे मल-द्वार तक पहुँचता हैं जिससे आप को गैस अपच में काफी लाभ मिलता हैं.

3- पेट दर्द (Stomach Pain):
पेट के दर्द और मरोड़  में भी इसका इस्तमाल किया जाता हैं दवा के रूप में अगर आपके पेट में दर्द हैं तो, पांच ग्राम अदरख का रस  और पांच ग्राम पोदीने का रस ले और इसी के साथ दो ग्राम सेंधा नमक ले और इसी आपस में मिला कर पी ले इससे पेट दर्द में आराम मिलेगा। साथ ही पाचन तंत्र को मजबूत बनेगा.



4- मोटापा (Obesity):
वजन का बढ़ना मोटापा जैसी समस्या से आज के समय में बहुत से लोग परेशान हैं, और इसे संतुलित करने के लिए तमाम प्रकार का इलाज भी करते हैं लेकिन इसका सबसे सरल इलाज हैं अदरख क्युकी अदरख में मोटापे को संतुलित रखने के कई तत्व मौजूद हैं.

मोटापे को दूर करने के लिए अदरख की चाय (Ginger Tea) बहुत ही लाभकारी होती होती अगर आप आधा चम्मच अदरख को पीस कर उसमे आधा चम्मच सौफ को मिलकर पानी में उबाल ले और उसमे स्वाद अनुसार चाय की पत्ती  डाल कर पीये और साथ ही उसमे आधा चम्मच धनिया पाउडर और दो चम्मच गुड मिला ले और उसे रोजाना दिन भर में दो तीन बार पीये, इससे आपको मोटापे को कम करने में काफी तेज़ी के साथ मदद मिलेगी।

5- दांतो का दर्द, मसूड़ो की सूजन: 
मसूडो की सूजन हो या दांतो का दर्द इसका इलाज भी इसमें  हैं. अगर हम सूखे अदरख यानि की सोंठ  का   सेवन करे :-  चार ग्राम सोंठ का चूर्ण पानी के साथ सेवन करने से मसूडो की सूजन और दांतो का दर्द कम हो जाता है.

6- बुखार (Fever) :
अदरख के अंदर बुखार (Fever) को भी ठीक करने के औषधि तत्व मौजूद हैं. बुखार से पीड़ित व्यक्ति को अगर अदरख के रस के साथ पुदीने का रस बराबर की मात्रा में मिला कर पिलाया जाए तो बुखार (Fever) उतर जाएगा क्युकी यह नुख्सा काफी असरदार.

अदरख और पुदिने का रस बराबर की मात्रा मे पीने से बुखार ठिक हो जाता है बुखार मे काफी हितकर माना जाता है.

7-  मितली आने पर: 
अधिकतर आप के अपने एक दो  जान पहचान वाले जरूर होंगे जिनका सफर के दौरान जीमिचलाता हैं या उल्टियां हो जाती हैं उनके लिए भी कारगर दवा हैं Ginger. अगर आपका सफर के दौरान जीमिचलाये या उल्टिया आये    तो अदरख का सेवन कर तुरंत लाभ मिलेगा। करीब एक ग्राम सेवन करे.

8- सर्दी खांसी (Cold-And-Cough):
सदियों में ठण्ड के कारण ऐसे खतरनाक  बैक्टीरिया (Bacteria) पैदा हो जाते हैं. जो हमारी थोड़ी सी लापरवाही के कारण  यह बैक्टीरिया हमें खासी, सर्दी, जुकाम, गले में खरास जैसी बिमारियों से ग्रसित कर देता हैं. 

इन सब बिमारियों से बचने का सरल उत्तम उपाय हैं अदरख का सेवन करना क्युकि शरीर के अंदर आये खतरनाक बैक्टीरिया  (Bacteria) को जड़ से समाप्त करने का प्राकृतिक गुण इसमें मौजूद हैं. 

