नर्गिस दत्त की जीवनी - Nargis Dutt Biography In Hindi

नर्गिस दत्त की जीवनी - Nargis Dutt Biography In Hindi

दोस्तों आज के आर्टिकल (Biography) में जानते हैं, बचपन में ही अपने फ़िल्मी सफ़र की शुरुआत करने वाली भारतीय सिनेमा की प्रसिद्ध अभिनेत्री “नर्गिस दत्त का जीवन परिचय” ( Nargis Dutt Biography In Hindi) के बारे में. 

Nargis-Dutt-Biography-In-Hindi


एक झलक नर्गिस की जीवनी पर :
नर्गिस दत्त का जन्म कलकत्ता में 1 जून, 1929 में हुआ था. कुछ लोगो का मानना हैं की नर्गिस का जन्म कलकत्ता में नहीं इलाहबाद हुआ था. 
नरगिस के पिता जी का नाम उत्तमचंद मूलचंद था और रावलपिंडी के रहने वाले थे. माता जी का नाम  जद्दनबाई था. जो एक हिंदुस्तानी क्लासिकल गायिका थी.  और भारतीय सिनेमा से जुडी हुयी थी. जद्दनबाई सिनेमा के क्षेत्र में गायक, नर्तक, निर्देशक, संगीतकार और अभिनेत्री के रूप में कार्य करती थी और  फिल्म जगत में काफी सक्रियता के साथ  जुडी हुई थी.


फ़िल्मी सफ़र:
नर्गिस ने मात्र छह साल की उम्र में ही 1935 में आई फिल्म "तलाशे हक़" में अभिनय किया और इसी के साथ फ़िल्मी सफ़र की शुरुआत की. और सफलता की ओर लगातार बढती गयी क्युकि उन्हें बचपन से ही कला विरासत में मिली थी. 

राजकपूर के साथ:
राजकपूर के साथ Nargis की जोड़ी दर्शको ने काफी सराहा और इस जोड़ी ने कई फिल्मे बनायीं. 1940-1960 के दशक में सबसे खूबसूरत और पॉपुलर जोडि़यों में से एक थी. 

नर्गिस  का शादी :
लोगो की माने तो राजकपूर और  नर्गिस के बीच प्यार मोहब्बत का सिलसिला  काफी समय तक चला, हर तरफ इनके  प्यार और इश्क के चर्चे मशहूर रहे. लेकिन दोनों की शादी नहीं हो सकी क्युकि उस दौरान हालत ही एसे बने की शादी सुनील दत्त से कर ली.

प्रमुख फ़िल्में:
1940 से लेकर 1950 तक नर्गिस का सुनहरा दौर रहा. इस दौरान उन्होंने कई फिल्मों में काम किया जिनमे सबसे खास रही. मदर इंडिया और इस फिल्म को ऑस्कर के लिए नामित किया गया था.
  • 1945 - हुमायूँ
  • 1949 - अंदाज़
  • 1949 - बरसात
  • 1950 - आधी रात
  • 1950 - जान पहचान
  • 1951 - आवारा
  • 1952 - अंबर
  • 1952 - अनहोनी
  • 1953 - पापी
  • 1955 - श्री 420
  • 1956 - चोरी चोरी
  • 1957 - परदेसी
  • 1957 - मदर इण्डिया
  • 1958 - लाजवंती
  • 1960 - काला बाज़ार
  • 1964 - यादें
  • 1967 - रात और दिन

सम्मान और पुरस्कार:
नर्गिस को अभिनय के क्षेत्र में कई पुरस्कार मिले. जिनमे खास थे.  

@ = 1957 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार (फ़िल्म-मदर इंडिया)

@ = 1958 में फ़िल्म-मदर इंडिया की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए  अतर्राष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव वरी द्वारा पुरस्कार

@ = 1958 में  पद्मश्री अवार्ड से भी सम्मानित किया गया.    

@ = 1968 में  राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार फ़िल्म- रात और दिन की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री  के रूप में. 

फ़िल्मफेयर अवार्ड के अलावा कई सर्वश्रेष्ठ अभिनय का राष्ट्रीय पुरस्कार भी शामिल है.

आखिरी सफ़र:
उन्होंने आखिर समय अभिनय से दुरी बना ली थी और अपने पति सुनील दत्त के साथ  सामाजिक कार्यो में जुट गयी और साथ अजंता आर्ट्स कल्चरल ट्रूप की स्थापना भी  की. और यह संस्था सीमाओं पर जाकर जवानों के स्टेज शो कराती थी और वह के जवानों का मनोरंजन किया कराती थी.

राज्यसभा सदस्य:
नर्गिस को राज्यसभा के लिए भी नामित किया गया लेकिन वह अपना यह कार्यकाल  पूरा नहीं कर सकीं अपनी बीमारी के चलते .

बीमारी और मौत:
और इसी दौरान उनकी तबियत ठीक नहीं रहने लगी Nargis Dutt को  कैंसर की बीमारी लग गयी थी. और इसी बीमारी की वजह से  3 मई 1981 को उनकी मौत हो गयी और वो हमेशा हमेशा के लिए इस दुनिया से दूर चली गयी. नर्गिस आज भी लोगों के दिल में बसी हुई हैं.

मेमोरियल कैंसर फाउंडेशन स्थापना:
1982 में नर्गिस की याद में नर्गिस दत्त मेमोरियल कैंसर फाउंडेशन की स्थापना की गई.

दोस्तों अगर नर्गिस दत्त की जीवनी Nargis Dutt Biography In Hindi के इस लेख को  लिखने में मुझ से कोई त्रुटी हुयी हो तो छमा कीजियेगा और इसके सुधार के लिए हमारा सहयोग कीजियेगा. आशा करता हु कि आप सभी को  यह लेख पसंद आया होगा. 

धन्यवाद आप सभी मित्रों का जो आपने अपना कीमती समय इस Wahh Blog को दिया.