मिलिए इस यंग IAS महिला से, जिसने 15 महीने में मिलावटखोरी का गोरखधंधा किया तबाह 750 को भेजा जेल - Wahh Hindi Blog

wahh hindi blog

Wednesday, 22 February 2017

मिलिए इस यंग IAS महिला से, जिसने 15 महीने में मिलावटखोरी का गोरखधंधा किया तबाह 750 को भेजा जेल

अफसर चाहें तो सिस्टम में फैले अपराध से जुडी हर लाइलाज बीमारी का इलाज कर सकता  हैं।

मिलावटखोरों की अब खैर नहीं, क्युकि अब मिलावट करने वाले आज़ादी से बाहर नहीं घूमेंगे अब उनका घर होगा  जेल। क्युकि की भारत की इस बेटी ने इस काम का उठाया हैं बीड़ा और इस बेटी का नाम  सुनते ही डर से थर थर  कापते हैं  मिलावटखोर।
ias-anupama

मिलावट के इस कालाबाजारी को इस देश की इस बेटी ने कानून के पंजों से मरोड़ दिया मात्र 15 महीने में। बताते चले की इस बेटी ने वो कर दिखाया जिसे आप कल्पना भी नहीं कर सकते। मिलावट के कारोबार में लिप्त 750 व्यापारियों को सीधा जेल के अन्दर डाल दिया। कालाबाजारी करने वाले व्यापारी तो इस बेटी के नाम से दहशत खाते हैं।

यह कहानी नहीं सच्चाई हैं:-
 क्युकि हम  बात कर रहे हैं देश की एक तेज-तर्रार महिला अधिकारी T.V. अनुपमा की जो वर्तमान में केरल में फ़ूड सेफ्टी कमिश्नर के पद पर पदस्त हैं।  जो साल 2010 में यूपीएससी की परीक्षा में चौथा रैंक लाने वाली यह महिला आईएएस जो आज अन्य पुलिस ऑफिसर के लिए मिसाल बन गयी और साबित कर दिया  कि अगर अफसर चाहें तो सिस्टम में फैले अपराध से जुडी हर  लाइलाज बीमारी का भी इलाज कर सकते हैं।


T.V. अनुपमा की इस ईमानदारी और कड़े रुख के चलते मिलावट करने वाले व्यापारियों को ये डर हमेशा सताता रहता हैं न जाने कब आ धमके ये ऑफिसर अगर थोड़ी भी मिली मिलावट तो बचने का कोई रास्ता नहीं मिलेगा सीधे होंगे जेल में यह दहशत वहा  के सभी मिलावट करने वाले  व्यापारियों में देखने को मिलती हैं।

केरल में फ़ूडसेफ्टी कमिश्नर के पद पर पदस्त T.V. अनुपमा ने  बड़े ही कम समय में ताबड़तोड़ और सुनोयोजित तरीके से कई मंडियों में कार्यवाही की और इस कार्यवाही के दौरान नमूने में 300 फीसदी कीटनाशक तत्त्व पाया जो सामान्य कीटनाशकों के अनुपात में जो की बहुत ज्यादा थे। इस को देख चकित सी होगई और उन्होंने ने प्रण लिया की इस कालाबाजारी को जड़ से समाप्त करने का और तुरंत ही मिलावटखोरों के खिलाफ कदम उठाया और इस मिशन को अंजाम देने लगी और मात्र 15 महीने में 750 व्यापारियों के खिलाफ मिलावाटखोरी का केस दर्ज कर उन्हें सलाखों के बीच डाला और साथ ही आईएएस अनुपमा ने खुद घर पर सब्जियां उगाने की मुहिम शुरू की। जनता को प्रेरित करना शुरू कर दिया। और इस सफलता को देख इस मुहीम में केरल राज्य सरकार ने भी प्रमोट करना शुरू कर दिया। बताते चले की एक समय वो था जब 70 फीसद सब्जियां तमिलनाडु और कर्नाटक से खरीदता था, अब केरल के लोग खुद 70 प्रतिशत सब्जियां उगाने लगा हैं। 
...............................................................................................सलाम इस देश की बेटी को. जय हिन्द 

No comments:

Post a Comment