9- सिर-दर्द   (Migraine):
आज-तक हुए कुछ शोधों से यह पता चलता हैं की अदरख में मौजूद तत्व सिर-दर्द   (Migraine), तनाव में बहुत ही फायदेमंद हैं. इसके इस्तमाल से  सिर-दर्द   (Migraine), तनाव की समस्या से बचा जा सकता हैं.  इन बिमारियों से बचने के लिए आप अदरख का रस ले या अदरख की चाय (Ginger Tea) पी ले  आपको जरूर से आराम मिलेगा .

10- ब्लड प्रेशर ( Blood Pressure):
बहुत से लोग ब्लड प्रेशर ( Blood Pressure) के रोग से ग्रसित होंगे तमाम ईलाज कराये होंगे लेकिन सबसे सरल उपाय अदरख हैं क्युकि इसमें में एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) जैसा तत्व मौजूद हैं जो खून को साफ़ और पतला करने में काफी मदद करता हैं। अगर कोई ब्लड प्रेशर ( Blood Pressure) जैसी बीमारी से पीड़ित हैं तो उसे अदरख का रस दे और इसका सेवन कराये इससे ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) जैसी बीमारी में लाभ मिलेगा.

11- दाग-मुहासे (Pimple):
प्रदूषण और खान-पीन सही ना होने कारण चेहरे पर मुहासे फुंसी, दाग आदि हो जाता हैं इसका भी गुणकारी इलाज भी अदरख हैं अगर मुहासे या फुंसी पर अदरख के जूस (रस)  को लगाए इससे जल्द आराम मिलेगा और चेहरे पर इसके रस के मालिस से निखार भी आएगा.



12  - ह्रदय रोग ( Heart Disease):
कोलेस्ट्रोल युक्त भोजन प्रदूषित वातावरण के कारण लोग ह्रदय रोग ( Heart Disease) से ग्रसित हो जाते हैं. जिसके कारण उनकी मौत भी हो जाती हैं सही समय पर इलाज ना मिलने के कारण.

Ginger कई रोगो के साथ साथ ह्रदय के रोग में भी इसका औषधि के रूप में इस्तमाल किया जाता हैं, क्युकी इसमें  एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) नामक तत्व पाया जाता हैं, जो खून को पतला बनाता हैं. इसके कारण कोशिकाओं में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है. और शरीर में चारो तरफ तेज़ी के साथ फ़ैल जाता हैं और इसी तरह साफ़ खून के प्रवाह से हृदय की मांसपेशियों को मजबूती मिलती हैं. 

ह्रदय में खून के थक्के बनने की सम्भावना कम हो जाती है. साथ ही अदरख कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को भी कम करता हैं. अदरख का नियमित सेवन करने से  हृदय के रोगी को हार्ट अटैक का खतरा  कम हो जाता है.

13 मधुमेह - (Diabetes):
ऑस्टेलिया के एक यूनिवर्सिटी में अदरख पर हुए एक शोध के दौरान पाया गया की अदरख में मधुमेह - (Diabetes) जैसी बीमार से लड़ने का पर्याप्त गुण मौजूद हैं क्युकि इसमें शरीर के स्नायु कोशिकाओं तक ग्लूगोज (Glucose)  बिना इंसुलिन (Insulin) के सहारे अदरख का रस पहुँच जाता हैं और इससे मरीज को काफी आराम मिलता हैं. मधुमेह से होने वाले अन्य रोगो में भी इससे लाभ मिलता हैं  हाई शुगर लेवल भी कंट्रोल किया जा सकता हैं.

14  मासिकधर्म - (Menstruation):
महिलाओं में होने वाले मासिक धर्म (Menstruation) के समय काफी दर्द होता जो कभी कभी असहनीय हो जाता अगर पीरियड्स (Menstruation) के दौरान Ginger के रस को पीये दिन में दो तीन बार इससे आपको काफी फायदा मिलेगा मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द से.

15  हिचकी (Hiccups):
जब हमें हिचकी (Hiccups) आती हैं तब हम पानी पीना जैसे उपाय करते हैं लेकिन हिचकी फिर भी नहीं रुकती अगर हिचकी (Hiccups) को रोकने के लिए Ginger  का एक टुकड़ा मुँह में रख कर दांतो से दबा दबा कर उसका रस पीये इससे हिचकी (Hiccups) में लाभ मिलता है.

15  फ्लूः  (Flu):
अदरख फ्लू या इन्फ्लिजा  जैसी बीमारी से भी निजात दिलाता अगर हम अदरख, काली मिर्च, तुलसी के पत्ते को मिला कर चाय बना ले (Ginger Tea) और फिर  फ्लू, (Flu) रोग से ग्रसित रोगी को दिन-भर में तीन से चार बार वही चाय पिलाये तो इससे रोगी को लाभ मिलेगा.

15  घाव-चोट (Abscess, injury):
जापान और यूरोपीय देशों में भी Ginger पर लगातार शोध किया जा हैं. और  पाया गया कि अदरख में वो खास गुण प्राकृतिक रूप से पाया जाता हैं जो शरीर में पाए जाने वाले जैव रसायन ( बायो-केमिकल ) के निर्माण में  मदद करता हैं.  और इसी कारण  यह शरीर में लगे घाव चोट आदि को ठीक कर आराम पहुँचता हैं.



15  कैंसर  (Cancer):
कैंसर की रोकथाम के लिए किये जा रहे अनेको शोधों में देखा गया की अदरख में पाए जाने वाले खास तत्व से कैंसर की रोकथाम की जा सकती हैं

Ginger  में पाए जाने वाले खास तत्व हमारे शरीर के अंदर कैंसर पैदा करने वाली कोशि‍काओं को ब्लॉक करता है, और इसी के साथ कैंसर के वायरस को शरीर में फ़ैलने से रोकता हैं.

16  स्तन कैंसर (Breast Cancer):
महिलाओं के स्तन  में होने वाले कैंसर Breast Cancer तथा गर्भाशय के कैंसर (Uterine Cancer) में भी बहुत ही कारगार सिद्ध हुआ हैं, ऐसा कैंसर पर शोध कर रहे  शोधकर्ताओं द्वारा पता चलता हैं.

17 उपचार (Treatments): 
जैसा की आपने जाना Ginger के औषधि गुणों के रहस्य को और ये भी जाना की घर की रसोई में इस्तमाल होने वाला अदरख कोई मामूली मसाला नहीं ये कई रोगों की नाशक महा औषधि हैं. 

नोटः
अदरख का उपयोग ठंठ (Winter) मे ही करे. क्यूकि अदरख गर्म होता है इसका सेवन गर्मी (Summer) मे नही करना चाहिये.  लेकिन जब बहुत जरुरी हो तो ही करे.

अदरक के नुकसान:
प्रेगनेंसी के दौरान अधिक अदरख का सेवन करने से गर्भवती महिला के पेट में पल रहे भ्रूण के सेक्स हामोर्न में खतरनाक प्रभाव डाल सकता हैं कई शोधों द्वारा पता चलता हैं की अधिक अदरख के सेवन से महिला का गर्भपात भी हो जाता है.



मधुमेह रोगी (Diabetes):
अगर मधुमेह (Diabetes)) का रोगी किसी प्रकार की दवा का सेवन कर रहा हैं डॉ की सलाह से तो अदरख का सेवन डॉ की सलाह से ही करे. कम मात्रा में करे. मेरा मानना हैं की अगर आपको किसी भी प्रकार की कोई गंभीर बीमारी हैं तो Ginger  का सेवन डॉ की सलाह से ही करे..... 

Health Benefits Of Ginger - जाने अदरक के फायदे करें कई रोगों का उपचार.

दोस्तों अगर यह पोस्ट आप को अच्छी लगी हो तो शेयर करना ना भूले अपने दोस्तों में उन्हें भी बताये अदरख के औषधि गुणों को। .. धन्यवाद -


1 comment:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete