Monday, 13 February 2017

जाने कहा पैदा होते ही माँ ले लेती हैं अपने बच्चे की जान ?

ऐसा क्या हैं बच्चे के पैदा होते ही माँ उसे मार डालती हैं?

बच्चे भगवान का रूप होता और जिस घर में बच्चा पैदा होता है मानो वह खुशियों की बौछार होती है और सभी बच्चे के पैदा होने की खुशिया मानते हैं और लोगो में मिठाईयां बाटते. नन्हे से इस  मेहमान के घर  में आने की ख़ुशी से झूम उठते है और उनकी खुशियों का ठिकाना ही नहीं रहता.  कोई नज़र उतरता हैं नन्हे से मेहमान का तो कोई उसे गोद में ले लेता हैं. 
पर इसके विपरीत एक एसी जगह भी हैं जहा बच्चा होते ही माँ उसे जान से मार डालती हैं. और वह बच्चे के पैदा होने की ख़ुशी नहीं मनाई जाती मातम मनाया जाता हैं आप भी हैरान हो रहे होंगे की ऐसी कौन सी जगह हैं और ये कैसी माँ हैं जो अपने कोख में 9 महीने तक बच्चे को रखती हैं और उसके पैदा होते ही उसे मार डालती हैं ?
born-baby-killed-by-his-mother

आप जरुर जानना चाहेंगे की  दुनिया में वो कौन सा स्थान हैं जहा माँ अपने बच्चे की जन्म लेते ही जान ले लेती हैं?
.
वो स्थान हैं अंडमान निकोबार द्वीप समूह हैं.  जी हां दोस्तों अंडमान एक ऐसा स्थान हैं जहा बच्चे के पैदा होते ही माँ उसे मार डालती हैं, अंडमान में एक जनजाति है जारवा. जी हा जारवा एक ऐसी  जनजाति है जिनका रंग बेहद ही काला हैं. और रंग ही बच्चे की मौत का कारण बनता हैं क्युकि वह की जनजाति को गोर रंग  से नफ़रत हैं और गोर रंग को बेहद हीन भावना से देखा जाता हैं. और बच्चे का हल्का गोरा रंग ही मौत का कारण  बनता हैं. इस जनजाति अर्थार्त द्वीप की ये परंपरा हैं और उसके के अनुसार यदि बच्चे की मां विधवा हो जाए या फिर उसका पिता किसी दूसरे समुदाय से  हो तो बच्चे को पैदा होते ही मार दिया जाता है. और इसके लिए इस  द्वीप  में किसी को कोई सजा नहीं सुनाई जाती. और तो और इस  द्वीप में किसी और समुदाय के लोग नहीं आ सकते अगर आ गए तो परिणाम बेहद खतरनाक होते हैं.. तो आप ने देखा ना इस  द्वीप की माँ का दिल और यहाँ के लोगो का दिल गोर और काले को लेकर कितना सख्त हैं.....



Previous Post
Next Post

About Author

0 comments: