Morari Bapu 30 Quotes Thought In Hindi मोरारी बापू के विचार - Wahh Hindi Blog

wahh hindi blog

Tuesday, 16 May 2017

Morari Bapu 30 Quotes Thought In Hindi मोरारी बापू के विचार

मोरारी बापू जी के 30 Inspiring कोट्स इन हिंदी 

आध्यात्मिक दृष्टीकोण से देखे तो भारत सबसे अलग और यहाँ बहुत से महान , साधु-संत, त्रिकालदर्शी ऋषि और मुनियों ने जन्म लिया और इसी कारण  भारत आध्यात्मिक क्षेत्र में सबसे अग्रणीय रहा..  यहाँ  के कण-कण में भारत की संस्कृति को देखा जा सकता हैं..
Morari-Bapu-30-Quotes-Thought-In-Hindi
Morari Bapu 30 Quotes Thought In Hindi 
आज इस आर्टिकल में बात करते हैं   एक ऐसे व्यक्तित्व की जिसने अपना सम्पूर्ण जीवन  प्रभु श्री राम जी के चरणों में अर्पित कर दिया.  एसा प्रतीक होता हैं  इनकी वाणी में जैसे साक्षात् प्रभु विराजमान हो..  इनके द्वारा की गयी रामकथा का रसास्वादन करने के लिए भारत ही नहीं विदेशो से भी लाखो की संख्या में भक्त आते हैं. और रामकथा का रसास्वादन करते हैं, श्री रामकथा इनके मुख से अमृत के समान लगती हैं.  बहुत ही सरल और सहज रूप में रामकथा का वाचन करते हैं बापू ..

इनका जन्म 25 सितम्बर, 1946 को महुआ के समीप तलगारजा (सौराष्ट्र) में वैष्णव परिवार में हुआ. मोरारी बापू  के दादा जी  त्रिभुवनदास जिन्हें प्रभु श्री राम जी से अत्यधिक प्रेम और आस्था था और वो रामायण के प्रति असीम प्रेम  रखते थे.  जिसके कारण वे तलगारजा से महुआ तक की 5 मील पैदल यात्रा करते हुए. विद्या अर्जन के लिए जाया करते थे, और इसी बीच  5 मील के इस रास्ते में चलते हुए दादा जी द्वारा सिखाई गयी रामायण की 5 चौपाइयाँ प्रतिदिन याद करना पड़ती थीं  और इसी रोजाना नियम के चलते मोरारी बापू  को  बचपन में ही सम्पूर्ण रामायण कंठस्थ  हो गया.. और बापू ने  अपने दादा जी को ही अपना गुरु मान लिया. मात्र चौदह वर्ष की आयु में ही प्रथम बार तलगारजा में  एक महीने तक रामायण कथा का पाठ किया..  

और अपनी शिक्षा महुआ में स्थित प्राथमिक विद्यालय से ली और बड़े होने के उपरांत उसी प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक बने, लेकिन उन्हें यह शिक्षण का कार्य छोड़ना पड़ा क्युकी उन्हें उतना समय नहीं मिल पता था की बच्चो को शिक्षा दे पाए, क्युकी उनका ह्रदय तो प्रभु श्री राम के चरणों में लगा रहता था. और वे रामायण पाठ में इतना रम गए थे उन्हें रामायण वाचन के सिवा कुछ नज़र नहीं आता था. 

बापू महुआ से निकलने के बाद 1966 में नागबाई के पवित्र स्थल गाँठिया में 9 दिन की रामकथा की शुरुआत की रामफलकदासजी जैसे भिक्षा माँगने वाले संत के साथ.

विवाह:-
बापू का विवाह सावित्रीदेवी से हुआ और बापू के चार संतानें  हुयी जिसमे  एक बेटा और तीन बेटियाँ  है. बापू अपने परिवार के भरणपोषण के लिए रामकथा से आने वाले दान (चढ़ावे) से चलते थे. लेकिन धीरे धीरे दान के रूप में आने वाला धन अधिक आने लगा तो  1977 में उन्होंने प्राण लिया की वे अब से कोई भी दान स्वीकार नहीं करेंगे और यह प्रण का निर्वाह आज तक करते चले आ रहे हैं.. 


कुछ खास बाते झलकियों में:- 
  • 1 = महुआ में  अपनी ओर से 1008 राम पारायण का पाठ कराया और इसकी पूर्णाहुति के समय आरती हरिजन भाइयों से कहा आप सब मंच पर आये  और रामायण की आरती उतारें.. इस बात का विरोध भी हुआ और कुछ संत तो चले भी गए.. लेकिन बापू ने हरिजनों से ही आरती उतरवाई..

  • 2 =  रामकथा सुनने और कराने  का  अधिकार सभी को हैं यह बात को उन्होंने साबित कर दिखाया सौराष्ट्र के ही एक गाँव में तब बापू ने हरिजनों और मुसलमानों एक साथ लेकर नौ दिवसीय  राम पाठ का आयोजन किया. 
  • 3 = मोरारी बापू  के काली-कमली  (शॉल)  को लेकर कई चर्चाये होती रहती हैं, इससे जुडी कई बाते होती हैं कुछ का कहना हैं की यह ' शॉल स्वयं प्रकट हो कर राम भक्त श्री हनुमान जी ने इन्हें दी थी. और वही कुछ का कहना हैं की यह काली शॉल जूनागढ़ के किसी संत ने दी थी. लेकिन यही मोरारी बापू का कहना हैं की यह काली-कमली  (शॉल)  किसी ने नहीं दी और ना ही इसमे कोई चमत्कार हैं ना ही कोई रहस्य बस मुझे बचपन से ही काले रंग से लगाव रहा इसीलिए मैं इस काली शॉल को अपने कंधे पे डाले रहता हु..

  • 4  = बापू अपनी राम कथा के बीच बीच में  शेरो-शायरी और प्रेणादायक बातो का भी उपयोग करते हैं जिससे रामायण कथा  को समझाने में सरलता मिलती हैं और कथा को आसानी से सुनने वालो को समझ में आती हैं..

दोस्तों आईये आज पढ़ते हैं मोरारी बापू  द्वारा कहे गए उन विचारों को जो जीवन रूपी पथ पर चलने के लिए सहायक सिद्ध होगी आप भी इन्हें पढ़े और मोरारी बापू  के सु विचारो का लाभ उठाये..

   Morari Bapu 30 Quotes Thought In Hindi मोरारी बापू के विचार    

 1
 हम सुखी होने के लिये दुखी हो रहे है यह अमंगल है,
 हम दूसरों को सुखी करने के लिये दुखी हो वो मंगल है..


 Hum Sukhi Hone Ke Liye Dukhi Ho Rahe Hai Yah Amangal Hai, 
 Hum Dusron ko Sukhi Karne Ke Liye Dukhi Ho Vo Mangal Hai..

मोरारी बापू जी के 30 Inspiring कोट्स इन हिंदी 
 2-
 पाँच वस्तु की मात्रा कम होने लगे तो समझना मोक्ष आ रहा है.
 विचार – विचार कम होने लगे.
 वसु – धन संग्रह की वृति कम होने लगे,
 विषय – विषयो के प्रति धीरे धीरे उदासीनता आये.
 वस्तु – बहुत सी वस्तुओ से आसक्ति कम होने लगे,
 व्यक्ति – एकान्त में सुख मिलने लगे.


 Panch Vastu Ki Matra Kam Hone Lage To Samjhna Moksh  Aa Raha Hai,.
Vichar - Kam Hone Lage.
 Vasu -  Dhan Sangrah Ki Varti Kam Hone Lage,
 Visay - Visyo Ke Prti Dhere Dhere Udasenta Aaye,
 Vastu - Bahut Se Vastuo Se Aaskti Kam Hone Lage,
 Vykit - Ekant Me Shuk Milne Lage...

-
 3-
 सत्य बौद्धिक नहीं होना चाहिए. सत्य हार्दिक होना चाहिए.


 Satya Baudhik Nahi Hona Chahiye Satya Hardik Hona Chahiye...

-
 4-
 अगर आपका लक्ष्य बड़ा हो और उस पर हंसने वाले कोई न हो
 तो समझना लेना की अभी आपका लक्ष्य बहुत छोटा है..


 Agar Aapka Lakshya Bada Ho Aur Us Par Hasne Vale Koi Na Ho.,
 To Samajhna Lena Ki Abhi Aapka Laksya Bahut Chota Hai..

मुरारी बापू के अनमोल विचार 
 5-
 मकान दीवारों से बनता है और घर दिल से बनता है.


 Makan Devaron Se Banta Hai Aur Ghar Dil Se Banta Hai..

मुरारी बापू जीवनी,
 6-
 गणित ठीक से सीखा नहीं 
 मगर इतना मालूम हैं की खुशियां बांटने से बढाती हैं..


 Ganit Thik Se Shikha Nahi,
  Magar Etna Malum Hai Ki Khusiyan Bantne Se Badti Hai.
-
 7-
 अत्यंत सुख से ही विपत्ति का जन्म होता हैं..


 Atyant Shukh Se Hi Viptti Ka Janm Hota Hai..

-
 8-
 संसार छुडा दे वो गुरु नहीं। संसार का सार समझा दे वो गुरु.


 Sansar Chuda De Wo Guru Nahi Sansar Ka Sar Samjha De Wo Guru..

मोरार जी बापू के कथन,
 9-
 पत्नी का अर्थ होता है जो पति को पतन होने से बचाए,
 और नारी का अर्थ है न अरि अर्थात जो आपका दुश्मन नहीं है..


 Patni Ka Arth Hota Hai Jo Pati Ko Patan Se Bachae,
 Aur Nari Ka Arth Hai Na Ari Arthat Jo Aapka Dusman Nahi Hai....

-
 10-
 मोक्ष दो अक्षर का शब्द.
 मो का अर्थ मोह 
 और क्ष का अर्थ क्षय नाश हो जाना..
 हमारे जीवन में धीरे धीरे मोह का नाश हो जाये कम हो जाये,
 उसी को  मोक्ष कहते है ..


 Moksh Do Akshar Ka Shabd >>
 Mo Ka Arth Moh
 Aur Ksh  Ka Arth Kshya Nash Ho Jana....
 Hamare Jivan Me Dhere Dhere Mo Ka Nash Ho Jaye,
 Kam Ho Jaye. Use Ko Moksh Kahte Hai....
मुरारी बापू के अनमोल विचार 
 11-
 भक्ति एक तकनीक है,
 भजन के भव्य महल में प्रवेश करने के लिये एक विधि है.


 Bakti Ek Taknik Hain,
 Bhajan Ke Bhavy Mahal Me Pravesh Karne Ke Liye Ek Vidhi Hain..

मोरारजी बापू के कथन,
 12-
 भाग जाना बहुत ही आसान है 
 पर जाग जाना बहुत कठिन है. आप भागो मत बल्कि जागो..


 Bhag Jana Bahut Hi Aasan Hai,
 Par Jag Jana Bahut Kathin Hai Aap Bhago Mat Balki Jago...

-
 13-
 अपने विचारों का दान करना सबसे बड़ा दान है..


 Apne Vicharon Ka Dan Karna Sabse Bada Dan Hai...

मोरारी बापू जी के 30 Inspiring कोट्स इन हिंदी 
 14-
 प्रामाणिक प्रेम प्रसन्नता की जननी है..


 Pramanik Prem Prsnnta Ki Janni Hai.

-
 15
 गुरु की चरण रज आश्रित के मन रुपी दर्पण को साफ़ करती है..


 Guru Ki Chran Raj Aasrit Ke Man Rupi Darpan Ko Saf Karti Hai..

मोरारजी बापू के कथन,
 16
 निष्फ़ल होना गुनाह नहीं. निरुत्साहित होना गुनाह है..


 Nisfal Hona Gunah Nahi Nirutsahit Hona Gunah Hai..

-
 17
 फ़ूल हमेशा एकांत में खिलता है 
 और व्यक्ति के अंतःकरण का फ़ूल भी एकांत में खिलता है. 
 हर व्यक्ति को अपना एकांत संभालना चाहिए..


 Phool Hamesha Yekant Me Khilta Hai,
 Aur Vykit Ke Anthkaran Ka Full Bhi Ekant Me Khilta Hai,
 Har Vykit Ko Apna Ekant Samblna Chahiye....

-
 18
 मोक्ष के लिये मरने की जरुरत नहीं, 
 बहुत सावधानी से जीने की जरुरत है..


 Moksh Ke Liye Marne Ki Jarurat Nahi,
 Bahut Savdhani Se Jene Ki Jarurat Hai...

-
 19
 आनंद की अंतिम सीमा आंसू है.


 Anand Ki Antim Seema Anshu Hai..

-
 20-
 मनुष्य जीवन सब से बड़ा चमत्कार है..


 Manusya Jivan Sab Se Bada Chamtkar Hai..

मुरारी बापू के अनमोल विचार 
 21-
 हमारे अन्दर के लोह तत्व को मजबूत रखने के लिए
 तीन चीजे दी गयी हैं,
 संयम, तप और श्रम..


 Hamare Ander Ke Loh Tatva Ko Majbut Rakhne Ke Liye 
 Ten Chije De  Gaye Hai,
 Sanyam Tap Aur Shram...


 22-
 झूठ बोलकर जीत जाने से बेहतर सच बोलकर हार जाना..


 Jhuth Bol Kar Jet Jane Se Behtar,
 Such Bolkar Har Jana...

"मुरारी बापू के अनमोल विचार" 
 23-
 कर्म से छुटकारा पाना मुश्किल है..


 Karm Se Chutkara Pama Muskil Hai..

मोरारी बापू जी के 30 Inspiring कोट्स इन हिंदी 
 24-
 कभी किसी दुसरे की तरह बनने की कोशिश मत करो
 हर व्यक्ति क अपनी अपनी पहचान होती हैं..


 Kabhi Kise Dusre Ki Trah Banne Ki Koshish Mat Karo,
 Har Vykit Ki Apni Apni Pahchan Hoti Hai.....

मुरारी बापू जीवनी,
 25-
 मीरा के गायन में भगवान श्रीकृष्ण की आवाज़ थी.


 Meera Ke Gayan Mem
  Bhagwan Shrikrishna Ki Aawaz Thi..

-

 26-
 भगवान हमको दिखाई नहीं देता इसलिए वह मूल्यवान है.


 Bhagwan Humko Dikhayi Nahi Deta,
 Esliye Wah Mulyavan Hai..

मोरारजी बापू के कथन,
 27-
 जरुरी नहीं की हर रिश्ते का अंत लड़ाई ही हो, 
 कुछ रिश्ते किसी के ख़ुशी के लिए भी छोड़ने पड़ते हैं..


 Jaruri Nahi Ki Har Riste Ka Ant Ladae Hi Ho,
 Kuch Riste Kise Ke Khusi Ke Liye Bhi Chodne Padte Hain..

मोरारी बापू जी के 30 Inspiring कोट्स इन हिंदी 
 28-
 सच्चा प्रेम प्रसन्नता की जननी है.


 Saccha Prem Prsannta Ki Janni Hai...

-

 29-
 जिसे कुछ भी नहीं चाहिएm
  उसे मिलने में कुछ बाकी नहीं रहता यही नियम है..


 Jise Kuch Bhi Nahi Chahiye,
  Use Milne Me Kuch Baki Nahi Rahta Yahi Niyam Hai...

मुरारी बापू के अनमोल विचार 
 30-
 इन्सान मृत्यु से नहीं मरता भय से मरता हैं.


 Inshan Martyu Se Nahi Marta Bhay Se Marta Hai..


 Note: दोस्तों बहुत सावधानी बरतने के बावजूद यदि ऊपर दिए गए किसी भी वाक्य या Quote में आपको कोई त्रुटि मिले तो कृपया हमें क्षमा करें और comments के माध्यम से अवगत कराएं ताकि उन त्रुटियों को सुधार सके हम. आशा हैं की आप हमारा साथ देंगे  धन्यवाद    

   विश्व प्रसिद्द लेखकों और विद्वानों द्वारा लिखे गए और बोले गए अनमोल विचार एवं कथनों को और ज्यादा पढ़ने और जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाते..

No comments:

Post a Comment